News Nation Logo

BREAKING

सिर्फ केमिकल छिड़कने से नहीं मरता कोरोना वायरस, WHO का चौंकाने वाला खुलासा

सरकार ने सड़कों से लेकर गलियों तक को केमिकल से सेनिटाइज करवाया. लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि सेनिटाइजेशन के बाद क्या वो जगह कोरोना मुक्त हो जाती है. जब किसी गली में कोई कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो सरकार तुरंत वो एरिया सेनिटाइज करवाती है

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 18 May 2020, 10:01:06 PM
sanitization on road

सड़कों का सेनिटाइजेशन (Photo Credit: फाइल )

नई दिल्ली:

देश भर में लगातार बढ़ते हुए कोरोना वायरस के मामलों को लेकर सरकार ने लॉकडाउन का ऐलान तो किया लेकिन इस दौरान देश की आर्थिक व्यवस्था गोते लगाने लगी. लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सरकार ने खूब जागरुक किया. सरकार ने लगातार कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने और मास्क पहन कर बाहर निकलने की अपील की. इतना ही नहीं सरकार ने चारो तरफ साफ सफाई पर भी खूब ध्यान दिया.

सरकार ने सड़कों से लेकर गलियों तक को केमिकल से सेनिटाइज करवाया. लेकिन क्या आपने कभी सोचा कि सेनिटाइजेशन के बाद क्या वो जगह कोरोना मुक्त हो जाती है. जब किसी गली में कोई कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो सरकार तुरंत वो एरिया सेनिटाइज करवाती है, लेकिन कोरोना से निजात पाने का ये तरीका कितना सही है क्या आपको पता है. लोगों का मानना है कि अगर किसी इलाके में सरकार कीटनाशक का छिड़काव कर सैनिटाइजेशन करवा देती है तो वहां पर कोरोना वायरस खत्म हो जाता है.

आमतौर पर माना जाता है कि किसी इलाके में अगर कीटाणुनाशक का छिड़काव कर दिया जाए तो इससे वायरस नष्ट हो जाता है. लेकिन हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस पर एक चौंकाने वाला खुलासा किया है. डब्ल्यूएचओ ने ये चेतावनी दी है कि खुले में कीटाणुनाशक का छिड़काव करने से कोरोनावायरस का खात्मा नहीं होता बल्कि ऐसा करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है.

यह भी पढ़ें-देश को एक बार फिर सोने की चिड़िया बनाने में उत्तर प्रदेश का बड़ा हाथ होगा : रवि किशन

बाजार के कीटनाशकों से नहीं मरता है कोरोना वायरसः WHO
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने बताया कि बाजारों में मिलने वाले कीटनाशक स्प्रे करने से कोई फायदा नहीं होने वाला है. ऐसा जरूरी नहीं है कि आपका केमिकल स्प्रे पूरी तरह से सभी सतहों को कवर कर ले और इसका असर उतने समय तक रह सके जितनी देर में वायरस खत्म हो जाता हो. खुले में कीटनाशक का प्रयोग न करने के साथ-साथ घरों के बंद कमरों में भी ऐसे स्प्रे प्रयोग में लाने पर आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है. आपको इससे बचने के लिए स्प्रे करने के बाद उन जगहों पर कपड़े से साफ करना चाहिए या फिर वाइपर की मदद लेनी चाहिए.

यह भी पढ़ें-दिल्ली में Lockdown4.0 का ऐलान, सीएम अरविंद केजरीवाल ने जारी की गाइडलाइंस 

आपके शरीर पर पड़ने पर हानि पहुंचा सकता है ये स्प्रे : WHO
WHO ने यह भी बताया कि मानव शरीर पर इस स्प्रे को बार-बार यूज करने से उसपर बुरा असर भी पड़ता है, क्योंकि ये स्प्रे बनाने के लिए कई जहरीले केमिकल के अलावा क्लोरीन का इस्तेमाल किया जाता है. अगर ये केमिकल आपकी आंखों में पड़ जाए तो आपको कई बीमारियों से ग्रसित होना पड़ सकता है. इसके अलावा ये केमिकल त्वचा के लिए भी काफी हानिकारक होता है. इसके छिड़काव से आपको सांस लेने में भी तकलीफ हो सकती है और पेट भी खराब हो सकता है. जब हम इस स्प्रे को बाहर डालते हैं तो खुले और गंदगी की वजह से इसका असर खत्म हो जाता है जिसकी वजह से इसका वायरस पर कोई असर नहीं पड़ता है.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 18 May 2020, 09:38:29 PM