News Nation Logo
Banner

बिहार चुनाव में दिखा अमेरिका चुनाव का असर, जेपी नड्डा ने कही ये बड़ी बात

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव का असर अब बिहार विधानसभा चुनाव में दिख रहा है. बिहार में तीसरे चरण का भी चुनाव प्रचार थम गया है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को दरभंगा में रैली को संबोधित करते हुए अमेरिका चुनाव का जिक्र किया.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 05 Nov 2020, 06:16:25 PM
jp nadda

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव का असर अब बिहार विधानसभा चुनाव में दिख रहा है. बिहार में तीसरे चरण का भी चुनाव प्रचार थम गया है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को दरभंगा में रैली को संबोधित करते हुए अमेरिका चुनाव का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि यूएस में चुनाव का परिणाम आ रहा है, वहां के लोगों ने डोनाल्ड ट्रंप को कोरोना के चलते घेरा और वो लड़खड़ा गए. लेकिन भारत में पीएम मोदी ने समय पर लॉकडाउन लगाकर देश के लोगों को बचाने का काम किया. 

यह भी पढ़ेःदिल्ली में वायु प्रदूषण को लेकर केजरीवाल सरकार ने लोगों से दिवाली पर ये करने की अपील की

इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राजद नेता तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरी देने के वादे पर पलटवार करते हुए कहा कि कोरोना काल में बिहार छोड़कर दिल्ली भागने, विधानसभा के सत्र में अनुपस्थित रहने तथा राजद के 15 वर्षों के शासनकाल में लोगों को राज्य से पलायन को मजबूर करने के लिए ‘जंगलराज के युवराज’ को बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए. 

उन्होंने आगे कहा कि जंगलराज के युवराज तेजस्वी यादव कोरोना वायरस संक्रमण की शुरुआत में बिहार के बजाय दिल्ली में थे. वह विपक्ष के नेता बनते हैं लेकिन विधानसभा के बजट सत्र में एक भी दिन नहीं जाते थे. विधानसभा में विपक्ष के नेता की अनुपस्थिति जनता के साथ धोखा है, इसलिए ऐसे लोगों को आराम दीजिए.

नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संक्रमण के समय में गरीबों की चिंता की और छठ तक राशन की व्यवस्था की. भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में आज से 15 साल पहले कभी विकास की चर्चा नहीं होती थी, लेकिन आज प्रधानमंत्री मोदी के कारण चुनाव में जंगलराज के युवराजों को विकास की चर्चा करनी पड़ रही है. ये (विपक्ष के नेता) सत्ता से दूर हो गए हैं, बेरोजगार हो गए हैं, इनकी सबसे बड़ी चिंता यही है. 

उन्होंने कहा कि आज ये 10 लाख रोजगार देने की बात कर रहे हैं..., लालू जी के राज में लाखों लोग बिहार से पलायन कर गए, उसका जवाब कौन देगा? राजद के जंगलराज में बिहार में रंगदारी, रंगबाजी, लूट-खसोट होती थी. लालू के राज में शहाबुद्दीन को संरक्षण मिलता था. इन्होंने प्रदेश में अराजकता फैलाई. 

महागठबंधन के नेता पर घड़ियाली आंसू बहाने का आरोप लगाते हुए नड्डा ने कहा कि अपने कारनामों के लिए इन्हें बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि यह चुनाव बिहार के भविष्य का है. हमें तय करना है कि हमें राज्य को किस ओर ले जाना है. 

यह भी पढ़ेःनीतीश कुमार ने किया राजनीति से संन्यास का ऐलान, कहा- ये मेरा आखिरी चुनाव है

राजग को जनादेश देने की अपील करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि एक तरफ विकास करने वाले लोग हैं और दूसरी ओर वे लोग हैं, जिन्होंने बिहार को विनाश की ओर ले जाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. नड्डा ने कहा कि 15 साल पहले बिहार में डॉक्टर, इंजीनियर और ठेकेदार अपना काम नहीं कर पाते थे. तब यहां केवल रंगदारी, रंगबाजी, लूट खसोट ही चलती थी.

राम मंदिर का उल्लेख करते हुए नड्डा ने कहा कि राम मंदिर के मामले में एक पक्ष के वकील कपिल सिब्बल ने उच्चतम न्यायालय में इसे लटकाने का प्रयास किया. उन्होंने कहा कि देश के सभी लोग चाहते थे कि अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर बने लेकिन कांग्रेस ने इसे लटकाने, अटकाने और भटकाने का काम किया. मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बने, तब प्रतिदिन सुनवाई हुई, रामजन्मभूमि के पक्ष में फैसला आया और अब वहां भव्य राममंदिर बन रहा है.

नड्डा ने कहा कि पहले लोग केवल नारे लगाते थे कि एक देश में दो विधान दो निशान नहीं चलेंगे, लेकिन जब मोदी सरकार आई तब अनुच्छेद 370 को निरस्त किया गया. भाजपा अध्यक्ष ने अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री के 1.25 लाख करोड़ रुपये के विशेष पैकेज के खर्च होने का ब्यौरा दिया और कहा कि आधारभूत ढांचे के विकास के लिये अतिरिक्त 40 हजार करोड़ दिये गए. 

First Published : 05 Nov 2020, 06:13:59 PM

For all the Latest Elections News, Assembly Elections News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो