News Nation Logo

असम में विपक्ष पर हमलावर हुए PM मोदी, कहा- कांग्रेस वोट के लिए कुछ भी कर सकती है

असम विधानसभा चुनाव का चुनावी प्रचार अपने चरम सीमा पर जा पहुंचा है. सभी राजनीतिक पार्टियां जमकर चुनावी प्रचार करने में जुटी हुई हैं. असम की जनता को अपनी तरफ करने के लिेए हर नेता बड़े-बड़े लुभावने वादे कर रही हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 24 Mar 2021, 04:14:05 PM
pm modi assam

PM MODI (Photo Credit: BJP4INDIA)

highlights

  • घुसपैठियों के वोटबैंक पर कांग्रेस असम की सत्ता हथियाना चाहती है-पीएम मोदी
  • कांग्रेस के विश्वासघात के सबसे बड़े पीड़ित ​असम के चाय बागान में काम करने वाले मज़दूर-PM
  • असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनेवाल ने बिहपुरिया में पीएम मोदी का स्वागत किया

नई दिल्ली:

असम विधानसभा चुनाव का चुनावी प्रचार अपने चरम सीमा पर जा पहुंचा है. सभी राजनीतिक पार्टियां जमकर चुनावी प्रचार करने में जुटी हुई हैं. असम की जनता को अपनी तरफ करने के लिेए हर नेता बड़े-बड़े लुभावने वादे कर रही हैं. इसी क्रम में बुधवार को प्रधानमंत्री असम दौरे पर पहुंचे. असम पहुंचकर उन्होंने बिहपुरिया में चुनावी जनसभा को संबोधित किया. असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनेवाल ने बिहपुरिया में पीएम मोदी का स्वागत किया. प्रधानमंत्री ने यहां जनता को संबोधित करते हुए कहा, 'कांग्रेस के लंबे कालखंड में जिन सत्रों और नामघरों को अवैध कब्जाधारियों के हवाले किया गया था, उनको आज मुक्त किया गया है. ये हम सभी के लिए कितने कष्ट का कारण था कि बताद्रवा थान को भी इन्होंने नहीं छोड़ा था. इन पवित्र स्थानों की सुरक्षा के लिए कांग्रेस ने कुछ नहीं किया.'

उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस का हाथ आज ऐसे लोगों के साथ है, जिसका आधार असम की पहचान को तबाह करना है. जो दल घुसपैठ पर फला-फूला हो, आज उसके वोटबैंक पर कांग्रेस असम की सत्ता हथियाना चाहती है. जो दल असम के मूलनिवासियों के साथ भेदभाव का प्रतीक रहा कांग्रेस उसके हाथ में असम को सौंपने की बात कर रही है.

पीएम मोदी ने विपक्षी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस वोट के लिए कुछ भी कर सकती है, किसी का भी साथ ले सकती है और जरूरत पड़ने पर किसी को धोखा भी दे सकती है. कांग्रेस के विश्वासघात के सबसे बड़े पीड़ित ​असम के चाय बागान में काम करने वाले मज़दूर भाई-बहन हैं. दशकों तक कांग्रेस ने बागान में काम करने वाले साथियों के लिए कुछ नहीं किया. 15 साल के शासन में ये लोग चाय बागान के श्रमिकों की मज़दूरी को 100 रुपये के ऊपर भी नहीं ले जा पाए थे.

और पढ़ें: कांथी रैली में ममता बनर्जी पर बरसे प्रधानमंत्री मोदी, बोले- 2 मई के बाद देकर रहूंगा किसानों को हक का पैसा

असम के बिहपुरिया में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम इसके लिए काम कर रहे हैं कि जब देश आज़ादी के 75 साल मनाएगा तब हिन्दुस्तान का कोई गरीब पक्की छत के बिना नहीं होगा. उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस के लंबे कालखंड में जिन सत्रों, जिन नामघरों को अवैध कब्जाधारियों के हवाले किया गया था, उनको आज मुक्त किया गया. ये हम सभी के लिए कितने कष्ट का कारण था कि ‘बताद्रवा थान’ तक को इन्होंने नहीं छोड़ा था. इन पवित्र स्थानों की सुरक्षा के लिए कांग्रेस ने कुछ नहीं किया.

पीएम मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आपको जगाने आया हूं. कांग्रेस का हाथ आज एक ऐसे लोगों के साथ हैं, जिसका आधार है, असम की पहचान को तबाह करना. क्या आप ये होने देंगे. अपनी संस्कृति-परंपरा को नष्ट होने देंगे, जो दल घुसपैठ पर ही फला-फूला हो, आज उसके वोटबैंक पर कांग्रेस असम की सत्ता हथियाना चाहती है.

उन्होंने ये भी कहा कि ये कांग्रेस का महाजोत नहीं, कांग्रेस का महाझूठ है. ऐसा महाझूठ- जिसका न विचार है, न संस्कार है. ऐसा महाझूठ- जिसके पास न नेता है, न नीति है. ऐसा महाझूठ- जो सिर्फ और सिर्फ घुसपैठ की, लूट की गारंटी देता है.

पीएम ने कहा कि बीजेपी की-एनडीए की, डबल इंजन की सरकार मूल सुविधाओं से लेकर विकास की आकांक्षाओं तक असम को आगे बढ़ाने में जुटी है. आज असम के हर हिस्से में रहने वाले गरीब परिवारों तक को एलपीजी गैस कनेक्शन मिल चुके हैं. उनको धुएं से मुक्ति मली है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 24 Mar 2021, 03:44:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.