News Nation Logo
ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश विपक्षी सांसदों की नारेबाजी के बीच राज्यसभा आज दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित हुई भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की बाबा साहब आंबेडकर का महापरिनिर्वाण दिवस आज. बसपा कर रही बड़ा कार्यक्रम नीट काउंसिलिंग में हो रही देरी के खिलाफ रेजिडेंट डॉक्टर्स आज ठप रखेंगे सेवा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन आज आ रहे भारत. कई समझौतों को देंगे अंतिम रूप पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह आज करेंगे अमित शाह-जेपी नड्डा से मुलाकात.

लेडीज को हो रही हैं ये प्रॉब्लम्स, हार्ट अटैक के हो सकते हैं सिम्पटम्स

हार्ट प्रॉब्लम के लिए सबसे बड़ा कारण है स्ट्रेस. स्ट्रेस दिल से जुड़ी प्रॉब्लम्स को कई गुना बढ़ावा देता है. स्ट्रेस बॉडी को बिल्कुल भी एक्टिव नहीं रहना देता. इसका नतीजा ये देखने को मिलता है कि लेडीज अपनी हेल्थ पर ध्यान नहीं दे पाती.

News Nation Bureau | Edited By : Megha Jain | Updated on: 27 Sep 2021, 01:11:25 PM
Heart problems

Heart problems (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:

आज कल किसमें हार्ट प्रॉब्लम्स देखने को नहीं मिलती है. हर कोई हार्ट से जुड़ी प्रॉब्लम्स से परेशान है. अगर प्रॉब्लम हार्ट में होती है. तो इसका सीधा असर दिमाग पर भी पड़ता है. हार्ट के साथ-साथ दिमाग भी बीमार होने लगता है. वैसे भी आज कल दिल से जुड़े केसिज भी बहुत सामने आ रहे हैं. सिर्फ ऐसा नहीं है कि हार्ट प्रॉब्लम्स मेन्स में ज्यादा देखने को मिलती है. बल्कि लेडीज में भी ये प्रॉब्लम ज्यादा नजर आने लगी हैं. भले ही दोनों में इसके सिंपटम्स अलग हो लेकिन, प्रॉब्लम सेम ही होती है. बल्कि लेडीज में तो वो प्रॉब्लम्स होती है जो मेन्स (mens) में देखने को शायद ही मिले. इस नजरिए से कोई नहीं सोचता. सबको ज्यादातर यही लगता है कि हार्ट प्रॉबलम्स मेन्स (mens) में ही होती है. लेकिन, अगर आपको ये पता चल जाए कि कौन-से सिंप्टम्स के कारण आगे चलकर परेशानी बढ़ सकती है. तो आप पहले से ही सावधान रहेंगे. तो चलिए आपको बता देते हैं कि दिल से जुड़ी वो कौन-सी प्रॉब्लम्स है जिनका लेडीज को खास तौर पर ख्याल रखना चाहिए.

यह भी पढ़े : इस फल के जितने फायदे हैं लाजवाब, उससे कहीं ज्यादा खाना है खतरनाक

इस प्रॉब्लम के लिए सबसे बड़ा कारण है स्ट्रेस. स्ट्रेस दिल से जुड़ी प्रॉब्लम्स को कई गुना बढ़ावा देता है. स्ट्रेस बॉडी को बिल्कुल भी एक्टिव नहीं रहना देता. इसका नतीजा ये देखने को मिलता है कि लेडीज अपनी हेल्थ पर ध्यान नहीं दे पाती. यही स्ट्रेस दिल के लिए बेहद नुकसानदायक साबित होने लगता है. ऐसी कंडीशन में लोग डॉक्टर के पास तो जाते ही हैं. लेकिन, ऐसे में थेरेपिस्ट की मदद भी ली जा सकती हैं.

इसकी एक प्रॉब्लम सूजन भी है. यदि आपको रुमेटाइड अर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis) है, तो आपको दिल से जुड़ी प्रॉब्लम्स होने की संभावनाएं बनी रहती हैं. इसके लिए बेहद जरूरी है कि जितना हो सके योगा करें. दवाओं के साथ बॉडी में आ रही सूजन को भी कंट्रोल में रखना चाहिए. लेकिन, स्टेरॉयड (steroid) से दूर रहने की कोशिश करें. ये आपकी दिल की बीमारी को बढ़ा सकता है. दिल की सेफ्टी के लिए अच्छा है कि डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़े : गठिया को पछाड़ पछाड़ कर दूर भगाए, ये दमदार और बेजोड़ घरेलू उपाय

वहीं हार्ट से जुड़ी प्रॉब्लम में सांस लेने में भी काफी दिक्कत होती है. जब भी आपको ये लगे कि आपको सांस लेने में परेशानी हो रही है तो ऐसे में डॉक्टर से जरूर एडवाइस लें. ऐसे तो हार्ट प्रॉब्लम मेन्स (mens) में ज्यादा देखी जाती है. लेकिन, ब्रोकन हार्ट सिंड्रोम की प्रॉब्लम सबसे ज्यादा लेडीज (ladies) में देखने को मिलती है. ऐसा होने का कारण फीलिंग्स और इमोशन्स हो सकते हैं. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि जब स्ट्रेस हार्मोन (stress hormone) बहुत ज्यादा रीलिज होने लगता है. ऐसी कंडीशन में जल्द से जल्द इसका इलाज कराना चाहिए.

First Published : 27 Sep 2021, 01:01:56 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.