News Nation Logo

क्रूज ड्रग्स मामले में उपस्थिति दर्ज कराने NCB ऑफिस पहुंचे आर्यन खान

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान आज दूसरी बार नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के अधिकारियों के सामने क्रूज ड्रग्स मामले में पेश हुए. इस दौरान मीडिया ने उन्हें कैमरे में कैद कर लिया. 

News Nation Bureau | Edited By : Pallavi Tripathi | Updated on: 19 Nov 2021, 07:07:23 PM
236354353 580214406327044 7966411720541862943 n

आर्यन खान एनसीबी ऑफिस मेें हुए पेश (Photo Credit: @ ___aryan___ Instagram)

नई दिल्ली:

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान का नाम ड्रग्स केस में सामने आने के बाद उनका पूरा परिवार सूर्खियों में बना हुआ है. फिलहाल आर्यन को जमानत मिल गई है. लेकिन उन्हें हर हफ्ते एनसीबी ऑफिस में अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होती है. जिसके लिए आर्यन आज यानी शुक्रवार को दूसरी बार नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के अधिकारियों के सामने क्रूज ड्रग्स मामले में पेश हुए. इस दौरान मीडिया ने उन्हें कैमरे में कैद कर लिया. बता दें कि इससे पहले पिछले हफ्ते भी आर्यन एनसीबी कार्यालय में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने पहुंचे थे. उस दौरान भी मीडिया ने उनकी कई तस्वीरें और वीडियो लिए थे, जो उस दौरान सोशल मीडिया पर वायरल भी हुई थी. जिसके बाद आर्यन दिल्ली में एजेंसी की एसआईटी टीम के सामने भी पेश हुए थे, जो अब मामले की जांच कर रही है.

यह भी पढ़ें- Bigg Boss 15 : निशांत ने पकड़ा सिम्बा-प्रतीक का हाथ तो मिला जट्टाना का साथ

गौरतलब है कि बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख के 23 वर्षीय बेटे आर्यन को एनसीबी ने 3 अक्तूबर को मुंबई तट पर कार्डेलिया क्रूज से गिरफ्तार किया था. उनके साथ कई लोगों को हिरासत में लिया गया था. जिसके बाद उन्हें कई दिनों तक ऑर्थर रोड जेल में रहना पड़ा था. केंद्रीय एजेंसी ने प्रतिबंधित दवाओं के कब्जे, खपत, बिक्री/खरीद, साजिश और उकसाने के लिए नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस (एनडीपीएस) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था. इस दौरान मामले पर कई दौर की सुनवाई हुई थी. हालांकि, उन्हें जमानत नहीं मिल पा रही थी. जिसके बाद आखिरकार 28 अक्तूबर को बॉम्बे हाईकोर्ट ने उन्हें जमानत देने का आदेश दिया. हालांकि, जमानती कार्रवाई पूरी न होने के चलते उन्हें अगले दिन 29 अक्तूबर को जमानत दी गई. 

आर्यन के बाद मामले के अन्य आरोपी अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा को भी जमानत दे दी गई थी, लेकिन उन सभी पर कुछ शर्तें लगाई गई हैं. पांच पन्नों के अपने आदेश में HC ने कहा कि तीनों को एनडीपीएस अदालत के समक्ष अपना पासपोर्ट जमा करना होगा और विशेष अदालत की अनुमति के बिना भारत नहीं छोड़ना होगा. साथ ही कहा गया कि हर शुक्रवार को सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच उपस्थिति दर्ज कराने के लिए एनसीबी कार्यालय जाना होगा.

First Published : 19 Nov 2021, 07:07:23 PM

For all the Latest Entertainment News, Bollywood News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.