News Nation Logo
Banner

बग्गा गिरफ्तारी मामला: दिन भर चला 'शह-मात' का खेल, मजिस्ट्रेट के घर से आधी रात को मिली रिहाई

बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को आधी रात मजिस्ट्रेट के घर से जमानत मिल गई और वो आखिरकार रिहा हो गए. इस दौरान पूरे दिन और आधी-रात तक पंजाब से लेकर दिल्ली फिर हरियाणा पुलिस के बीच शह-मात का खेल चलता रहा.

News Nation Bureau | Edited By : Shravan Shukla | Updated on: 07 May 2022, 07:57:37 AM
Tejinder Pal Singh Bagga

Tejinder Pal Singh Bagga (Photo Credit: फाइल)

highlights

  • तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को मिली रिहाई
  • मजिस्ट्रेट के घर पहुंचे थे वकील
  • पंजाब पुलिस पर बग्गा के साथ मारपीट के आरोप

नई दिल्ली:  

बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को आधी रात मजिस्ट्रेट के घर से जमानत मिल गई और वो आखिरकार रिहा हो गए. इस दौरान पूरे दिन और आधी-रात तक पंजाब से लेकर दिल्ली फिर हरियाणा पुलिस के बीच शह-मात का खेल चलता रहा. दिल्ली पुलिस ने पंजाब पुलिस के खिलाफ एफआईआर दर्ज की, तो हरियाणा पुलिस ने कुरुक्षेत्र में पंजाब पुलिस को रोक लिया. हरियाणा के गृहमंत्री ने ऐलान किया कि वो तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को पंजाब नहीं ले जाने देंगे, बल्कि उनकी पुलिस बग्गा को 'रिकवर' करके दिल्ली पुलिस को सौंप रही है. इसके बाद पंजाब पुलिस के शीर्ष अधिकारी ने हरियाणा पुलिस के शीर्ष अधिकारी को चिट्ठी लिखी. जिसमें बग्गा के खिलाफ लिखी एफआईआर की कॉपी भी शामिल की गई. लेकिन तब तक दिल्ली पुलिस ने हरियाणा पुलिस ने कस्टडी ले ली थी और बग्गा दिल्ली पहुंच गए थे.

दिल्ली पहुंचने के बाद देर शाम तक बग्गा को कोर्ट में पेश नहीं किया जा सका, तो दिल्ली पुलिस ने बग्गा की मेडिकल जांच कराई. मेडिकल जांच में तेजिंदर पाल सिंह बग्गा की पीठ में चोट के निशान मिले. इसके बाद द्वारका कोर्ट की जज, जिनका निवास स्थान हरियाणा के गुरुग्राम में है, उनके घर पर तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को ले जाया गया. जहां से उन्हें आधी रात में रिहाई के आदेश मिले और फिर तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को पूरे दिन के हाई-प्रोफाइल ड्रामे के बाद रिहाई मिल गई. बग्गा के वकीलों ने बताया है कि पंजाब पुलिस पर कई मामले बनते हैं. अपहरण का मामला पहले से ही दर्ज हो गया है. इसके अलावा बग्गा के साथ मारपीट करने, उनके पिता के साथ मारपीट करने जैसे कई मामले बनते हैं. 

बीजेपी दिल्ली के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि यह सत्य की जीत, लोकतंत्र की जीत और न्याय की जीत है. भाजपा का हर एक कार्यकर्ता न्याय के लिए संघर्ष करता रहेगा. हम किसी से नहीं डरते. अन्याय के खिलाफ हम सड़कों पर उतरेंगे. वहीं, तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने कहा कि अगर अरविंद केजरीवाल जी समझते हैं कि धमकियों से और FIR से हमें डरा सकते हैं तो मैं कहना चाहता हूं कि हम ये लड़ाई लड़ते रहेंगे. आप एक नहीं 100 FIR करो. हम उस धर्म से आते हैं जिन्होंने कश्मीरी पंडितों के लिए बलिदान दिया. बग्गा ने कहा कि आपकी पुलिस मुझे धमकी देती है कि कश्मीर फिल्म के ऊपर जिन्होंने बयान दिया अगर आप उस पर बात करना बंद कर देंगे तो आपके ऊपर लगा केस वापस ले लिया जाएगा. 

तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने कहा कि जो लोग मानते हैं कि वे पुलिस की मदद से कुछ भी कर सकते हैं, मैं उन्हें बताना चाहूंगा कि एक BJP कार्यकर्ता किसी से नहीं डरेगा. मैं हरियाणा, दिल्ली पुलिस और सभी BJP कार्यकर्ताओं को मेरा समर्थन करने के लिए धन्यवाद देता हूं.

 

ये भी पढ़ें: कुरुक्षेत्र में पंजाब पुलिस के शिकंजे से ऐसे बचे बग्गा, सात घंटे तक चला गिरफ्तारी का खेल

दिल्ली बीजेपी ने किया प्रदर्शन, बग्गा को मिला जोरदार समर्थन

बता दें कि तेजिंदर पाल सिंह बग्गा जितनी देर तक पंजाब पुलिस के पास रहे, दिल्ली में बीजेपी कार्यकर्ता और नेता लगातार दबाव बनाए हुए थे. कानूनी कार्रवाई से लेकर प्रदर्शन तक में बीजेपी कार्यकर्ता काफी आगे रहे. यही वजह रही कि पंजाब पुलिस जब बग्गा को लेकर पंजाब के लिए रवाना हुई, तो उसकी खबर हर किसी को थी. बग्गा को जिस गाड़ी में लेकर जाया जा रहा था, उसे भी बीजेपी कार्यकर्ता लगातार 'ट्रैक' कर रहे थे. इस बीच जैसे ही दिल्ली पुलिस ने पंजाब पुलिस के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने और हरियाणा पुलिस के पास पंजाब पुलिस को रोकने का निवेदन भेजा, वैसे ही कुरुक्षेत्र में हरियाणा पुलिस ने पंजाब पुलिस को रोक लिया. हरियाणा पुलिस की त्वरित सफलता में कहीं न कहीं बीजेपी कार्यकर्ताओं की सक्रियता भी दिखी.

First Published : 07 May 2022, 07:14:01 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.