News Nation Logo

नोटों के साथ 3 कांग्रेस विधायकों की गिरफ्तारी के बाद बोले असम के CM, कांग्रेसियों से है पुराना नाता

News Nation Bureau | Edited By : Iftekhar Ahmed | Updated on: 31 Jul 2022, 10:30:35 PM
Jharkhand MLA

नोटों के साथ 3 कांग्रेस विधायकों की गिरफ्तारी के बाद बोले  असम के CM (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:  

झारखंड के तीन कांग्रेस विधायकों के भारी मात्रा में कैश के साथ पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार होने के बाद कांग्रेस पार्टी भाजपा पर हमलावर हो गई है. इसकी वजह है,  झारखंड के बेरमो विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह का बयान. दरअसल, अनूप सिंह ने अपनी ही पार्टी के तीन विधायकों इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन विक्सल कोंगाड़ी पर झारखंड सरकार को अस्थिर करने की साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है. इस संबंध में उन्होंने रांची के अरगोड़ा थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है. 

ये भी पढ़ेंः संजय राउत की गिरफ्तारी पर भड़के उद्धव, बौले- इस बेशर्म साजिश को धराशायी करने का वक्त आ गया

सीएम हेमंत सरमा ने आरोपों से किया इनकार
अपनी शिकायत में उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकार गिराने के लिए इन साथी विधायकों के जरिए उन्हें 10 करोड़ रुपए और मंत्री पद का ऑफर दिया जा रहा था. इसके साथ ही उन्हें बताया गया था कि गुवाहाटी में उनकी असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा से मुलाकात कराई जाएगी, जो उन्हें झारखंड में बनने वाली नई सरकार में मंत्री पद देने को लेकर आश्वस्त करेंगे. वहीं, अनूप के इस बयान से असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने पल्ला झाड़ लिया है. उन्होंने अपनी सफाई में रविवार को कहा कि कांग्रेस के साथ लंबे समय तक जुड़े रहने के कारण वह पार्टी के नेताओं के संपर्क में रहते हैं, लेकिन उन्होंने झारखंड की सरकार को गिराने के कथित षड्यंत्र में अपनी भूमिका होने के आरोपों को खारिज कर दिया.

कोर्ट ने तीनों विधायकों को 10 की पुलिस रिमांड पर भेजा
रांची की अरगोड़ा थाने की पुलिस ने कांग्रेस विधायक की इस लिखित शिकायत को जीरो एफआईआर के तौर पर दर्ज करते हुए इसकी कॉपी पश्चिम बंगाल के हावड़ा (ग्रामीण) की एसपी को भेज दी है. गौरतलब है कि कांग्रेस के तीन विधायकों इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन विक्सल कोंगाड़ी को हावड़ा जिले के रानीहाट में शनिवार देर शाम भारी कैश के साथ गिरफ्तार किया गया था. इस मामले में रविवार को उन्हें अदालत में पेश किया गया. जहां कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद गिरफ्तार विधायकों की जमानत याचिका खारिज कर दी गई. इसके साथ ही तीनों विधायकों को 10 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. 

ये भी पढ़ेंः Mig-21 क्रैश में मारे गए pilot की मां ने दिया ये बड़ा बयान, पढ़कर नहीं रोक पाएंगे आंसू

ये है विधायक अनूप की शिकायत का मजमून
कांग्रेस विधायक अनूप ने अपनी शिकायत में लिखा है कि इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और विक्सल कोंगाड़ी उन्हें कोलकाता बुला रहे थे. उन्हें कहा गया था कि सरकार गिराने के बदले प्रति एमएलए 10 करोड़ रुपए दिए जाने थे. इरफान अंसारी और राजेश कच्छप चाहते थे कि मैं कोलकाता आऊं. वे लोग मुझे गुवाहाटी लेकर जाते. उनके अनुसार वे मेरी मुलाकात असम के सीएम हिमंत बिस्वा शर्मा से कराते और मंत्री पद के लिए आश्वस्त करते. उन्हें यह भी बताया गया था कि हिमंत बिस्वा शर्मा यह सब पार्टी के टॉप लीडर्स के आशीर्वाद और उनकी सहमति से कर रहे हैं.

मामले की जांच कर कार्रवाई करने की रखी मांग
विधायक अनूप सिंह के अनुसार, इरफान अंसारी ने उनसे कहा कि नई सरकार में उन्हें स्वास्थ्य मंत्री बनाने का वचन दिया गया है. इरफान ने उन्हें यह भी बताया गया कि कल (शनिवार) दोपहर वे कोलकाता पहुंच रहे हैं. उनके लोगों को पैसे भी ट्रांसफर किये गये हैं. अनूप सिंह ने अपनी शिकायत में पुलिस से आग्रह किया है कि उन्हें अवैध कार्य के लिए प्रभावित करने के मामले में जांच की जाए.

First Published : 31 Jul 2022, 09:21:40 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.