News Nation Logo

Hair loss: इन 5 चीजों को खाना छोड़ दें, बालों का झड़ना होगा तुरंत बंद

News Nation Bureau | Edited By : Shubhrangi Goyal | Updated on: 07 Oct 2022, 11:12:35 AM
hair loss

hair loss (Photo Credit: social media)

नई दिल्ली:  

स्वस्थ, मजबूत और चमकदार बाल पुरुषों और महिलाओं दोनों  को पसंद होते हैं. सुंदर बाल केवल महंगे हेयर-केयर उत्पादों का उपयोग करने से ही नहीं मिलते हैं. इसके लिए जरूरी है कि कुछ घरेलू उपचार किया जाए. त्वचा की तरह ही स्वस्थ बाल भी एक फिट स्वास्थ्य का संकेत होते हैं. आपके द्वारा खाया गया भोजन आपके बालों को या तो नुकसान पहुंचा (Hair Loss) सकता हैं या कुछ चमत्कार कर सकता हैं.अब ये आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह का खाना का रहे हैं.

हम पहले से ही जानते हैं कि तनाव और प्रदूषण (Pollution) हमारे बालों पर कहर बरपाते हैं, हालांकि, हम यह नहीं जानते हैं कि कुछ खाद्य पदार्थ भी बालों के झड़ने और बालों के पतले होने की समस्या में योगदान दे रहे हैं. जबकि लोग आमतौर पर बालों की समस्याओं को तनाव और जेनेटिक्स फेक्टर को जिम्मेदार ठहराते हैं. वहीं दूसरा सबसे महत्वपूर्ण फेक्टर है इंसान का खान पान. अध्ययनों से पता चला है कि इंसुलिन (Insulin) प्रतिरोध, जो मधुमेह और मोटापे को बढ़ावा देता है. आपके बालों को खो सकता है या यहां तक ​​कि पुरुषों और महिलाओं दोनों में गंजापन भी पैदा कर सकता है. इंसुलिन प्रतिरोध के पीछे नंबर एक कारक चीनी, स्टार्च में उच्च आहार और  कार्बोहाइड्रेट है. 

ये भी पढ़ें-Home Decor: दीवाली से पहले घर को कैसे सजाएं, जानें Tips

सोडा

बता दें आहार सोडा में एस्पार्टेम नामक एकस्वीटनर होता है, जो शोधकर्ताओं ने पाया है कि बालों के रोम को नुकसान पहुंचा सकता है.बाल मुख्य रूप से प्रोटीन से बने होते हैं, जिसे केराटिन कहा जाता है.  केराटिन एक प्रोटीन है जो आपके बालों को संरचना देता है. शराब का प्रोटीन संश्लेषण पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और इससे बाल कमजोर और बिना चमक के हो सकते हैं.

अंडे

अंडे बालों के लिए बहुत अच्छे होते हैं लेकिन इन्हें कच्चा नहीं खाना चाहिए. कच्चे अंडे का सफेद भाग बायोटिन की कमी का कारण बन सकता है, विटामिन जो केराटिन के उत्पादन में सहायता करता है.

मछली
मर्करी का हाई लेवल अचानक बालों के झड़ने का कारण बन सकता है. मर्करी एक्सपोजर का सबसे आम स्रोत मछली है क्योंकि पिछले कुछ दशकों में जलवायु परिवर्तन और अधिक मछली पकड़ने के कारण मछली में मिथाइल-मर्करी की एकाग्रता में वृद्धि हुई है. 

 

First Published : 07 Oct 2022, 11:12:35 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.