News Nation Logo

कोविड-19 अस्पतालों में बेड घोटाले पर सूर्या ने अपनी सरकार को घेरा

सूर्या के आरोपों ने भाजपा सरकार पर सवालिया निशान लगा दिया है. वहीं, कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने बीजेपी सांसद को बधाई दी और प्रशासन पर हमला बोला है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 06 May 2021, 11:13:43 AM
Tejasvi Surya

कोरोना मरीजों से पैसे लेकर बिस्तर देने के आरोपों से गर्माई राजनीति. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • बेंगलुरु से सांसद बीजेपी के तेजस्वी सूर्या ने लगाए ब़ड़े आरोप
  • उन्होंने कहा कि पैसे लेकर कोरोना मरीजों को दिए गए बिस्तर
  • कर्नाटक सरकार ने पूरे मसले पर जांच बिठाई

बेंगलुरु:

बीजेपी (BJP) युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बेंगुलरु से सांसद तेजस्वी सूर्या (Tejasvi Surya) ने कोरोना संक्रमण (Corona Epidemic) पर अपनी ही पार्टी की सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है. सूर्या ने बेंगलुरु कोविड बेड स्कैम को लेकर राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि कोरोना मरीजों को अस्पतालों में भर्ती करने के नाम पर घूस ली गई. बीजेपी सांसद के इन आरोपों के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा (BS Yeddyurappa) ने पुलिस की अपराध शाखा को इन आरोपों की जांच करने का आदेश दिया और सूर्या के चाचा सहित दो पार्टी विधायकों समेत सांसदों से पूछताछ की गई. इस घोटाले में शामिल 205 लोगों में 17 मुस्लिम कार्यकर्ता भी शामिल हैं.

बीबीएमपी में बिस्तर घोटाला
ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) संदीप पाटिल ने कहा कि हमारे पास दो शिकायतें दर्ज की गई हैं और एक महिला सहित चार व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. सूर्या के आरोपों ने भाजपा सरकार पर सवालिया निशान लगा दिया है. वहीं, कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने बीजेपी सांसद को बधाई दी और प्रशासन पर हमला बोला है. सूर्या ने प्रेस कांफ्रेस कर आरोप लगाए थे कि बीबीएमपी (ब्रुहत बेंगलुरु महानगर पालिका) में बड़ा बेड स्कैम हुआ है. इस मामले में बीबीएमपी में ज्वाइंट कमिश्नर सरफराज नवाज के बारे में सोशल मीडिया में अनाप-शनाप आरोप लगाये जा रहे हैं जबकि नवाज ने कहा कि वह बेड अलॉटमेट प्रोसेस में शामिल नहीं थे. इस दौरान वह कोविड केयर सेंटर और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की जिम्मेदारी संभाल रहे थे. बीबीएमपी के एक अधिकारी ने कहा, 'मैं पूरी तरह से पीड़ित हूं, क्योंकि इस मुद्दे को एक सांप्रदायिक रंग दिया जा रहा है'. बुधवार को सूर्या ने स्पष्ट किया कि उन्होंने नवाज का नाम नहीं लिया और अधिकारी से माफी मांगी. 

यह भी पढ़ेंः LIVE: कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, आज 4.12 लाख से ज्यादा नए केस, करीब 4 हजार मौतें

सांप्रदायिक एंगल क्या है
द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी सांसद की तरफ से मामले को लेकर कई वीडियो जारी किए गए थे. इनमें से एक वीडियो में सूर्या उनके परिजन रवि सुब्रमण्य और सतीश रेड्डी बीबीएमपी के दक्षिण वॉर रूम पर 17 मुस्लिम स्टाफ की मौजूदगी पर सवाल उठा रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार, वे कह रहे हैं, 'कौन हैं ये लोग, किसने इन्हें नियुक्त किया, ये कैसे नियुक्त किए गए?' राज्य के पूर्व सीएम सिद्धारमैया ने सूर्या पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा 'ये वाकई दुर्भाग्यपूर्ण है और मामले को सांप्रदायिक बनाना असंवेदनशील है.' राज्यसभा सांसद सैयद नासिर हुसैन और कांग्रेस प्रवक्ता बृजेश कलप्पा ने बीबीएमपी के साउथ ज़ोन वॉर रूम के कुल 205 कर्मचारियों की लिस्ट जारी करते हुए बीजेपी नेताओं द्वारा सिर्फ 17 मुस्लिमों के नाम सामने रखने को लेकर की आलोचना की है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 06 May 2021, 11:09:09 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.