logo-image
लोकसभा चुनाव

Sansad: BJP-कांग्रेस ने अपने सभी सांसदों के लिए जारी किया व्हिप, स्पीकर चुनाव को लेकर लिया गया फैसला

संसद में कल लोकसभा अध्यक्ष पद के चुनाव होंगे. भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने उम्मीदवार उतारे हैं. चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस ने अपने सभी सांसदों के लिए व्हिप जारी किया है.

Updated on: 25 Jun 2024, 07:29 PM

नई दिल्ली:

संसद सत्र शुरू हो गया है. 26 जून यानी कल लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होंगे. इसके लिए कांग्रेस ने लोकसभा में अपने सांसदों को सदन में उपस्थित रहने के लिए तीन लाइन का व्हिप जारी किया है. कांग्रेस के संसदीय दल ने सांसदों को लिखी चिट्ठी में कहा कि लोकसभा में कल अहम मुद्दा लाया जाएगा. पार्टी के सभी सदस्यों से निवेदन करते हैं कि आप कल सदन में उपस्थित रहें. इस संदेश को महत्वपूर्ण माना जाना है. बता दें, पत्र में कांग्रेस ने बकायदा समय भी बताया है कि सुबह 11 बजे से सदन स्थगित होने तक सभी सासंदों की संसद में मौजूदगी अनिवार्य है. 

लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों ने उम्मीदवारों का एलान कर दिया है. भाजपा ने एक बार फिर ओम बिरला पर भरोसा जताया है तो वहीं कांग्रेस ने कोडिकुन्नील सुरेश को अपना उम्मीदवार चुना है. 

ये भी पढ़ें: अरविंद केजरीवाल अभी जेल में ही रहेंगे, हाईकोर्ट से जमानत याचिका खारिज

चुनाव की नौबत क्यों आई
कांग्रेस की मांग थी कि बीजेपी भरोसा दिलाए कि डिप्टी स्पीकर पद विपक्ष को दिया जाएगा, लेकिन बीजेपी ने कोई उचित जवाब नहीं दिया. इसके बाद दोनों के बीच बात बिगड़ गई और फिर इंडिया ब्लॉक की ओर से के. सुरेश ने स्पीकर पद के लिए नोमिनेशन फाइल कर दिया.

कैसे होता है लोकसभा स्पीकर का चुनाव?
संविधान के अनुच्छेद 93 के मुताबिक- सांसद, सदन के दो सांसदों को स्पीकर और डिप्टी स्पीकर चुनते हैं. लोकसभा स्पीकर के चुनाव से एक दिन पहले सदस्यों को उम्मीदवारों को समर्थन का नोटिस जमा करना होता है. यह चुनाव साधारण बहुमत के जरिए होता है. जिस कैंडिडेट को वोटिंग के दिए लोकसभा में मौजूद आधे से ज्यादा सांसद वोट देते हैं, वह लोकसभा अध्यक्ष बनता हैं.

लोकसभा में अभी क्या है नंबरगेम?
लोकसभा में नंबरगेम के हिसाब से देखा जाए तो सत्ता पक्ष एनडीए गठबंधन के पास बहुमत है. स्पीकर पद को लेकर मंगलवार को चुनाव होना है. हालांकि क्या होना है, वह सबके सामने है. 543 सदस्यीय लोकसभा में एनडीए के 293 सांसद हैं, और उन्हें स्पष्ट बहुमत प्राप्त है जबकि विपक्षी इंडिया ब्लॉक के पास 233 सांसद हैं, जबकि 16 अन्य दलों के सांसद हैं. साफ है कि लोकसभा स्पीकर को लेकर होने वाले चुनाव में एनडीए का पलड़ा भारी है. लेकिन, इंडिया ब्लॉक ने जो अपना तेवर दिखाया है. उससे साफ कर दिया कि संसद का जो भी सत्र आगे चलेगा. उनका रवैया इसी तरह का रहेगा.