News Nation Logo

BREAKING

Banner

कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड का इमरजेंसी में हो सकेगा इस्तेमाल? मंजूरी के लिए जल्द आवेदन करेगा सीरम इंस्टीट्यूट

Coronavirus Vaccine: शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद में कोरोना वैक्सीन सेंटर का दौरा किया था. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन के लिए वैश्विक दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 29 Nov 2020, 11:12:32 AM
Corona Vaccine

कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी के लिए जल्द आवेदन करेगा SII (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

एक तरफ कोरोना वायरस के मामले तेजी से आगे बढ़ रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर कोरोना वैक्सीन को लेकर भी जल्द अच्छी खबर आ सकती है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) के सीईओ अदार पूनावाल (Adar Poonawalla) ने शनिवार को कहा कि जल्द ही कोविशील्ड (Covishield) का इस्तेमाल आपातकालीन उपयोग के लिए किया जा सकता है. अदार पूनावाला ने कहा कि उनका संस्थान अगले दो हफ्तों में कोविशील्ड के आपातकालीन उपयोग के लिए प्राधिकरण के पास आवेदन करने की प्रक्रिया में है. 

यह भी पढ़ेंः किसान आंदोलन से फलों, सब्जियों की आपूर्ति पर गहरा असर

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया देश की टीका बनाने वाली प्रमुख कंपनी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने खुद शनिवार को कंपनी का दौरा किया था. सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ ने कहा कि हमने पुणे में और अपने नए परिसर मंडारी में सबसे बड़ी महामारी के स्तर की सुविधा का निर्माण किया है. सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ ने कहा कि टीके और टीके के उत्पादन पर अब प्रधानमंत्री बेहद जानकार हैं. पूनावाला ने वैक्सीन के वितरण को लेकर कहा कि वैक्सीन शुरू में भारत में वितरित की जाएगी, फिर हम COVAX देशों को देखेंगे जो मुख्य रूप से अफ्रीका में हैं. एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड द्वारा यूके और यूरोपीय बाजारों का ध्यान रखा जा रहा है. हमारी प्राथमिकता भारत और COVAX देश हैं.

यह भी पढ़ेंः J&K: अरनिया में दिखा पाकिस्तानी ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद लौटा

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अदार पूनावाला ने कहा, ‘‘दुनियाभर में अब सभी बड़े स्तर पर और सस्ती कीमत पर वैक्सीन पाने के लिए भारत पर निर्भर हैं, क्योंकि सभी पहले ही जानते हैं कि 50-60 प्रतिशत से अधिक टीके भारत में बनाए जाते हैं.’’गौरतलब है कि भारत में कोविड-19 के टीके के विकास की समीक्षा के लिये तीन शहरों की यात्रा के अंतिम चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को पुणे पहुंचे थे.  

First Published : 29 Nov 2020, 11:12:32 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.