News Nation Logo

इन सभी आदतों से कमज़ोर हो सकती है आपकी याद्दाश्त, कहीं आपकी भी तो नहीं हो रही ऐसी हालत

उम्र बढ़ने से मेमोरी लॉस (Memory Loss) तो होती ही है, साथ ही अल्जाइमर (Alzheimer’s Disease), डिमेंशिया जैसी बीमारी भी हो सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Nandini Shukla | Updated on: 24 Feb 2022, 03:42:19 PM
brain

इन सभी आदतों से कमज़ोर हो सकती है आपकी याद्दाश्त (Photo Credit: istock)

New Delhi:  

अक्सर लोगों में भूलने की बीमारी देखी जाती है. कुछ लोगों में बात भूलने की, सामान भूलने की, कोई भी चीज़ हो उसे ज्यादा लम्बे समय तक याद न रखने की आदत बन जाती है. बढ़ती उम्र के साथ अक्सर याद करने की क्षमता कमजोर पड़ने लगती है. हालांकि, बुजुर्गों में यह समस्या अधिक देखने को मिलती है. उम्र बढ़ने से मेमोरी लॉस (Memory Loss) तो होती ही है, साथ ही अल्जाइमर (Alzheimer’s Disease), डिमेंशिया जैसी बीमारी भी हो सकती है. मानव मस्तिष्क अनगिनत चीजों को स्टोर करता है, उसे याद रखता है. आप खाते-पीते हैं, चलते-फिरते हैं, बोलते हैं, ये सभी काम मस्तिष्क (Brain) में मौजूद अलग-अलग हिस्सों के जरिए है. लेकिन अगर आपको नार्मल सी बता भी याद नहीं रहती है तो ये समस्या का कारण है. आप फ़ौरन अपने नज़दीकी डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं. या तो यहां जानें याद्दाश्त कमज़ोर होने के कारण. 

यह भी पढ़ें- पेट्रोल पंप पर जाते ही सूंघने लगते हैं पेट्रोल ? तो आज ही करें इस हरकत से तौबा

याद्दाश्त कमजोर होने के कारण

-अगर आप ज्यादा तनाव, एंग्जायटी, डिप्रेशन में रहते हैं, तो इससे दिमाग पर नेगेटिव असर पड़ता है. इससे मस्तिष्क थकान महसूस करता है और अपना कार्य सही से नहीं करता. क्रोनिक डिप्रेशन के कारण भी आप चीजों को भूलने लगते हैं. जिन लोगों को डिप्रेशन की समस्या होती है, उनकी याद्दाश्त भी कमजोर हो जाती है. 

-महिलाओ  कारण भी भूलने की समस्या को बुलावा देता है. यदि आप पिछले कई महीनों से किसी खास दवाई का सेवन कर रहे हैं, तो इससे भी याद करने की क्षमता प्रभावित होती है. डिप्रेशन या एंग्जायटी की दवाओं को लेने से ये समस्या बढ़ सकती है.

-अगर आपको किसी दुर्घटना में सिर पर चोट लगी है, तो इससे भी मेमोरी लॉस होने की समस्या कई बार बढ़ जाती है.

-यदि आप प्रतिदिन 7-8 घंटे की नींद नहीं लेते हैं, तो इससे भी याद करने की क्षमता प्रभावित होती है. कम सोने से आपका दिमाग फ्रेश नहीं होता है. और फिर शुरू होती है भूलने की बीमारी. 

-कई बार खानपान में पौष्टिक चीजों की कमी से भी दिमाग पर नेगेटिव असर पड़ता है. 

यह भी पढ़ें- Tasty चाट खाएं, अपना वजन घटाएं ! सेहत के लिए भी है फायदेमंद

First Published : 24 Feb 2022, 03:42:19 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.