News Nation Logo
Banner

बड़े साइबर हमले की साजिश रच रहे हैकर्स, केंद्र ने जारी की चेतावनी

कोरोना महामारी की आड़ में साइबर हमलावर आपकी निजी और वित्तीय जानकारी में सेंधमारी करने के फिराक में हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 21 Jun 2020, 01:07:06 PM
Hackers

हैकर्स के पास हैं 20 लाख से ज्यादा आईडी. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • साइबर हैकर्स (Cyber Hackers) बड़े वर्चुअल हमले की साजिश रच रहे.
  • सरकार के नाम वाली ई-मेल आईडी से आ सकती हैं फर्जी मेल.
  • 20 लाख से ज्यादा लोगों की निजी ईमेल आईडी होने की आशंका.

नई दिल्ली:

एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण से लड़ रही है. वहीं ऐसे लोग भी कम नहीं हैं, जो इस संक्रमण काल का फायदा उठाने की जुगत में हैं. भारत की संस्था सर्ट ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि साइबर हमलावर (Cyber Hackers) बड़े वर्चुअल हमले की साजिश रच रहे हैं. कोरोना महामारी की आड़ में साइबर हमलावर आपकी निजी और वित्तीय जानकारी में सेंधमारी करने के फिराक में हैं. इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉनस टीम (CERT-In) ने ट्वीट करते हुए कहा है कि आज से ई-मेल के जरिए साइबर हमलावर धोखाधड़ी शुरू कर सकते हैं. बताया गया है कि यह संदेहास्पद मेल सरकार के नाम वाली ई-मेल आईडी ncov2019@gov.in से भेजा जा सकता है.

यह भी पढ़ेंः गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद राजनाथ सिंह की सभी सेना प्रमुखों के साथ अहम बैठक जारी

वित्तीय संस्थाओं की ओर से आ सकते हैं फर्जी मैसेज
भारत में साइबर सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रही CERT-In ने बताया है कि साइबर हमलावर कोरोना महामारी के बीच बड़ा साइबर हमला करने की तैयारी में हैं. उन्होंने कहा कि ये हमला आज से ही शुरू हो सकता है. ये हमले ई-मेल के जरिए सरकार की ओर से वित्तीय सहायता का काम देखने वाली सरकारी एजेंसियों, विभाग तथा कारोबारी संस्था बनकर किए जा सकते हैं. हमलावर ऐसे स्थानीय अधिकारी बनकर धोखे वाली मेल भेज सकते हैं जिन्हें सरकार द्वारा वित्तपोषित कोविड-19 समर्थित सेवाओं की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

यह भी पढ़ेंः नहीं बाज आ रहा बेशर्म पाकिस्तान, सीमा पार चौकियों-गांवों को बनाया निशाना

ऐसे चुरा लेंगे जरूरी जानकारी
फिशिंग हमले की जानकारी देते हुए बताया गया है कि ये असली वेबसाइट की तरह लगती हैं और लोगों को अपनी ओर मेल और टेक्स्ट मैसेज खोलने के लिए आक​र्षित करती हैं. इन वेबसाइट की लिंक में वायरस होता है, जिसे क्लिक करते ही ​यूजर के सिस्टम में मालवेयर आ जाता है या सिस्टम फ्रीज हो जाता है या फिर आपकी जरूरी जानकारी हैकर के पास पहुंच जाती है.

यह भी पढ़ेंः साल का सबसे लंबा सूर्य ग्रहण जारी, इन बातों का रखें खास ध्यान

हैकर्स के पास 20 लाख से ज्यादा आईडी
बता जा रहा है कि इस लिंक को अगर आपने खोला तो हैकर आसानी से आपकी जानकारी चुरा सकते हैं. सरकार की ओर से बताया गया है कि साइबर हमलावरों के पास 20 लाख से ज्यादा लोगों की निजी ईमेल आईडी होने की आशंका है. ठगों के ई-मेल ‘फ्री कोविड-19 टेस्टिंग फॉर ऑल रेजीडेंट्स ऑफ दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई और अहमदाबाद’ की थीम के साथ इसे तैयार किया है. ऐसे में अब कोई भी मेल खोलते समय काफी सावधानी ​बरतने की जरूरत है.

First Published : 21 Jun 2020, 01:07:06 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.