News Nation Logo
Banner

बाबरी मस्जिद थी औऱ हमेशा रहेगी... समय भी कभी एक जैसा नहीं रहता- लॉ बोर्ड का भड़काऊ बयान

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने यह कहकर एक नए विवाद को जन्म दे दिया है कि बाबरी मस्जिद हमेशा थी और हमेशा रहेगी. इसके साथ ही वह यह कहने से भी नहीं चूके कि समय कभी एक जैसा नहीं रहता है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 05 Aug 2020, 11:16:36 AM
AIMPLB

राम मंदिर के भूमि पूजन पर भड़काऊ बयान. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में एक समय अयोध्या मसले (Ayodhya Ram Mandir) पर जो भी फैसला आए उसे मंजूर करने का दावा करने वाले तमाम मुस्लिम पक्षकार राम जन्मभूमि (Ram Janmbhoomi) के पक्ष में फैसला आते ही उसकी खिलाफत करने पर उतर आए. यहां तक ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने भी अपने सुर बदल लिए. हद तो यह है कि आज जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) अयोध्या में राम मंदिर की पहली ईंट रखने जा रहे हैं, तो मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने यह कहकर एक नए विवाद को जन्म दे दिया है कि बाबरी मस्जिद हमेशा थी और हमेशा रहेगी. इसके साथ ही वह यह कहने से भी नहीं चूके कि समय कभी एक जैसा नहीं रहता है.

यह भी पढ़ेंः रावण के मंदिर में भी मनेगा अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन का उत्सव

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की विवादित ट्वीट
अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन से ठीक पहले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB‌) ने विवादित ट्वीट करते हुए कहा है कि बाबरी मस्जिद हमेशा रहेगी. सु्प्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाते हुए बोर्ड ने उसे एक बहुसंख्यक को संतुष्ट करने वाला निर्णय बताया. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने ट्वीट किया, 'बाबरी मस्जिद थी और हमेशा एक मस्जिद रहेगी. हागिया सोफिया हमारे लिए एक बेहतरी उदाहरण है. अन्यायपूर्ण, दमनकारी, शर्मनाक और बहुसंख्यक तुष्टिकरण के आधार पर भूमि का पुनर्निर्धारण करने वाला फैसला इसे बदल नहीं सकता है. उदास होने की जरूरत नहीं है. स्थिति हमेशा के लिए नहीं रहती है.'

यह भी पढ़ेंः Ram Mandir Bhoomipujan Live: सुनहरे कुर्ते में अयोध्या के लिए रवाना हुए पीएम मोदी, थोड़ी देर में होगा भूमिपूजन

मंदिर तोड़कर नहीं बनी थी मस्जिद
मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मोहम्मद वली रहमानी ने कहा, 'बाबरी मस्जिद को कभी भी किसी मंदिर को तोड़कर नहीं बनाया गया था.' उन्होंने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में माना है कि मस्जिद में मूर्तियों को रखना गैरकानूनी था. गौरतलब है कि तकरीबन 500 साल तक चले अयोध्या के राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल फैसला सुनाया था. कोर्ट ने विवादित जमीन रामलला को दी थी. वहीं, मस्जिद निर्माण के लिए अयोध्या में पांच एकड़ जमीन देने का फैसला दिया था.

यह भी पढ़ेंः  Ayodhya: भूमिपूजन से पहले ओवैसी का फिर भड़काऊ बयान, बाबरी मस्जिद थी और... इंशाल्लाह

आज अयोध्या में होगा राम मंदिर का भूमि पूजन
गौरतलब है कि अयोध्या में बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे. इसके लिए सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं. राम नगरी में मंदिरों को सैनिटाइज किया जा रहा है. वहीं, पूरे शहर को दीया, फूल आदि से सजाया गया है. पीएम मोदी आज सुबह लखनऊ पहुंच चुके हैं और कुध ही देर बाद अयोध्या के साकेट कॉलेज में बनाए गए हेलीपैड पर लैंड करेंगे. अयोध्या में भूमि पूजन की वजह से दीवाली जैसा माहौल है.

First Published : 05 Aug 2020, 11:14:55 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो