News Nation Logo
Banner

बिहार: लालू-मांझी की बातचीत ने बढ़ाई NDA की टेंशन, क्या खतरे में हैं नीतीश सरकार?

लालू प्रसाद यादव और जीतन राम मांझी के बीच हुई बातचीत से बिहार की राजनीति में घमासान मच गया है

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 12 Jun 2021, 06:31:00 PM
Lalu Yadav-Jitan Ram Manjhi

Lalu Yadav-Jitan Ram Manjhi (Photo Credit: news nation)

highlights

  • लालू प्रसाद यादव और जीतन राम मांझी के बीच हुई बातचीत 
  • लालू-मांझी की बातचीत से बिहार की राजनीति में घमासान मचा
  • भाजपा नेताओं ने नहीं बताई एनडीए में कोई टूट, राजनीति तेज

नई दिल्ली:

इन दिनों बिहार में राजनीतिक घमासान (Bihar Politics) मचा हुआ है, जिसकी वजह राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव (RJD Chief Lalu Yadav) का हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीनत राम मांझी (Zeenat Ram Manjhi ) से बात करना है. हिंदुस्तान आवाम मोर्चा भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी राजग का सहयोगी दल है. बताया जा रहा है कि लालू और जीनत राम के बीच टेलिफोन पर लगभग 12 मिनट बातचीत हुई है, जिसको लेकर तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं. भीतरखाने चल रही चर्चाओं के अनुसार लालू प्रसाद यादव ने मांझी को बहुत बड़ा ऑफर दया है. वहीं, राजनीतिक गलियारों में चर्चा तो यहां तक है कि लालू ने राजग के एक अन्य सहयोगी विकाशील इंसान पार्टी के चीफ मुकेश सहनी से भी फोन पर बातचीत की है. आपको बता दें कि नीतीश कुमार 243 सीटों वाली बिहार विधानसभा में केवल 127 विधायकों के सहारे सरकार चला रहे हैं.

यह भी पढ़ें : Paytm Payments Bank 100 रूपए में कर रहा एफडी, जानिए कैसे मिलेगा ज्यादा ब्याज

राजग में टूट की खबरों को सिरे से खारिज किया

हालांकि मुकेश सहनी ने राजग में टूट की खबरों को सिरे से खारिज किया है. अगर इन चर्चाओं पर विश्वास करें तो मांझी और सहनी के चार-चार विधायक मिलकर बिहार में एनडीए सरकार के लिए संकट खड़ा कर सकते हैं. इस बीच भाजपा के सांसद और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार ने भी राजग में किसी भी तरह के बिखराव से इनकार किया है. इसके साथ ही बिहार भाजपा के सीनियर लीडर और कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा है कि महागठंधबन के भी कई एमएलए उनकी पार्टी से संपर्क बनाए हुए हैं. उनका संकेत कांग्रेस विधायकों की ओर था. 

कांग्रेस के कई विधायक संपर्क में

भाजपा नेता अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि कांग्रेस के कई विधायक हमारे नेताओं और पार्टी के संपर्क में हैं. हालांकि हम उनको आसानी से अपनी ओर मिला सकते हैं, लेकिन हमारी पार्टी दल बदल में यकीन नहीं करती. अगर वो स्वेच्छा से भाजपा में आना चाहे तो हम उनका स्वागत करेंगे। उन्होंने कहा कि टूट राजग में नहीं, बल्कि महागठबंधन है, जिसको बचाने के लिए वो दूसरों को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं. 

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस: सुबह या शाम, जानिए कब ज्यादा असरदार होती है वैक्सीन?

जीनत राम मांझी से उनके आवास पर मुलाकात की

आपको बता दें तकि राजद नेता तेज प्रताप सिंह ने 11 जून को हम प्रमुख जीनत राम मांझी से उनके आवास पर मुलाकात की थी. इसके साथ ही उन्होंने फोन पर मांझी की बात अपने पिता लालू प्रसाद यादव से भी कराई. हालांकि मांझी से इस मुलाकात को गैर राजनीतिक बताया था। उन्होंने कहा कि यह एक पारिवारिक मामला है, सियासत में मनभेद की कोई गुुंजाइश नहीं होती, बस मतभेद होता है। इसी तरह मुकेश सहनी ने अपनी लालू प्रसाद यादव से हुई बातचीत के बारे में कुछ भी बताने से इनकार कर दिया था. 

 

First Published : 12 Jun 2021, 06:26:20 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.