News Nation Logo
Banner

नाम वापसी के बाद द्रौपदी मुर्मू और यशवंत सिन्हा ही राष्ट्रपति चुनाव मैदान में

एनडीए के घटक दलों के अलावा बीजू जनता दल, वाईएसआर कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और अकाली दल ने भी मुर्मू का समर्थन करने की घोषणा कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 03 Jul 2022, 09:22:36 AM
murmu sinha

18 जुलाई को होना है नए राष्ट्रपति का चुनाव. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • शनिवार था नाम वापसी का आखिरी दिन
  • 18 जुलाई को होना है राष्ट्रपति का चुनाव
  • विपक्षी खेमा भी दे रहा द्रौपदी मुर्मू को समर्थन

नई दिल्ली:  

राष्ट्रपति चुनाव में शनिवार को नाम वापसी की आखिरी तारीख बीत जाने के बाद अब केवल दो ही उम्मीदवार एनडीए की द्रौपदी मुर्मू और संयुक्त विपक्ष के यशवंत सिन्हा चुनावी मैदान में रह गए हैं. 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में मुख्य मुकाबला एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू और विपक्षी दलों के संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के बीच होना तय हो गया है. हालांकि जिस तरह विपक्ष की कुछ पार्टियां द्रौपदी मुर्मू को समर्थन दे रही है, उससे यशवंता सिन्हा के लिए जीत का अंतर पाटना चुनौतीप4ण होता जा रहा है. 

107 नामांकन हुए खारिज
राज्य सभा महासचिव एवं राष्ट्रपति चुनाव के निर्वाचन अधिकारी पीसी मोदी ने कहा कि 29 जून तक 94 व्यक्तियों के 115 नामांकन पत्र प्राप्त हुए, जिनमें से 107 नामांकन पत्रों को खारिज कर दिया गया. उनके मुताबिक चार-चार सेटों में दाखिल द्रौपदी मुर्मू और यशवंत सिन्हा के नामांकन पत्र नियमों के मुताबिक पूरी तरह से वैध पाए गए और उन्हें स्वीकार कर लिया गया. गौरतलब है कि एनडीए के घटक दलों के अलावा बीजू जनता दल, वाईएसआर कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और अकाली दल ने भी मुर्मू का समर्थन करने की घोषणा कर दी है. भाजपा कई अन्य राजनीतिक दलों के भी संपर्क में है और आंकड़ों के लिहाज से यह माना जा रहा है कि मुर्मू बड़े अंतर से यह चुनाव जीत सकती है.

यह भी पढ़ेंः उपराष्ट्रपति पद के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह हो सकते हैं NDA प्रत्याशी

18 जुलाई को मतदान
राज्यसभा सचिवालय ने एक बयान में कहा कि संसद भवन के कमरा नंबर 63 में तथा राज्य विधानसभाओं में अधिसूचित कमरों में 18 जुलाई को पूर्वाह्न 10 बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा. राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए निर्वाचक मंडल में संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित सदस्य तथा सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों दिल्ली एवं पुडुचेरी की विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य होते हैं.

First Published : 03 Jul 2022, 09:22:36 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.