News Nation Logo
Banner

उल्लू की तरह जाग जाग कर थक गए हैं तो आजमायें ये 5 बेजोड़ योगासन

रात में नींद न आने के पीछे कई कारण होते हैं. जैसे आपकी लाइफस्टाइल में बदलाव, आपकी डाइट में बदलाव या फिर शायद दिन में सोने की आदत. इसके अलावा एक और ऐसा गंभीर कारण हो सकता है जो आपको रात में गहरी नींद लेने से रोके और वो है इनसॉम्निया.

News Nation Bureau | Edited By : Gaveshna Sharma | Updated on: 31 Aug 2021, 11:12:37 AM
YOGASAN FOR NIGHT SLEEP

YOGASAN FOR NIGHT SLEEP (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • बालासन से दूर होगी रात को नींद न आने की परेशानी 
  • स्लीपिंग स्वान आसन भी अनिद्रा को करे दूर 

नई दिल्ली :

अगर आप उन लोगों में से हैं जो रात को अपने बिस्तर पर करवट बदलते-बदलते वक्त बिता देते हैं या सोने के लिए कभी तकिए के नीचे मुंह दबाते हैं तो कभी टांगों को मोड़कर रखते हैं और सोचते हैं कि काश जल्दी से नींद आ जाए बस, लेकिन नींद है कि आती नहीं तो आज का हमारा ये लेख आपके बड़ा काम का है.  नींद ऐसी चीज है, जो हमारे चाहने या न चाहने से नहीं आती है. जहां एक तरफ कुछ लोग बिस्तर पर लेटते ही सो जाते हैं वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो जिनका रात भर जागरण चलता रहता है लेकिन नींद आने का नाम नहीं लेती. रात में नींद न आने के पीछे कई कारण होते हैं. जैसे आपकी लाइफस्टाइल में बदलाव, आपकी डाइट में बदलाव या फिर शायद दिन में सोने की आदत.

यह भी पढ़ें: दूसरी लहर से कम घातक होगी तीसरी लहर, इस माह में होगा चरम

इसके अलावा एक और ऐसा गंभीर कारण हो सकता है जो आपको रात में गहरी नींद लेने से रोके और वो है इनसॉम्निया. हालांकि, ऐसे कई तरीके हैं, जिनके जरिए आप रात को अच्छी नींद का रास्ता तलाश सकते हैं. अगर आपको भी रात को नींद नहीं आती है तो सोने से पहले योग करना आपकी इस प्रॉब्लम को जड़ से दूर कर सकता है.  5 ऐसे योगासन हैं जो रोजाना रात को सोने से पहले करके आप अच्छी और गहरी नींद ले सकते हैं. 

1. उत्तानासन (Uttanasana) 
उत्तानासन को पादहस्तासन भी कहा जाता है. इस आसन में सामने की तरफ झुककर हाथों से अपने पैरों को पकड़ना होता है. इस आसन को करने से हमारी पीठ और गर्दन की मांसपेशियों को अच्छा खिंचाव मिलता है. ये हमारे शरीर की नसों को उत्तेजित करता है और ब्लड की सप्लाई बढ़ा देता है. इसके अभ्यास से रीढ़ की हड्डी में लचीलापन और रक्त संचार बढ़ता है.

2. मार्जरासन (Marjariasana)
इस आसन को करने के लिए अपने घुटनों और हाथों के बल आएं और शरीर को एक मेज की तरह बना लें. अपनी पीठ से मेज का ऊपरी हिस्सा बनाएं और हाथ और पैर से मेज के चारों पैर बनाएं. अपने हाथ कन्धों के ठीक नीचे, हथेलियां जमीन से चिपकी हुई रखें और घुटनो में पुट्ठों जितना अंतर रखें. गर्दन सीधी और नजरें सामने रखें. सांस लेते हुए अपनी ठोड़ी को ऊपर कि ओर सिर को पीछे ले जाएं. अपनी नाभि को जमीन की ओर दबाएं और अपनी कमर के निचे के हिस्से को छत की ओर ले जाएं. दोनों पुट्ठों को सिकोड़ लें. खिंचाव महसूस होने तक इस स्थिति को बनाएं रखें. साथ ही लंबी गहरी सांसें लेते और छोड़ते रहें. इसकी विपरीत स्थिति करने के लिए सांस छोड़ते हुए ठोड़ी को छाती से लगाएं और पीठ को धनुष आकार में जितना ऊपर हो सके उतना उठाएं. पुट्ठों को ढीला छोड़ दें. इस स्थिति को कुछ समय तक बनाएं रखें और फिर पहले कि तरह मेजनुमा स्तिथि में आ जाएं.

यह भी पढ़ें: इन 5 आसान तरीकों से बढ़ाएं अपना स्टैमिना, इम्युनिटी बनाए स्ट्रॉग

3. बुद्ध कोणासन (Baddha Konasana) 
इसे तितली आसन भी कहा जाता है. इस आसन को करने से व्यक्ति का शरीर रिलैक्स रहता है. जिससे आपको अच्छे से नींद आ पाती है. ये आसन आपके शरीर के जोड़ों को फ्री करने और बेहतर नींद दिलाने में बेहद कारगर होता है.

4. बालासन (Balasana) 
अनिद्रा के लिए यह आसन सबसे अच्छा माना जाता है. इस आसन को करने के दौरान शरीर उसी मुद्रा में होता है, जिसमें बच्चा गर्भ में रहता है. इसीलिए इस आसन को बालासन कहा जाता है. इस आसन के अभ्यास से शरीर को गहरा और आरामदायक स्ट्रेच मिलता है.

यह भी पढ़ें: ये एक्सरसाइज करें रोज, नहीं देना पड़ेगा हार्ट को दवाइयों का डोज

5. स्लीपिंग स्वान
स्लीपिंग स्वान न केवल एक आरामदायक और नींद से ओत-प्रोत आसन है बल्कि इसे बिस्तर पर लेटे-लेटे भी बड़ी आसानी से किया जा सकता है. इस आसन को करने के लिए आपको बस अपने सामने एक तकिया रखकर बैठना है. अब अपने बाएं घुटने को मोड़ें और अपने बाएं पंजे को दाई जांघ पर लाएं. अपने नितंब को थोड़ा ऊपर उठाएं और अपने दाहिने पैर को पीछे की ओर फैलाएं. अपनी बाहों को आगे बढ़ाएं और अपना सिर तकिए पर रखें. लगभग 20 सेकंड के लिए स्थिति में रहें और फिर आराम करें. 

First Published : 31 Aug 2021, 11:02:24 AM

For all the Latest Health News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.