logo-image
लोकसभा चुनाव

इन आंतकियों के निशाने पर बीजेपी नेता और यहूदियों के कई प्रमुख स्थल, ATS ने किए बड़े खुलासे

गुजरात एटीएस ने देश में एक बड़े आतंकी हमले को नाकाम कर दिया है. एटीएस ने चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है. चारों देश में बीजेपी नेता और हिंदू नेताओं की टारगेट किलिंग के साथ यहूदियों के महत्वपूर्ण स्थानों पर हमला करने वाले थे.

Updated on: 21 May 2024, 06:28 AM

नई दिल्ली:

गुजरात ATS को बड़ी सफलता मिली है. अहमदाबाद एयरपोर्ट से चार ISIS आतंकियों को ATS ने पकड़ा है. एटीएस ने आतंकियों को गिरफ्तार कर एक बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है. एटीएस की जानकारी के मुताबिक, पकड़े गए चारों आतंकियों की योजना में बीजेपी नेता, आरएसएस संगठन से जुड़े कई हिंदू नेता और यहूदियों के महत्वपूर्ण स्थान थे. उन पर हमले की पूरी योजना तैयार कर ली गई थी. ये आतंकी मूल रूप से श्रीलंका के रहने वाले हैं. एटीएस ने बताया कि पहले वे सभी चेन्नई आए और फिर चेन्नई से अहमदाबाद के लिए फ्लाइट पकड़ी. जैसे ही आतंकी एयरपोर्ट पर पहुंचे, एटीएस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है.

कौन हैं ये चार आतंकी?

पुलिस ने बताया कि चारों आतंकियों की पहचान मोहम्मद नुसरथ, मोहम्मद फारिस, मोहम्मद नफरान और मोहम्मद रासदीन के रूप में हुई है. पुलिस उप महानिरीक्षक विकास सहाय ने कहा कि सभी चार आतंकवादी श्रीलंका के मूल निवासी हैं और इस्लामिक स्टेट की विचारधारा से कट्टरपंथी बने थे. पुलिस ने आगे कहा कि वे हिंदी या अंग्रेजी नहीं बोलते, वे केवल तमिल भाषा समझते हैं.वह तमिल में ही बात कर रहे थे.

हैंडेलर का मैसेज मिलते ही निकलने वाले थे

पुलिस ने खुलासा किया कि अहमदाबाद में पाकिस्तानी हैंडलर के संदेश का इंतजार कर रहा था. उन्हें अहमदाबाद एयरपोर्ट से टारगेट लोकेशन के लिए निकलना था. यहां वह हथियार लेने ही वाला था, तभी एटीएस ने उन्हें पकड़ लिया.पुलिस ने बताया कि उन्हें सबसे पहले यहूदियों के महत्वपूर्ण स्थानों पर हमला करना था, इसके साथ ही बीजेपी, आरएसएस के साथ हिंदू नेताओं की भी टारगेट किलिंग की योजना थी.

ये भी पढ़ें- हेलीकॉप्टर क्रैश में ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का निधन, भारत के साथ संबंधों पर क्या पड़ेगा असर?

केंद्रीय एजेंसियों ने शुरू की जांच

अगर एटीएस इन्हें नहीं पकड़ पाती तो ये हैंडलर के मैसेज मिलते ही देश के कई हिस्सों में तबाही मचाने निकल पड़ते. पुलिस ने आगे कहा कि ये हाईली ट्रेडेड आतंकी हैं और ये सभी पाकिस्तान से जुड़े हुए हैं. इन आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद केंद्रीय एजेंसी ने जांच भी जारी कर दी है.

ये भी पढ़ें- हिजाब को लेकर इस देश ने शुरू की सख्ती, ड्रोन से की जा रही बुर्का न पहनने वाली महिलाओं की निगरानी