News Nation Logo

मोदी मंत्रिमंडल में बदले चेहरे, अब संगठन को लगेगी धार! आउट नेताओं को मिलेगी अहम जिम्मेदारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई टीम में नए चेहरों ने अपनी जिम्मेदारी संभाल ली है. अब तरह तरह की अटकलें कैबिनेट से आउट किए गए दिग्गज नेताओं को लेकर हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 10 Jul 2021, 01:04:37 PM
Former Ministers

सरकार में बदले चेहरे, अब संगठन को लगेगी धार! आउट नेताओं को मिलेगी जगह (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई टीम में नए चेहरों ने अपनी जिम्मेदारी संभाल ली है. अब तरह तरह की अटकलें कैबिनेट से आउट किए गए दिग्गज नेताओं को लेकर हैं. मोदी की टीम के हिस्सा रहे रविशंकर प्रसाद, हर्षवर्धन और प्रकाश जावड़ेकर समेत 12 मंत्रियों की विदाई के बाद अब इन नेताओं के राजनीतिक भविष्य को लेकर कयास लगाए जाने लगे हैं. माना जा रहा है कि सरकार में चेहरों को बदले जाने के बाद अब भारतीय जनता पार्टी अपने संगठन को मजबूती के साथ धार देने की तैयारी में है. ऐसे में कैबिनेट से आउट नेताओं को बीजेपी संगठन में अहम जिम्मेदारियां दी जा सकती हैं.

यह भी पढ़ें : गांव की पंचायत से राज्य की विधानसभा तक...यूपी में खत्म होने की कगार पर कांग्रेस! 

संभावना है कि कुछ नेताओं को बीजेपी संगठन में अहम जिम्मेदारी सौंपी जाए. भारतीय जनता पार्टी के सूत्रों की मानें तो केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटाए गए वरिष्ठ नेताओं को अब बीजेपी के संगठन में स्थान दिया जाएगा. रविशंकर प्रसाद, प्रकाश जावड़ेकर, डॉक्टर हर्षवर्धन, प्रताप चंद्र सारंगी सहित दूसरे पूर्व मंत्रियों को संगठन में दायित्व दिया जाएगा. सूत्रों ने यह भी बताया है कि इन नेताओं को संसदीय बोर्ड, पार्टी महासचिव और उपाध्यक्ष का पद मिल सकता है.

गौरतलब है कि बीजेपी 'एक व्यक्ति-एक पद' का सिद्धांत पर काम करती है. ऐसे में जिन नेताओं को संगठन से कैबिनेट में जगह दी गई है, उनकी जगह हटाए गए नेताओं को जिम्मेदारी दी जा सकती है. पार्टी संविधान के मुताबिक, संसदीय बोर्ड में अध्यक्ष के अलावा 10 सदस्य होते हैं. पार्टी महासचिवों में से एक संसदीय बोर्ड का सचिव होता है. वर्तमान संसदीय बोर्ड में 7 ही सदस्य हैं, जिनमें बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और संगठन महामंत्री बीएल संतोष शामिल हैं. लिहाजा संसदीय बोर्ड में फिलहाल तीन पद खाली हैं. फिलहाल बीजेपी संगठन में भूपेंद्र यादव सहित 8 महासचिव, अन्नपूर्णा देवी सहित 12 उपाध्यक्ष और टुडु सहित 13 सचिव हैं.

यह भी पढ़ें : CM ममता तैयार कर रहीं राष्ट्रीय राजनीति का ब्लूप्रिंट, प्रशांत संग तीन घंटे की मीटिंग 

बता दें कि केंद्रीय कैबिनेट में हुए विस्तार में बीजेपी महासचिव भूपेंद्र यादव और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी सहित पार्टी संगठन में विभिन्न जिम्मेदारियां संभाल रहे पांच नेताओं को मंत्री बनाया गया है. पार्टी के राष्ट्रीय सचिव विश्वेश्वर टुडु, राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव चंद्रशेखर और तमिलनाडु बीजेपी के अध्यक्ष एल मुरुगन को मंत्रिपरिषद में जगह मिली है. माना जा रहा है कि रविशंकर प्रसाद, हर्षवर्धन और जावड़ेकर सहित केंद्रीय मंत्रि परिषद से बाहर किए गए कई नेताओं को संगठन में भूमिका दी जा सकती है. मंत्रिमंडल से हटाए गए नेताओं में संतोष गंगवार, रमेश पोखरियाल निशंक, सदानंद गौड़ा, बाबुल सुप्रियो, देबश्री चौधरी, संजय धोत्रे, रतनलाल कटारिया और प्रतापचंद सारंगी को भी शामिल हैं. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 10 Jul 2021, 12:54:31 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.