News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

बच्चों की Covaxin को DCGI की मंजूरी, 3 जनवरी से लगेगा बच्चों को टीका

12-18 साल के बच्चों के लिए  भारत बायोटेक और ICMR ने मिलकर कोवैक्सीन को बनाया है. बच्चों की कोवैक्सीन को एक्सपर्ट पैनल की मंजूरी मिल गयी है और DCGI ने आपातकालीन स्थिति के लिए अप्रूवल दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 26 Dec 2021, 11:20:56 PM
covaxine

बच्चों की कोवैक्सीन (Photo Credit: फाइल फोटो.)

highlights

  • 12-18 साल के बच्चों के लिए भारत बायोटेक और ICMR ने मिलकर कोवैक्सीन बनाया है
  • बच्चों की कोवैक्सीन को एक्सपर्ट पैनल की मंजूरी और DCGI ने दिया आपातकालीन अप्रूवल  
  • भारत में अबतक 95 करोड़ कोरोना टीके लगाए जा चुके हैं

नई दिल्ली:

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की बढ़ती दहशत के बीच DCGI ने Covaxin की बच्चों को दी जाने वैक्सीन को मंजूरी दे दी है. 12 से 18 साल के बच्चे को ये वैक्सीन आपातकाल स्थिति में दी जा सकेगी. इसके साथ ही शनिवार रात को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 जनवरी से बच्चों के टीकाकरण की घोषणा की है. 2-18 साल के बच्चों के लिए भारत बायोटेक और ICMR ने मिलकर कोवैक्सीन को बनाया है. बच्चों की कोवैक्सीन को एक्सपर्ट पैनल की मंजूरी मिल गयी है. DCGI ने कोवैक्सीन के उपयोग के लिए आपात अप्रूवल दे दी है. बच्चों की कोवैक्सीन  कोरोना टीके पर आज दोपहर में एक बड़ी खबर आई. इसमें कहा गया कि 12 साल से 18 साल के बच्चों को कोवैक्सीन का टीका लगाया जा सकेगा. फिलहाल DCGI की मंजूरी आपातकालीन स्थिति के लिए है.

भारत बायोटेक ने अपने बयान में बताया कि उन्होंने अपने कोरोना टीके कोवैक्सीन से जुड़े क्लीनिकल ट्रायल (12-18 साल के बच्चों पर) के डेटा को CDSCO के पास भेजा था. डेटा को देखकर CDSCO और सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी (SEC) ने इसकी सकारात्मक सिफारिश की. अब उनको CDSCO की तरफ से कुछ अन्य मंजूरियों का भी इंतजार है जिसके बाद इसको बच्चों के लिए लॉन्च किया जाएगा.  

यह भी  पढ़ें: Omicron : New Year आते-आते लग सकते हैं कई और राज्यों में प्रतिबंध

बता दें कि भारत बायोटेक और ICMR ने मिलकर कोवैक्सीन को बनाया है. वह भारतीय कोरोना टीका है. कोरोना वायरस के खिलाफ Covaxin क्लीनिकल ट्रायल्स में लगभग 78 प्रतिशत असरदार साबित हुई थी. भारत बायोटेक की कोवैक्सीन ने 18 साल से कम के बच्चों पर वैक्सीन का ट्रायल पूरा कर लिया है. इसमें सितंबर में फेज-2, फेज-3 का ट्रायल हो चुका है. इसका डेटा DCGI को सौंपा जा चुका है.

संभावित तीसरी लहर से पहले होगी राहत की बात कोवैक्सीन (Covaxin Corona Vaccine) कोरोना टीके को बच्चों के लिए मंजूरी मिल जाती है तो यह राहत की बात होगी. क्योंकि कोरोना की संभावित तीसरी लहर में बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे, ऐसा माना जा रहा है. भारत की बात करें तो अभी देश में 18 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना टीका लगाया जा रहा है. इसमें कोविशील्ड, कोवैक्सीन और स्पूतनिक का कोरोना टीका लगाया जा रहा है. भारत में अबतक 95 करोड़ कोरोना टीके लगाए जा चुके हैं.

First Published : 25 Dec 2021, 09:42:01 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो