News Nation Logo
Banner

कमलनाथ के 'आइटम' वाले बयान से राहुल गांधी खफा, बोले- ऐसी भाषा पसंद नहीं

मध्यप्रदेश की मंत्री और बीजेपी नेता इमरती देवी को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा कथित तौर पर 'आइटम' कहे जाने पर राजनीतिक बवाल मचा हुआ है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 20 Oct 2020, 03:25:26 PM
Rahul Gandhi

कमलनाथ के 'आइटम' वाले बयान से राहुल गांधी खफा, बोले- यह दुर्भाग्यपूर्ण (Photo Credit: News Nation)

वायनाड:

मध्यप्रदेश की मंत्री और बीजेपी नेता इमरती देवी को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा कथित तौर पर 'आइटम' कहे जाने पर राजनीतिक बवाल मचा हुआ है. महिला मंत्री पर टिप्पणी को लेकर कमलनाथ चौतरफा घिरे हुए हैं. पूर्व मुख्यमंत्री के बयान की जमकर निंदा की जा रही है. इस बीच कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी कमलनाथ की इस टिप्पणी से खफा हैं और उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.

यह भी पढ़ें: PM मोदी आज 10वीं बार करेंगे देश को संबोधित, जानें अब तक के संबोधन 

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम की कमलनाथ की 'आइटम' टिप्पणी पर राहुल गांधी ने कहा, 'कमलनाथ जी मेरी पार्टी के हैं, लेकिन व्यक्तिगत रूप से मुझे उस प्रकार की भाषा पसंद नहीं है जिसका उन्होंने इस्तेमाल किया. मैं इसकी सराहना नहीं करता, चाहे वह कोई भी हो. यह दुर्भाग्यपूर्ण है.'

उल्लेखनीय है कि इमरती देवी के खिलाफ डबरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के लिए चुनाव प्रचार करते हुए कमलनाथ ने रविवार को कहा था, 'डबरा से सुरेश राजे जी हमारे उम्मीदवार हैं. सरल स्वभाव के, सीधे-सादे हैं. ये तो उसके जैसे नहीं हैं. क्या है उसका नाम?' इस बीच, वहां मौजूद जनता जोर-जोर से इमरती देवी-इमरती देवी कहने लगी. इसके बाद कमलनाथ ने हंसते हुए कहा, 'मैं क्या उसका (डबरा की भाजपा प्रत्याशी का) नाम लूं. आप तो उसको मेरे से ज्यादा पहचानते हैं. आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था. ये क्या आइटम है?'

यह भी पढ़ें: कमलनाथ खुद के श्रेष्ठ मानते हैं इसलिए ये सरकार तबाह हुई: CM शिवराज सिंह चौहान

कमलनाथ के इस बयान के बाद बीजेपी भड़क उठी. शिवराज सिंह ने सोनिया गांधी को पत्र लिखा और कमलनाथ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. इसके अलावा सोमवार को शिवराज, ज्योतिरादित्य सिंधिया, नरेन्द्र सिंह तोमर एवं अन्य पार्टी नेताओं ने राज्य में विभिन्न जगहों पर धरने दिया और दो घंटे का मौन व्रत रखा. उधर, इस टिप्पणी को लेकर चुनाव आयोग ने राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है.

First Published : 20 Oct 2020, 02:45:05 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.