News Nation Logo
Banner

Health Benefits Of Kissing: प्यार भरी KISS करें और खुद को सेहत से भरें

Kiss करना किसी भी हेल्दी रिलेशनशिप का एक पार्ट है. लेकिन किस करने से हेल्थ को भी कई बेनेफिट्स होते हैं. किस करने से आपको ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) और कोलेस्ट्रॉल (Cholestrol) जैसी गंभीर बीमारियों से राहत मिल सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Gaveshna Sharma | Updated on: 06 Jan 2022, 12:17:28 PM
article

Health Benefits Of Kissing: प्यार भरी KISS करें और खुद को सेहत से भरें (Photo Credit: Social Media)

नई दिल्ली :  

किस (Kiss) करना एक बहुत ही पर्सनल फीलिंग है. किस करना किसी भी हेल्दी रिलेशनशिप का एक पार्ट होता है जो कि रिलेशनशिप में अपनी एक अलग इम्पोर्टेंस रखता है. लेकिन इसकी अहमियत सिर्फ दो लोगों के प्यार तक ही नहीं बल्कि इसके कई सारे हेल्थ बेनेफिट्स भी हैं. पार्टनर को किस करना दोनों की मेंटल व फिजीकल हेल्थ के लिए शानदार साबित हो सकता है. किसिंग (Kissing) से आपको ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) और कोलेस्ट्रॉल (Cholestrol) जैसी गंभीर बीमारियों से राहत मिल सकती है. तो चलिए जानते हैं क्या है किस करने के बेजोड़ फायदे. 

यह भी पढ़ें: Omicron Severe Shocking Symptom: झड़ते बाल हैं आपके कोरोना की चपेट में आने का संकेत, रिसर्च में हुआ खुलासा

इम्यूनिटी 
आपको जानकर हैरानी होगी कि किस करने से आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी मजबूत होती है. 2014 में एक स्टडी के मुताबिक 'माउथ टू माउथ' किस करने से दोनों पार्टनर्स का स्लाइवा एक-दूसरे में ट्रांसफर करता है. इस स्लाइवा में कुछ नये कीटाणुओं की हल्की मात्रा हो सकती है. जिसके संपर्क में आने पर आपका इम्यून सिस्टम उसके खिलाफ एंटीबॉडी बनानी शुरू कर देता है और फ्यूचर में आपके उस कीटाणु से बीमार होने का खतरा कम कर देता है.

                         

स्ट्रेस 
छोटी छोटी बातों को लेकर स्ट्रेस्ड हो जाना आज कल आम हो गया है. वहीं, इस स्ट्रेस को बढ़ाने का काम कोर्टिसोल नामक एक हॉर्मोन करता है. ऐसे में किस करना, गले लगाना या प्यार का इजहार करने जैसे प्यार दिखाने वाले एक्शन्स से दिमाग में कोर्टिसोल का लेवल कम होता है. इसके साथ ही किसिंग से दिमाग में ऑक्सीटोसिन हॉर्मोन रिलीज होता है. जो कि आपके स्ट्रेस को बर्स्ट करने का काम करता है. 

                         

हाई ब्लड प्रेशर 
'किसिंग: एवरिथिंग यू एवर वांटेड टू नो अबाउट वन ऑफ लाइफ स्वीटेस्ट प्लेजर' ('Kissing: Everything You Ever Wanted to Know About One of Life's Sweetest Pleasures') की लेखक व किसिंग एक्सपर्ट Andrea Demirjian के मुताबिक किस करने से हार्ट बीट इस तरह से बढ़ती है की उससे ब्लड वेसल्स चौड़ी हो जाती हैं और ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बनता है. जिसका सीधा असर हाई ब्लड प्रेशर पर होता है और ब्लड प्रेशर नार्मल होने लगता है. 

                         

पीरियड्स क्रैंप 
किस करने के कारण ब्लड वेसल्स के चौड़े होने पर शरीर में ब्लड फ्लो सुधर जाता है. इस कारण महिलाओं को पीरियड्स क्रैंप से राहत मिल जाती है और फील-गुड हॉर्मोन में बढ़ोतरी होती है.

                         

कोलेस्ट्रॉल 
किस करने से आपको दिल की बीमारियों व स्ट्रोक के खतरे से राहत मिल सकती है. 2009 की एक स्टडी में पाया गया है कि चूमने से टोटल सीरम कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी देखी जाती है.

                        

हैप्पी हार्मोन्स 
किसिंग आपके ब्रेन को कैमिकल्स का एक कोकटेल रिलीज करने के लिए ट्रिगर करता है, जिससे आपको अच्छी फीलिंग्स आती है. इसमें ऑक्सीटोसिन, डोपामिन और सेरोटोनिन जैसे कैमिकल्स होते हैं, जो आपकी भावनाओं और जुड़ाव को मजबूत बनाने के लिए एनकरेज करते हैं. 

                       

ऑक्सीटोसिन 
ऑक्सीटोसिन एक कैमिकल है, जिसका संबंध कप्लस की बॉन्डिंग से है. ये कैमिकल उस वक्त रिलीज होता है, जब आप किसी से खास जुड़ाव महसूस करते हैं. आपके लॉन्ग टर्म रिलेशनशिप के साथ-साथ कई तरह के सेहत संबंधी मामलों में भी इसकी खास भूमिका होती है. 

                        

सिरदर्द-ऐंठन 
ब्लड वेसल्स के डायलेट होने और ब्लड सर्कुलेशन के बढ़ने से ऐंठन की समस्या से भी राहत मिलती है. एक्सपर्ट कहते हैं कि ब्लड वेसल्स के डायलेशन से जब ब्लड प्रेशर नीचे आता है तो सिरदर्द जैसी समस्याओं से भी राहत मिल जाती है. 

                              

सेल्फ कॉन्फिडेंस 
किसिंग से शरीर में हैप्पी हार्मोन बूस्ट होता है और कॉर्टिसोल लेवल घटता है. इससे हमारा आत्मविश्वास और अधिक प्रबल होता है. साल 2016 में हुई एक स्टडी में अनहैप्पी लोगों में कॉर्टिसोल का स्तर काफी ज्यादा पाया गया था. 

First Published : 06 Jan 2022, 12:17:28 PM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.