News Nation Logo

अमित शाह आज से जम्मू-कश्मीर दौरे पर, ड्रोन से होगी सभी हरकतों पर नजर

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज अपनी तीन दिवसीय यात्रा के लिए श्रीनगर पहुंचेंगे. गृहमंत्री के दौरे के लिए पूरे कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. उनकी सुरक्षा में स्निपर्स डॉग, ड्रोन और शार्पशूटर्स तैनात किए गए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 23 Oct 2021, 08:29:41 AM
amit shah

Amit shah (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • अमित शाह का तीन दिवसीय जम्मू-कश्मीर दौरा आज से शुरू
  • उनकी सुरक्षा में स्निपर्स डॉग, ड्रोन और शार्पशूटर्स तैनात
  • अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद शाह की पहली यात्रा होगी

श्रीनगर:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज अपनी तीन दिवसीय यात्रा के लिए श्रीनगर पहुंचेंगे. गृहमंत्री के दौरे के लिए पूरे कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. उनकी सुरक्षा में स्निपर्स डॉग, ड्रोन और शार्पशूटर्स तैनात किए गए हैं. राजभवन-गुपकर रोड के 20 किलोमीटर के दायरे में सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजाम किए गए हैं. अनुच्छेद 370 निरस्त होने के बाद शाह की जम्मू-कश्मीर की यह पहली यात्रा होगी. अपनी यात्रा के दौरान वह एक विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे. शाह पहली श्रीनगर-शारजाह सीधी उड़ान को हरी झंडी दिखाएंगे. इसके अलावा दो मेडिकल कॉलेजों की आधारशिला रखेंगे और एक उच्च स्तरीय सुरक्षा समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करेंगे.

यह भी पढ़ें : J&K: पं नेहरू ने युद्धविराम न मांगा होता, तो पाकिस्तान सबक सीख जाता

शाह आज सबसे पहले श्रीनगर पहुंचेंगे. इस दौरान उनके साथ गृह सचिव ए.के. भल्ला, गृह मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी, अधिकांश केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) और आईबी सहित खुफिया एजेंसियों के प्रमुख होंगे. वह उधमपुर और हंदवाड़ा के लिए दो नए सरकारी मेडिकल कॉलेजों (जीएमसी) की आधारशिला रखेंगे, जिसके बाद वह पहली श्रीनगर-शारजाह सीधी उड़ान को हरी झंडी दिखाएंगे. इसके बाद वह जम्मू शहर में एक विशाल जनसभा को संबोधित करेंगे. वह रविवार को जम्मू में

एक आईआईटी ब्लॉक का भी उद्घाटन करेंगे. गृह मंत्री श्रीनगर में एक शीर्ष स्तरीय बैठक भी करेंगे जो आतंकवादियों द्वारा लक्षित नागरिकों की हत्या के बाद पहली बड़ी सुरक्षा समीक्षा होगी.  पीएमओ में केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह और उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी बैठक में शामिल होंगे. जम्मू-कश्मीर प्रशासन के एक शीर्ष अधिकारी ने ग्रेटर कश्मीर को बताया, वह शनिवार को घाटी में एकीकृत मुख्यालय की बैठक की अध्यक्षता करेंगे. अधिकारी ने कहा, जम्मू के पीर पंजाल क्षेत्र की सुरक्षा समीक्षा पर भी चर्चा की जाएगी, जहां पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से पुंछ-राजौरी जिलों की सीमा के पास उग्रवाद विरोधी अभियान चल रहा है. शाह कश्मीर में विभिन्न उद्योग निकायों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात करेंगे. अधिकारी ने कहा, वह अगले दिन जम्मू जाएंगे और उसी शाम कश्मीर वापस आएंगे. उन्होंने कहा कि गृह मंत्री के भाजपा के जिला अध्यक्षों से मिलने की संभावना है.

कल करेंगे रैली को संबोधित

अधिकारी ने कहा, उनके जम्मू और कश्मीर दोनों संभागों में पंचायती राज संस्थान (पीआरआई) के प्रतिनिधियों से मिलने की संभावना है. अधिकारी ने कहा, रविवार को गृह मंत्री जम्मू में एक रैली में भी शामिल होंगे. शाह के अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान केंद्र शासित प्रदेश में विकास योजनाओं के कार्यान्वयन की समीक्षा करने की भी उम्मीद है. अधिकारी ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश के लोगों तक पहुंचने के अलावा यात्रा के दौरान सांस्कृतिक और सूफी कार्यक्रम भी होंगे. अधिकारी ने कहा, गृह मंत्री ऑनलाइन माध्यम से कश्मीर और जम्मू में कुछ नई परियोजनाओं की आधारशिला भी रखेंगे.

चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, पूरे कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. सुरक्षा बलों ने जांच, तलाशी और निगरानी बढ़ा दी है. पुलिस और सीआरपीएफ की टीमें भारी संख्या में गश्त कर रही हैं. वाहनों की 'अचानक स्पॉट और फ्लैश सर्च' भी होती है. वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों ने संवेदनशील इलाकों में मोबाइल बंकरों की मौजूदगी भी बढ़ा दी है और महिला अर्धसैनिक बल के जवानों को तैनात कर दिया है. उन्होंने कहा, मोबाइल बंकरों में हाई रेजोल्यूशन कैमरे लगे हैं और आवाजाही पर नजर रखी जा रही है. उन्होंने कहा कि श्रीनगर में पुलिस और अर्धसैनिक बलों के अतिरिक्त जवानों को सुरक्षा उद्देश्यों के लिए तैनात किया गया है. अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर के पुराने शहर और दक्षिण कश्मीर जिलों के कुछ हिस्सों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं घटा दी गई हैं. अधिकारी ने कहा, ये वे क्षेत्र हैं जहां हाल ही में हमलों की सूचना मिली थी.

 बुलेटप्रूफ मोबाइल बंकर वाहनों की संख्या बढ़ाई

अधिकारी ने कहा कि असामाजिक तत्वों के मंसूबों को नाकाम करने की रणनीति बनाई गई है. उन्होंने कहा, खुफिया और अन्य सुरक्षा तंत्र को मजबूत किया गया है. अधिकारी ने कहा कि कई चौकियों को पूरे श्रीनगर में बनाया गया है. उन्होंने कहा, संवेदनशील स्थानों पर तैनात बुलेटप्रूफ मोबाइल बंकर वाहनों की संख्या भी बढ़ा दी गई है और उच्च तकनीक वाले सीसीटीवी निगरानी को बढ़ाया गया है. उन्होंने कहा कि अकेले श्रीनगर में अर्धसैनिक बलों की कुछ अतिरिक्त कंपनियां तैनात की गई हैं. अधिकारी ने कहा, सुरक्षा ग्रिड का पूरा शीर्ष अधिकारी इस समय कश्मीर में है. उन्होंने कहा कि स्थिति पर करीब से नजर रखी जा रही है.  

First Published : 23 Oct 2021, 08:27:28 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.