News Nation Logo

18 राज्यों में मिले कोरोना के डबल म्यूटेंट वैरिएंट के सबूत, बेकाबू हो सकते हैं केस  

Coronavirus: कोरोना का नया वैरिएंट पुराने के मुकाबले कई गुना ज्यादा जानलेवा है. इसमें एक ही व्यक्ति कोरोना के अलग-अलग वैरिएंट से संक्रमित पाया जाता है. इसे कोरोना का डबल इंफेक्शन भी कह सकते हैं. 

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 24 Mar 2021, 03:05:01 PM
Corona Virus

18 राज्यों में मिले कोरोना के डबल म्यूटेंट वैरिएंट के सबूत (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • देश के 18 राज्यों में मिले कोरोना के नए वैरिएंट के केस
  • अब तक 771 लोगों में मिले नए वैरिएंट के मामले
  • पिछले 24 घंटे में कोरोना के सामने आए 47, 262 मामले

नई दिल्ली:

देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है. पिछले कुछ दिनों से देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह कोरोना के नए वैरिएंट की बताई जा रही है. चौंकाने वाली बात यह है कि देश के 18 राज्यों में नए वैरिएंट के मामले मिले हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को इसकी जानकारी दी. एक प्रेस नोट में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा शेयर किए गए कुल 10,787 पॉजिटिव सैंपल में अब तक कुल 771 COVID-19 वेरिएंट्स (VOCs) का पता चला है. मंत्रावय के मुताबिक, 'इनमें यूके (बी .1.1.7) वायरस के लिए 736 सैंपल शामिल हैं. दक्षिण अफ्रीकी (B.1.351) के वायरस के लिए 34 सैंपल भी पॉजिटिव पाए गए हैं. एक सैंपल ब्राजील (P.1) वैरिएंट का है, जो पॉजिटिव पाया गया है. देश के 18 राज्यों में इन VOCs के नमूनों की पहचान की गई है.'

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र के नांदेड़ और बीड में 4 अप्रैल तक लगा लॉकडाउन

पंजाब में नए वैरिएंट के सबसे अधिक मामले
नए वैरिएंट के सबसे अधिक मामले पंजाब में सामने आ रहे हैं. हाल ही में लिए गए 401 नये सैंपल में से 81 फीसदी सैंपल में ये वैरिएंट पाया गया है. दिल्ली के नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने पाया है कि 81 फीसदी सैंपल में नए वैरिएंट की पहचान B 1.1.7 के रूप में की गई है. क्या ज्यादा तनाव की वजह से ये वायरस तेजी से फैल रहा है इसका पता लगाने के लिए सरकार टेस्टिंग पर नजर बनाए हुए है.

डबल म्यूटेंट वैरिएंट का मतलब क्या है?
डबल म्यूटेंट वैरिएंट से मतलब एक शख्स का कोरोना वायरस के दो अलग-अलग वैरिएंट (टाइप) से संक्रमित होना है. इसे कोरोना का डबल इंफेक्शन कह सकते हैं. दुनिया में ऐसा पहला मामला ब्राजील में आया था. ब्राजील की Feevale यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञों की रिसर्च में यह बात सामने आई थी. इन वैरिएंट के नाम P.1 और P.2 रखे गए हैं, जबकि दूसरा मरीज कोरोना के P.2 और B.1.91 वैरिएंट से संक्रमित मिला. हालांकि ब्राजील के वैज्ञानिकों की इस खोज की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हुई है.

यह भी पढ़ेंः कोरोना का कहर: 47 हजार से अधिक नए मामले, एक दिन में रिकॉर्ड 275 मौतें

देश में कोरोना के कितने केस?
पिछले 24 घंटे में देशभर में कोरोना के 47 हजार 262 मामले सामने आए हैं. वहीं इस दौरान रिकॉर्ड 275 मौत भी हुई. महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं. महाराष्ट्र के साथ ही पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और मध्य प्रदेश की बात करें तो इन राज्यों से कोरोना के 80 फीसद मामले सामने आ रहे हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 24 Mar 2021, 02:17:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.