News Nation Logo
Banner

Fact Check: LAC पर तनाव के बीच अरुणाचल प्रदेश में ग्रामीणों के गांव छोड़ने का जानें सच

भारत और चीन की सेनाओं के बीच एलएसी पर तनाव बना हुआ है. इस बीच सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हो रही है. वायरल खबर में दावा किया जा रहा है कि पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के बीच अरुणाचल प्रदेश के तवांग में मैकमोहन लाइन के पास के ग्रामी

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 11 Sep 2020, 02:50:33 PM
Fact Check

फैक्ट चेक (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत और चीन की सेनाओं के बीच एलएसी पर तनाव बना हुआ है. इस बीच सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल हो रही है. वायरल खबर में दावा किया जा रहा है कि पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के बीच अरुणाचल प्रदेश के तवांग में मैकमोहन लाइन के पास के ग्रामीणों ने गांव खाली कर दिया है. गांव खाली कराने की इस खबर को लोग पढ़कर परेशान हो गए है. वह सोच रह है कि क्या यह चीन से युद्ध की तैयारी तो नहीं है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रही गांव खाली कराने की खबर का हमने फैक्ट चेक किया. तो चलिए आपको बताते है इस खबर की सच्चाई.

यह भी पढ़ें : देवेन्द्र फडणवीस का उद्धव पर हमला, बोले- कंगना नहीं कोरोना से लड़े महाराष्ट्र सरकार

सोशल मीडिया पर किया जा रहा ये दावा फर्जी है. पीआईबी की तरफ से इस बात की पुष्टि की गई है. पीआईबी ने बताया है कि अरुणाचल प्रदेश के तवांग में मैकमोहन लाइन के पास किसी गांव को ग्रामीणों ने नहीं छोड़ा हैं. PIB Fact Check में यह दावा सही नहीं है. भारत और चीन की सीमा के पास ग्रामीण अपने गांवों को खाली नहीं कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : कांटी सीट: 2015 में निर्दलीय उम्मीदवार ने ध्वस्त कर दिए थे सारे समीकरण

दरअसल, इस तरह की खबरों को वायरल करके अफवाह फैलाई जाती है. इस तरह की वायरल खबरों के पीछे दुश्मनों का हाथ हो सकता है. भारत और चीन की सेनाओं के बीच एलएसी पर तनाव है, लेकिन किसी ग्रामीण ने गांव नहीं छोड़ा है.

First Published : 11 Sep 2020, 02:50:33 PM

For all the Latest Fact Check News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.