News Nation Logo
Banner
Banner

आर्यन खान ने चरस लेने की बात मानी, कोर्ट में एएसजी अनिल सिंह का तर्क

आर्यन खान की ओर से कोर्ट में वकील अमित देसाई और सतीश मानशिंदे पैरवी कर रहे हैं, जबकि NCB की तरफ से ASG अनिल सिंह, स्‍पेशल पब्‍ल‍िक प्रॉसिक्‍यूटर अद्वैत सेठना आर्यन की जमानत का विरोध कर रहे हैं

News Nation Bureau | Edited By : Akanksha Tiwari | Updated on: 14 Oct 2021, 02:53:19 PM
Aryan khan

आर्यन खान ने चरस लेने की बात मानी, कोर्ट में एएसजी का तर्क (Photo Credit: फोटो- Twitter)

नई दिल्ली:

क्रूज ड्रग्स केस (Cruise Drugs Case) में गिरफ्तार आर्यन खान (Aryan Khan) की जमानत पर आज सुनवाई शुरू हो चुकी है. बुधवार को इस मामले में स्‍पेशल एनडीपीएस कोर्ट में जिरह पूरी नहीं हो पाई थी. आर्यन खान की ओर से कोर्ट में वकील अमित देसाई और सतीश मानशिंदे पैरवी कर रहे हैं, जबकि NCB की तरफ से ASG अनिल सिंह, स्‍पेशल पब्‍ल‍िक प्रॉसिक्‍यूटर अद्वैत सेठना आर्यन की जमानत का विरोध कर रहे हैं. कोर्ट में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की तरफ से ASG अनिल सिंह ने कोर्ट में क्या कहा पढ़ें यहां.

यह भी पढ़ें: आर्यन खान के ड्रग्स केस पर राम गोपाल वर्मा का रिएक्शन, बोले- NCB ने 'सुपरस्टार' बना दिया

कोर्ट में ASG बोले- IO ने जब उनसे पूछा कि क्या उनके पास ड्रग्स है, तब अरबाज ने बताया कि उसके जूते में ड्रग्स है, उसे निकाला गया. ड्रग्स की जांच पर पता चला कि वो चरस है और अरबाज़ ने माना कि वो दोनों इसका सेवन करते हैं और क्रूज़ में वो इसका सेवन करने जा रहे थे. आर्यन ने भी माना कि वो चरस का सेवन करता है और यह चरस इन दोनों के लिए था जिसका सेवन वो क्रूज़ में करने वाले थे. इस बयान से पता चलता है कि उन्होंने माना था कि यह ड्रग्स मेरे दोस्त के पास है और हम दोनों इसका सेवन करने वाले थे. इसलिए यह कहना कि आर्यन के पास से कुछ नहीं मिला, यह गलत होगा. साथ ही कल मैंने आपको व्हाट्सएप्प चैट बताया जिसमें हार्ड ड्रग की बात की जा रही थी, वो ज्यादा मात्रा में था, यह केवल सेवन के लिए नहीं हो सकता. कल मैंने आपको बताया कि अंतराष्ट्रीय देश में किसी से यह बात चल रही थी और MEA से भी इस मामले मे बात जारी है.

एएसजी अनिल सिंह ने बताया Use का मतलब

कोर्ट में ASG आगे बोले- कल मैंने आरोपियों के वकील को कहते सुना कि Use का मतलब Consumption करना होता है, यह सही नहीं है. Use के Definition का मतलब है कि Personal Consumption के अलावा इसका इस्तेमाल किसी भी चीज़ के लिए किया जा सकता है. यानी Definition के अनुसार यह अपने सेवन के लिए इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं.

ASG बोले- NDPS के नियमों के अनुसार जबतक यह साबित नहीं होता कि इन्होंने ड्रग्स नहीं लिया तब तक ट्रायल स्टेज में NCB की इस बात को सच माना जाता है. इस मामले में 15 से 20 लोग जुड़े हैं और इसमें Conspiracy की बात सामने आ रही है. इसलिए सेक्शन 29 लगाया जाता है, जैसे-जैसे मामला आगे बढ़ा और जानकारी मिली, उसके अनुसार हम charges और section लगा सकते हैं. ऐसे भी सेक्शन हैं जिसमें क्वांटिटी नहीं मिलने पर या कम मात्रा में क्वांटिटी मिलने पर भी कड़ी करवाई की जा सकती है. अगर आपके पास से ड्रग्स नहीं मिला, लेकिन इसी मामले में दूसरों से Commercial क्वांटिटी में ड्रग्स मिला तो उस आधार पर कार्रवाई की जा सकती है.

ASG बोले- मेरी Submissiom यही है कि इस मामले में जमानत नहीं दी जा सकती है और ऐसे कई जजमेंट इस मामले में हो चुके हैं. पंचनामा में मोबाइल फोन का ज़िक्र नहीं होने की बात आरोपियों के वकीलों ने की. मैं मांग करता हूँ कि ऐसा कहाँ लिखा गया है वो बताओ. हमारे पास मोबाइल फोन का Voluntary Surrender मौजूद है. क्या इसका यह मतलब नहीं है कि हम इसकी जाँच कर सकते हैं? कोई हमें नहीं बता सकता कि जाँच कैसे करना है, हम यह सब जाँच पहले से करते आए. आप ऐसे Technical चीजों को अदालत के सामने नहीं रख सकते हैं. एप्लीकेशन में यह ग्राउंड ही नहीं था, इसलिए रिप्लाई में इसका जिक्र नहीं है.

ASG बोले- यह नहीं कहा जा सकता कि आर्यन को केवल 1 साल की सजा हो सकती है. अगर दूसरे आरोपियों से उनके तार जुड़ते हैं, तो जो सजा दूसरों पर होगी, वही सजा इनपर भी लागू की जा सकती है.

First Published : 14 Oct 2021, 02:32:11 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Aryan Khan ASG Anil Singh

वीडियो