News Nation Logo
Banner

Fact Check: क्या सीएम अशोक गहलोत की रैली में पाकिस्तानी झंडे फहराए गए? जानें सच

राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच मुख्यमंभी अशोक गहलोत का वीडियो वायरल हो रहा है. उनके आस पास लोगों की भीड़ नजर आ रही है. देखने पर ये वीडियो किसी जनसभा की दिखाई पड़ती है.

News Nation Bureau | Edited By : Aditi Sharma | Updated on: 31 Jul 2020, 05:14:56 PM
cm ashok gehlot

सीएम अशोक गहलोत (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच मुख्यमंभी अशोक गहलोत का वीडियो वायरल हो रहा है. उनके आस पास लोगों की भीड़ नजर आ रही है. देखने पर ये वीडियो किसी जनसभा की दिखाई पड़ती है. इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि इस दौरान पाकिस्तान के झंडे फहराए गए. दरअसल इस वीडियो में लोग भारत के झंडे और कुछ ऐसे झंडे फहराते नजर आ रहे हैं जिसमें चांद और तारा बना हुआ है. एक यूजर ने फेसबुक पर इस वीडियो शेयर करते हुए कहा, 'और कितना सबूत दूं गद्दारी के जिस की रैली में पाकिस्तानी झंडा लहरा जाते हो उनसे देश भक्ति की उम्मीद क्या कर सकते हैं'.

यह भी पढ़े: क्या राफेल आने पर फ्रांस के राष्ट्रपति ने दी भारत को बधाई? जानें सच

क्या है इस वीडियो की सच्चाई?

इस वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने इनविड टूल की मदद से की फ्रेम्स का रिवर्स सर्च इमेज किया तो हमें साल 2018 में सीएम अशोक गहलोत के ट्वीटर अकाउंट से किया गया एक ट्वीट मिला जिसमें यही वीडियो शेयर की गई थी. यानी साल 21 नवंबर साल 2018 को सीएम गहलोत ने खुद ये वीडियो शेयर किया था और इसके साथ कैप्शन में लिखा था, 'आज यहां #Jodhpur में #EidMiladUnNabi के अवसर पर आयोजित जुलूस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया'. सीएम अशोक गहलोत के ट्वीट से एक बात साफ है कि ये वीडियो हाल फिलहाल का नहीं, बल्कि दो साल पहले यानी साल 2018 का है.

यह भी पढ़ें: भूमिपूजन का दावा करने वाली राजीव गांधी की तस्वीर का सच क्या है?

वहीं अगर हम इस वीडियो में दिखाई दे रहे झंडे को गौर से देखें तो देख सकते हैं कि इसमें एक हरे रंग के कपड़े पर चांद और तारा बना हुआ है जबकि पाकिस्तान के झंडे पर चांद और तारे के साथ बाईं तरफ एक सफेद पट्टी भी होती है, लेकिन वायरल वीडियो में दिखाई दे रहे झंडे में कोई भी सफेद पट्टी नहीं है. ऐसे में ये भी साफ हो दाता है कि वीडियो में दिखाई दे रहे झंडे पाकिस्तान के नहीं है. दरअसल ये झंडे मुसलमानों के धार्मिक झंडे हैं.  इस पूरी पड़ताल से ये साफ है कि सोशल मीडिया पर सीएम अशोक गहलोत के वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है.

First Published : 31 Jul 2020, 05:14:56 PM

For all the Latest Fact Check News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×