News Nation Logo
Banner

PM मोदी के संबोधन के बाद राहुल गांधी का हमला- तू इधर उधर...

देश में कोरोना वायरस का कहर फैला है वहीं दूसरी ओर लगातार भारत चीन की सीमा पर तनाव है. इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को शाम 4 बजे देश के नाम संबोधन किया. यह उनका अब तक का 13वां संबोधन रहा. कोरोना वायरस प्रसार के बाद यह उनका छठा संबोधन रहा. पीएम मोदी के संबोधन के बाद कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने निशाना साधा.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 30 Jun 2020, 05:49:49 PM
Rahul Gandhi

राहुल गांधी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

देश में कोरोना वायरस का कहर फैला है वहीं दूसरी ओर लगातार भारत चीन की सीमा पर तनाव है. इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को शाम 4 बजे देश के नाम संबोधन किया. यह उनका अब तक का 13वां संबोधन रहा. कोरोना वायरस प्रसार के बाद यह उनका छठा संबोधन रहा. पीएम मोदी के संबोधन के बाद कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने निशाना साधा. उन्होंने एक शेर ट्वीट किया जिसमें लिखा था ' तू इधर उधर की न बात कर, ये बता कि क़ाफ़िला कैसे लुटा, मुझे रहज़नों से गिला तो है, पर तेरी रहबरी का सवाल है.'

राहुल गांधी पीएम मोदी पर भारत-चीन विवाद को लेकर लगातार निशाना साधते रहे हैं. राष्ट्र के नाम संबोधन में कयास लगाए जा रहे थे कि पीएम मोदी भारत-चीन सीमा विवाद पर अपनी टिप्पणी करेंगे. लेकिन उन्होंने इस मुद्दे पर कोई बात न करके कोरोना और गरीब कल्याण पर बात की है. माना जा रहा है कि राहुल गांधी का ट्वीट इसी संदर्भ में हैं.

गरीबों को नवंबर तक मिलेगा मुफ्त राशन

पीएम मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों के लिए पौने दो लाख करोड़ रुपये का पैकेज दिया गया. बीते 3 महीनों में 20 करोड़ गरीब परिवारों के जनधन खातों में सीधे 31 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए.

यह भी पढ़ें- भारत के खिलाफ गलत बयानबाजी कर फंसे ओली, पार्टी के शीर्ष नेताओं ने की इस्तीफे की मांग

9 करोड़ से अधिक किसानों के बैंक खातों में 18 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं. उन्होंने आगे कहा कि हमारे यहां वर्षा ऋतु के दौरान और उसके बाद मुख्य तौर पर एग्रीकल्चर सेक्टर में ही ज्यादा काम होता है.

यह भी पढ़ें- आचार्य बालकृष्ण ने फिर दी सफाई, कहा- पतंजलि ने कभी नहीं कोरोना की दवा बनाने का किया दावा

अन्य दूसरे सेक्टरों में थोड़ी सुस्ती रहती है. जुलाई से धीरे-धीरे त्योहारों का भी माहौल बनने लगता है. त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है. इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए.

First Published : 30 Jun 2020, 05:26:53 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×