News Nation Logo

Good News: कोरोना का होगा अब The End, लोगों को इस तारीख से मिलने लगेगी वैक्सीन

रूस की सेचेनोव विश्वविद्यालय ने बड़ा दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस का वैक्‍सीन बना लिया है. यूनिवर्सिटी ने कहा है कि वह अगस्‍त तक वैक्सीन को मरीजों के बीच उपलब्‍ध भी करा देंगी.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 14 Jul 2020, 04:02:56 PM
corona

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

पूरा विश्व कोरोना संकट से जूझ रहा है. किसी भी देश के पास इसका इलाज नहीं है. कोरोना (Corona) के कहर से लाखों लोग इसके काल में समा गए. विश्व में पिछले 24 घंटे में 1.95 लाख नए मामले सामने आए हैं, जबकि 3,727 लोगों की मौत हो गई. वहीं एक करोड़ 32 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं. जबकि मरने वालों की संख्या पांच लाख 74 हजार के पार पहुंच गई है. वहीं भारत में कोरोना मरीजों की संख्या 9 लाख के पार पहुंच गई है. हर किसी को इसकी वैक्सीन और दवाई का इंतजार है. लेकिन अभी तक ना तो इसकी वैक्सीन बनी और ना ही दवाई. लेकिन रूस से एक ऐसी खबर आई है, जो लोगों को थोड़ा सुकुन दे रही है.

यह भी पढ़ें- 'कांग्रेस से क्रैश लैंडिंग' के बाद बोले पायलट- सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं

वैक्‍सीन इंसानों के लिए सेफ पाई गई

एक बड़े न्यूज वेबसाइट के मुताबिक रूस की सेचेनोव विश्वविद्यालय ने बड़ा दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस का वैक्‍सीन बना लिया है. यूनिवर्सिटी ने कहा है कि वह अगस्‍त तक वैक्सीन को मरीजों के बीच उपलब्‍ध भी करा देंगी. यह दावा वाकई लोगों के बीच एक खुशखबरी है. अच्छी बात ये है कि ह्यूमन ट्रायल में यह वैक्‍सीन इंसानों के लिए सेफ पाई गई है. हालांकि यह एक स्मॉल ट्रायल था, जो कि 38 वालंटियर्स पर किया गया है. इसके सारे ट्रायल गमलेई नैशनल रिसर्च सेंटर में पूरे किए गए हैं. वहीं रिसर्च हेड ने दावा किया है कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि 12 से 14 अगस्‍त के बीच वैक्सीन 'सिविल सर्कुलेशन' में आ जाएगी और उसके बाद इसका बड़े पैमाने पर निजी कंपनियां प्रॉडक्‍शन शुरू कर देंगी. 

यह भी पढ़ें- कोविड मरीजों के लिए बड़ी राहत, इस कंपनी ने सस्ती कर दी कोरोना वायरस की दवा

वैक्सीन का 3 फेज में ट्रायल होगा

उन्होंने ये भी कहा कि वैक्सीन का 3 फेज में ट्रायल होगा, जिस किसी को ये वैक्सीन दी जाएगी उस पर पूरा निरक्षण होगा. प्रथम 1 और प्रथम 2 पर सेफ्टी की जांच होती है, जिससे तीसरे चरण में बड़ी संख्या में इसका ट्रायल हो सके. अगर रूस का यह दावा सच साबित होता है तो यह दुनिया का पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन होगी.

First Published : 14 Jul 2020, 03:36:36 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.