News Nation Logo
Banner

बालों के झड़ने से हैं परेशान तो अपनाएं ये उपाय, मिलेगी राहत

बालों का झड़ना आजकल आम समस्‍या हो गई है. बड़े तो इस समस्‍या से जूझ ही रहे हैं, बच्‍चों में यह परेशानी बढ़ गई है. ऐसे में पेरेंट्स का चिंतित होना स्‍वाभाविक है. आज के प्रदूषण भरे माहौल में बालों (Hair) को काफी नुकसान हो रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 01 Aug 2020, 09:36:38 PM
Hair Fall  2

बालों के झड़ने से हैं परेशान तो अपनाएं ये उपाय (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्ली:

बालों का झड़ना (Hair Fall) आजकल आम समस्‍या हो गई है. बड़े तो इस समस्‍या से जूझ ही रहे हैं, बच्‍चों में यह परेशानी बढ़ गई है. ऐसे में पेरेंट्स का चिंतित होना स्‍वाभाविक है. आज के प्रदूषण भरे माहौल में बालों (Hair) को काफी नुकसान हो रहा है. दूषित जल से नहाने और पीने से भी यह समस्या बढ़ रही है. जानकारों का कहना है कि दो-तीन वर्षों तक हर महीने बाल लगभग एक सेंटीमीटर बढ़ते हैं, उसके बाद वे विश्राम की अवस्था में आ जाते हैं और फिर गिरने लगते हैं और नए बाल उगते हैं. जानकार कहते हैं कि 50 से 100 बाल रोजाना गिरें तो चिंता की बात नहीं है लेकिन इससे अधिक बाल गिरें तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

यह भी पढ़ें : डॉक्टरों का दावा- बाल झड़ने या गंजेपन की समस्या होगी दूर, जल्द अपनाया जाएगा ये तरीका

अलोपेसिया (Alopecia) बीमारी के चलते बच्‍चों के बाल झड़ते हैं. समय पर उपचार न होने से दोबारा बाल नहीं उगते. अलोपेसिया के अलावा टेलोजन एफ्लूवीअम (Telogen effluvium) से भी बच्चों के बाल झड़ने लगते हैं. कई बार अचानक किसी सदमे, आघात, भावनात्मक परेशानियों, तेज बुखार से भी बच्चों के बाल झड़ने लगते हैं.

आजकल फैशन में टीनएजर्स बाल रंगने लगते हैं, ब्‍लीच करने लगते हैं. इससे भी बालों पर बुरा प्रभाव पड़ता है. हेयर ड्रायर के प्रयोग से भी बालों की जड़ें कमजोर हो जाती हैं. साथ ही साफ-सफाई और तेल नहीं लगाने से भी बाल झड़ने लगते हैं.

यह भी पढ़ें : महिलाओं के गिरते बाल, हो सकता है ट्यूमर का संकेत

बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपचार

  • आंवला: बालों के लिए आंवला में मौजूद विटामिन-सी के साथ-साथ क्वेरसेटिन जैसे यौगिक होते हैं. आंवला बालों को मजबूती प्रदान करने के साथ ही उनका विकास करता है और बालों को सफेद होने और झड़ने से रोकता है.
  • प्याज का रस: इससे न सिर्फ बालों का विकास होता है, बल्‍कि बाल टूटने से रुक जाते हैं. प्‍यास के रस में क्वेरसेटिन (quercetin) नाम का घटक पाया जाता है, जो बालों के विकास के लिए फायदेमंद होता है.
  • भृंगराज तेल: इसमें मौजूद मेथनॉल नामक पोषक तत्व बालों को विकसित करता है. इसके तेल से नियमित मालिश स्कैल्प के रक्त संचार में मदद कर सकती है.
  • बादाम का तेल: विटामिन-डी, ई के साथ कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन से भरपूर बादाम का तेल आपके बालों को झड़ने से बचाने के साथ ही उनका विकास करता है.
  • नारियल का तेल: इससे सिर में मसाज करने से बालों को झड़ने से रोकने के साथ ही संक्रमण को दूर करने में भी मदद मिलती है.

(Disclaimer: खबर में दी गई जानकारियां सामान्य जानकारी पर आधारित है. newsnation.com इनकी पुष्टि नहीं करता. गंभीर समस्‍या होने पर डॉक्‍टर से संपर्क करें.)

First Published : 01 Aug 2020, 09:36:38 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×