News Nation Logo

आत्मनिर्भर भारत के तहत रक्षा मंत्रालय का बड़ा कदम, अब देश में ही बनेगा T90 टैंक

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज यानि सोमवार को आत्मनिर्भर भारत की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर हम खुद भारत के भीतर चीजों का निर्माण करने में सक्षम हो जाते हैं तो हम देश की पूंजी के एक बड़े हिस्से को बचाने में सक्षम होंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 10 Aug 2020, 07:23:05 PM
tank

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज यानि सोमवार को आत्मनिर्भर भारत की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर हम खुद भारत के भीतर चीजों का निर्माण करने में सक्षम हो जाते हैं तो हम देश की पूंजी के एक बड़े हिस्से को बचाने में सक्षम होंगे. उस पूंजी की मदद से रक्षा उद्योग से जुड़े लगभग 7000 MSMEs को प्रोत्साहित किया जा सकता है. आत्मनिर्भर भारत के तहत रक्षा मंत्रालय ने बड़ा कदम उठाते हुए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि भारत का आधुनिक T90 टैंक अब पूरी तरह देश में ही तैयार होगा. T90 टैंक भीष्म का थर्मल इमेजिंग सिस्टम OLF देहरादून में तैयार होगा.

यह भी पढ़ें- पहाड़ी इलाकों में पहुंचाया जा रहा इंटरनेट, सेना के जवान घर पर कर सकेंगे बात : रविशंकर प्रसाद

8 किलोमीटर तक दुश्मन को रात में भी देखा जा सकेगा

अभी तक रात में केवल 800 मीटर तक दुश्मन को तिथि टैंक से देखा जा सकता था. OLF की नई तकनीक से 8 किलोमीटर तक दुश्मन को रात में भी देखा जा सकेगा. मॉर्डनाइज्ड थर्मल इमेजिंग शॉप का रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वर्चुअल उद्घाटन किया. अब तक भारत में बेलारूस और फ्रांस से थर्मल इमेजिंग सिस्टम मंगाया जाता था. 5 साल में 464 नये आधुनिक T90 टैंक OLF तैयार करेगा. नेवल शिप के लिए देश में पहली बार SRCG गन बनेगी. देहरादून ऑर्डिनेंस फैक्ट्री जनरल मैनेजर शरद कुमार यादव ने बताया कि यह आत्मनिर्भर भारत के लिए बड़ा कदम है.

यह भी पढ़ें- राम मंदिर को लेकर मुनव्वर राणा ने उगला जहर, कहा- SC ने न्याय नहीं किया

आत्मविश्वास-आत्मनिर्भरता वाले भारत की नींव

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2017 में चंपारण की सौवीं वर्षगांठ के अवसर पर नया भारत बनाने की घोषणा की थी. सिंह ने कहा, 'अब प्रधानमंत्री ने यह स्पष्ट कर दिया है कि जब हम नए भारत की नींव रखेंगे तब वो आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता से परिपूर्ण होगा.' इसके पहले भारतीय रक्षा उद्योग को आत्मनिर्भर बनाने और स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए रक्षा मंत्रालय ने रविवार को 101 वस्तुओं के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है. मंत्रालय ने 2020-21 के कैपिटल प्रोक्योरमेंट बजट में घरेलू और विदेशी कैपिटल प्रोक्योरमेंट के लिए भी बंटवारा कर दिया है. साथ ही चालू वित्त वर्ष में घरेलू पूंजीगत खरीद के लिए लगभग 52,000 करोड़ रुपये का एक अलग बजट बनाया गया है.

यह भी पढ़ें- राजनाथ सिंह बोले- आत्मनिर्भर भारत के तहत 7000 MSMEs को किया जा सकता प्रोत्साहित

101 रक्षा उपकरणों के आयात पर रोक

101 रक्षा उपकरणों के आयात पर लगे इस नए प्रतिबंध के चलते अनुमान है कि अगले पांच से सात वर्षों के भीतर घरेलू उद्योग में लगभग 4 लाख करोड़ रुपये के अनुबंध किए जाएंगे. अनुमानित तौर पर इसमें से सेना और वायु सेना के लिए लगभग 1.3 लाख करोड़ रुपये के उपकरण और 1.4 लाख करोड़ रुपये के उपकरण नौसेना के लिए होंगे. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, 'रक्षा मंत्रालय अब आत्मनिर्भर भारत की पहल में एक बड़ा कदम उठाने के लिए तैयार है. मंत्रालय रक्षा उपकरणों के स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए 101 वस्तुओं पर आयात प्रतिबंध लगाएगा. यह निर्णय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आत्मनिर्भर भारत के लिए किए गए स्पष्ट आह्वान के बाद किया गया है.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 10 Aug 2020, 07:18:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.