News Nation Logo
Banner

फेसबुक मामले से ध्यान हटाने के लिए बीजेपी के इशारे पर बयान दे रहे संजय झा, कांग्रेस का बड़ा आरोप

कांग्रेस से निकाले गए संजय झा के बयान पर पार्टी के अलाकमान का बयान आया है. उनका कहना है कि सोनिया गांधी के पास ऐसी कोई चिट्ठी नहीं आई है

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Sharma | Updated on: 17 Aug 2020, 03:57:13 PM
sonia gandhi and rahul gandhi

सोनिया गांधी और राहुल गांधी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस से निकाले गए संजय झा के बयान पर पार्टी के अलाकमान का बयान आया है. उनका कहना है कि सोनिया गांधी के पास ऐसी कोई चिट्ठी नहीं आई है जिसकी बात संजय झा कर रहे हैं. उन्होंने कहा, वह बीजेपी के कहने पर इस तरह के ट्वीट कर रहे हैं. कुछ समय पहले संजय झा ने पार्टी को सुझाव दिया था कि राजस्थान में अशोक गहलोत की जगह सचिन पायलट को सीएम बना देना चाहिए और सीएम गहलोत उन राज्यों की जिम्मेदारी देनी चाहिए, जहां कांग्रेस कमजोर है.

संजय झा के इस बयान के बाद उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया था. इसके बाद अब उनके चिट्ठी लिखे जाने वाले बयान के बाद उनका नाम सुर्खियों में आ गया है.

यह भी पढ़ें: भारत नेपाल के संबंधों में तल्खी के बाद पहली बार हुई उच्चस्तरीय वार्ता

क्या था उनका बयान

संजय झा ने कहा था कि करीब 100 कांग्रेस नेता राज्य की स्थिति से व्यथित हैं. इन नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा है जिसमें राजनीतिक नेतृत्व बदलाव और कांग्रेस वर्किंग कमेटी में पारदर्शी चुनाव की मांग की गई है.

यह भी पढ़ें: JDU से निकाले गए मंत्री श्याम रजक ने थामा RJD का दामन

इससे पहले संजय झा ने कहा था, 'करीब 100 कांग्रेस नेता (सांसद समेत) राज्य की स्थिति से व्यथित हैं. इन नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक चिट्ठी लिखा है, जिसमें राजनीतिक नेतृत्व बदलाव और कांग्रेस वर्किंग कमेटी में पारदर्शी चुनाव की मांग की गई है.' बता दें, इससे पहले संजय झा जून में प्रवक्ता पद से हटाए जा चुके हैं. तब उन्होंने कांग्रेस की कार्यशैली पर भी सवाल खड़ा किया था.

First Published : 17 Aug 2020, 03:52:16 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो