logo-image
लोकसभा चुनाव

Talat Hussain Death: पाकिस्तान के दिग्गज एक्टर तलत हुसैन का निधन, 83 की उम्र में कहा अलविदा

तलत हुसैन पाकिस्तानी सिनेमा के अलावा रेडियो, टीवी और थिएटर आर्टिस्ट भी थे. एक्टर के निधन पर पूरी फिल्म इंडस्ट्री ने शोक जाहिर किया है.

Updated on: 26 May 2024, 06:26 PM

नई दिल्ली:

Talat Hussain Death: पाकिस्तान के सबसे टैलेंटेड अभिनेताओं में से एक तलत हुसैन का निधन हो गया है. उन्होंने लंबी बीमारी के बाद रविवार को एक निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया. एक्टर करीब 83 साल के थे जब उन्होंने अपनी आखिरी सांस ली. सिनेमा के अलावा तलत हुसैन रेडियो, टीवी, थिएटर के दिग्गज एक्टर थे. उन्होंने पाकिस्तानी सिनेमा में भरपूर योगदान दिया था. हुसैन को "बंदिश", "कारवां", "हवाएं" और "परछाइयां" जैसे टीवी शोज के लिए जाना जाता है. साथ ही उन्होंने "चिराग जलता रहा", "गुमनाम" जैसी फिल्मों में भी शानदार काम किया था.  भारतीय फिल्म "सौतें की बेटी" में भी एक्टर नजर आए थे. 

ये भी पढ़ें- लग्जरी कार होने के बाद भी मनोज बाजपेयी चलाते हैं सस्ती कार, खुद को बताया अपर मिडिल क्लास!

ACP ने दी श्रद्धांजलि
आर्ट्स काउंसिल ऑफ पाकिस्तान (एसीपी) कराची के अध्यक्ष अहमद शाह ने हुसैन की मौत की खबर की पुष्टि की है. साथ ही उन्होंने कहा कि अभिनेता का लंबे समय से कराची के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था. उन्होंने तलत हुसैन को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, सदियों के बाद तलत हुसैन जैसा अभिनेता पैदा होता है."

शानदार अभिनय के लिए थे फेमस
दिल्ली में जन्मे तलत हुसैन अपनी मध्यम आवाज और अनूठी अभिनय शैली के लिए प्रसिद्ध थे. इसके लिए उन्हें 1982 में प्राइड ऑफ परफॉर्मेंस पुरस्कार भी मिला था. ये पाकिस्तान का सर्वोच्च राष्ट्रीय साहित्यिक पुरस्कार है जो अपने नागरिकों को दिया जाता है.  एक्टर के निधन के बाद राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी, प्रधान मंत्री शाहबाज शरीफ समेत दिग्गज हस्तियों ने एक्टर को श्रद्धांजलि एर्पित की है.

अभिनेता अदनान सिद्दीकी ने कहा कि हुसैन का निधन एक निजी क्षति जैसा है.'' अधिकतर फैंस भी तलत हुसैन के निधन के बाद उनके लिए दुख जाहिर कर रहे हैं. 

तलत हुसैन करियर
तलत हुसैन ने 1960 में सरकारी पीटीवी चैनल पर काम करना शुरू किया था. उन्होंने प्रसिद्ध लंदन एकेडमी ऑफ म्यूजिक एंड ड्रामेटिक आर्ट (LAMDA) से अभिनय की पढ़ाई की थी. उन्होंने कुछ समय के लिए लंदन में ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉर्पोरेशन (बीबीसी) के लिए भी काम किया.  1986 में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए निगार अवॉर्ड जीते थे. पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, हुसैन के परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है.