News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

कांग्रेस का मोदी सरकार पर निशाना- वैक्सीनेशन का जश्न मनाने से जख्म नहीं भरते, क्योंकि...

कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि देश के डॉक्टरों का कृतज्ञ जिनकी वजह से 100 करोड़ डोज लगी, लेकिन आज एक बार फिर सरकार जिम्मेदारी से हटकर जश्न मना रही है, मोदी सरकार ये जान ले कि जश्न मनाने से जख्म नहीं भर जाते हैं.

MOHIT RAJ DUBEY | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 21 Oct 2021, 07:06:13 PM
vaccintion

कोरोना वैक्सीनेशन (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • कोरोना वैक्सीनेशन में भारत ने रचा इतिहास  
  • 74 करोड़ भारतीयों को कब 106 कोरोना वैक्सीन लगेगी
  • पीएम मोदी और भाजपा सरकार महत्वपूर्ण पहलुओं पर जवाब दे

नई दिल्ली:

कोरोना वैक्सीनेशन में भारत ने इतिहास रचा है. देश में कोरोना वैक्सीनेशन के आंकड़े 100 करोड़ के पार हो गए हैं. इस पर कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा कि देश के डॉक्टरों का कृतज्ञ जिनकी वजह से 100 करोड़ डोज लगी, लेकिन आज एक बार फिर सरकार जिम्मेदारी से हटकर जश्न मना रही है, मोदी सरकार ये जान ले कि जश्न मनाने से जख्म नहीं भर जाते हैं. जवाबदेही सुनिश्चित करने का वक़्त आ गया है. पीएम मोदी और भाजपा सरकार महत्वपूर्ण पहलुओं पर जवाब दे.

यह भी पढ़ें : क्या आप क्रिकेट में आउट होने के 12 नियमों के बारे में जानते हैं?

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि 74 करोड़ भारतीयों को कब 106 करोड़ कोरोना वैक्सीन लगेगी? देश की कुल जनसंख्या 148 करोड़ है, उसमें 93 करोड़ 65 साल उम्र के हैं और 10 करोड़ 65 से ऊपर. सरकार के आंकड़े के मुताबिक 29 करोड़ को दोनों डोज लग चुके हैं. 42 करोड़ वयस्क को एक टीका लगा है. इसका मतलब ये हुआ कि 103 करोड़ में से 32 करोड़ वयस्क ऐसे हैं जिन्हें एक भी डोज नहीं लगा है. 

उन्होंने कहा कि 31 दिसंबर 2021 तक मोदी ने कहा है कि सभी वयस्कों को टीका लगाना है. औसत के हिसाब 39 लाख ही प्रतिदिन लग रही है, जबकि 151 लाख वैक्सीन लगनी चहिए. 70 दिन में 106 टिके कैसे लगाएंगे? दुनिया में दोनों टीके लगाने के मामले में भारत 20 में से 19वें नंबर पर है, लगे इसका हाथ जवाब दें. कोरोना काल में देशवासियों की जान से खेलने की क्रूरता का भी जवाब दे. जब इंजेक्शन मिलता नहीं था, अस्पताल में वेंटिलेटर नहीं था. बीजेपी सरकार में असहाय बेबसी और क्रूरता पर लाकर खड़ा कर दिया था.

यह भी पढ़ें : क्या है बुराड़ी कांड का 'आखिरी सच', परिवार के 11 लोगों ने क्यों किया था सुसाइड? 

कांग्रेस ने कहा कि सरकारी आंकड़े में 4 लाख से ज्यादा लोग मरे जबकि स्वतंत्र एजेंसियों के हिसाब से 40 से 65 लाख लोग मरे हैं. एक निष्पक्ष कोरोना जांच आयोग का गठन हो, सरकार की लापरवाही की जांच करें. हर मृत्यु का दोबारा सर्वे कर मुआवजा मिले. 

महंगा पेट्रोल डीजल बनाम फ्री कोरोना वैक्सीन

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि रामेश्वर तेली ने कहा कि ईंधन की कीमत ज्यादा नहीं इसमें टैक्स नहीं है, फ्री वैक्सीन कहां से आएगी? 103 करोड़ वयस्क हैं 200 से गुना करें तो 20600 करोड़ होता. मोदी सरकार इस डीजल पेट्रोल से 20-21 से 4 लाख 30 हज़ार करोड़ कमाया. भारत में बनने वाली वैक्सीन को अभी तक अनुमति क्यों नहीं मिली. Johnson and Johnson की अनुमति क्यों पेंडिंग है? 35 लाख वैक्सीन पड़ी है, बर्बाद हो जाएगी. COVAXINE को अनुमति क्यों नहीं मिल रही?

उन्होंने आगे कहा कि अगस्त 2021 में मोदी ने घोषणा की थी सितंबर 2021 तक 18 साल से कम लोगों के लिए वैक्सीन बाजार में आ जाएगी. बूस्टर डोज के लिए सरकार की नीति कहां है? अगर तीसरी लहर आ गई तो क्या होगा?

First Published : 21 Oct 2021, 05:48:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.