News Nation Logo

Ayurveda: जड़ी-बूटियां जो तनाव और चिंता से लड़ने में आपकी मदद करती हैं

सामान्य स्वास्थ्य समस्याएं या काम का दबाव हमारे मस्तिष्क (brain) में मौजूदा पैनिक बटन को उत्तेजित करता है. लोग अपने दिमाग को शांत करने के लिए विभिन्न ओवर-द-काउंटर दवाओं और मैडिटेशन (meditation) जैसी तकनीकों को अपनाते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Radha Agrawal | Updated on: 11 Nov 2021, 12:15:58 PM
Herbs

Herbs (Photo Credit: News Nation )

नई दिल्ली :

अपने निजी और पेशेवर जीवन के बीच खिलवाड़ करते हुए, हम अक्सर तनावग्रस्त और चिंतित महसूस करते हैं. तनावपूर्ण ज़िन्दगी हमारी दिनचर्या को मुश्किल बना देती है. ऐसे में स्वस्थ रहने के लिए यह बेहद जरुरी है कि हम अपनी दिनचर्या पर विशेष रूप से ध्यान दें. यहां तक ​​कि सामान्य स्वास्थ्य समस्याएं या काम का दबाव भी हमारे मस्तिष्क (brain) में मौजूदा पैनिक बटन को उत्तेजित करता है. लोग अपने दिमाग को शांत करने के लिए विभिन्न ओवर-द-काउंटर दवाओं (over the counter medicines) और मैडिटेशन (meditation) जैसी तकनीकों को अपनाते हैं.

लेकिन हम आपको  बताना चाहेंगे कि इसके अलावा कुछ प्राकृतिक जड़ी बूटियां भी हैं जिन्हें आप अपने दैनिक जीवन में तनाव और चिंता से लड़ने के लिए ले सकते हैं जिसका आपके शरीर पर साइड- इफ़ेक्ट (body side effects)  भी नहीं होगा. हमने आपके लिए एक सूची त्यार की है जिसको पढ़कर आप भी लाभकारी जड़ी- बूटियों का सेवन कर सकते हैं. 

1. अस्वगंधा (Ashwagandha) 

अश्वगंधा एक प्रकार का शक्तिशाली कायाकल्प जड़ी-बूटी है. जिसका उपयोग पिछले 2000 वर्षों से आयुर्वेदिक दवा तैयार करने में किया जा रहा है. इंडियन जर्नल ऑफ साइकोलॉजिकल मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अश्वगंधा शरीर में कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में मदद करता है, जो मुख्य तनाव हार्मोन का उत्पाद करता है.  अश्वगंधा का नियमित करने से तनाव, चिंता, अवसाद और खराब नींद की समस्याएं पूर्ण रूप से खत्म हो जाती है.

यह भी पढ़ें : Zodiac Signs: क्या आप भी आते हैं उन अद्भुत राशियों में जिनका विल पावर है सबसे मजबूत

2. भृंगराज (Bhringraj)

भृंगराज चाय की पीने से आपका दिमाग शांत हो सकता है और आपके शरीर को आराम भी मिलता है.आयुर्वेद में भृंगराज (bhringraj in Hindi) को केसराज के नाम से भी जाना जाता है.  इसे वर्षों से झड़ते बालों को रोकने, बालों को काला करने एवं त्वचा संबंधी बीमारी के उपचार के लिए प्रयोग जाता है. इस जड़ी बूटी में पाए जाने वाले गुण आपके रक्त परिसंचरण को बढ़ाकर आपके मस्तिष्क को सक्रिय कर देते हैं जो अंततः आपके दिमाग और आपके शरीर को आराम देने में मदद करते है. 

3. ब्राह्मी (Brahmi)

ब्राह्मी का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सक में लंबे समय से किया जा रहा है. ब्राह्मी का उपयोग स्मृति में सुधार, चिंता को कम करने और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से निपटने के लिए किया जाता है. शोधकर्तायों का मानना है कि ब्राह्मी मस्तिष्क की नसों में रक्त संचार को बढ़ा देती है और चिंता, तनाव को कम करने में एहम भूमिका निभाती है. इसके अलावा, यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो मधुमेह और कैंसर जैसी अन्य जानलेवा बिमारियों के इलाज में फायदेमंद होती है. 

यह भी पढ़ें : Relationship Goals: महिलाओं को खूब पसंद आते है ऐसे लड़के

4. तुलसी (Tulsi)

तुलसी लगभग हर भारतीय घर में पाई जाने वाली एक सामान्य जड़ी- बूटी है. तुलसी एक ऐसी जड़ी- बूटी है जिसकी हर हिन्दू घर में पूजा होती है. यह जड़ी बूटी अपने शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए जानी जाती है और ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने में बेहद कारगर साबित होती है. जैसा की आप भी जानते है तुलसी की चाय का सेवन करने से शरीर में मौजूदा टॉक्सिक पदार्थ खत्म हो जाते हैं. तुलसी आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करता है साथ ही आपको सर्दी और फ्लू से दूर भी रखता है. 



First Published : 11 Nov 2021, 12:15:58 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो