News Nation Logo
Banner

इंजीनियरिंग कॉलेजों की सीटों में भारी गिरावट, जानिए इस साल कितने कॉलेज हो गए बंद

ऑल इंडिया टेक्निकल एजुकेशन काउंसिल (AICTE) के ताजा आंकड़ों से मिली जानकारी के मुताबिक अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट और डिप्लोमा स्तर पर इंजीनियरिंग सीटों की संख्या घटकर 23.28 लाख हो गई है जो कि 10 साल में सबसे कम है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 28 Jul 2021, 12:21:58 PM
इंजीनियरिंग की सीटों में भारी गिरावट

इंजीनियरिंग की सीटों में भारी गिरावट (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • संस्थानों के बंद होने और एडमिशन में कमी की वजह से इस साल सीटों की संख्या में 1.46 लाख की कमी होने का अनुमान 
  • नए इंजीनियरिंग कॉलेज स्थापित करने के लिए AICTE के पास मंजूरी के लिए आने वाले आवेदन भी 5 साल में सबसे कम

नई दिल्ली :

देश में इंजीनियरिंग कॉलेजों की हालत काफी खस्ता है. हालत यह है कि इंजीनियरिंग कॉलेजों में कुल सीटों की संख्या एक दशक के निचले स्तर पर पहुंच गई हैं. ऑल इंडिया टेक्निकल एजुकेशन काउंसिल (AICTE) के ताजा आंकड़ों से मिली जानकारी के मुताबिक अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट और डिप्लोमा स्तर पर इंजीनियरिंग सीटों की संख्या घटकर 23.28 लाख हो गई है जो कि 10 साल में सबसे कम है. संस्थानों के बंद होने और एडमिशन में कमी की वजह से इस साल सीटों की संख्या में 1.46 लाख की कमी होने का अनुमान है. बता दें कि सीटों में भारी गिरावट के बावजूद देश में अभी भी टेक्निकल एजुकेशन के क्षेत्र में कुल सीटों में इंजीनियरिंग का हिस्सा 80 फीसदी है.

यह भी पढ़ें: JEE (Advanced) 2021 परीक्षा 3 अक्टूबर को होगी, कोरोना नियमों का करना होगा पालन

हर साल 50 इंजीनियरिंग कॉलेज हो रहे हैं बंद
बता दें कि 2014-15 में  सभी AICTE से मंजूर प्राप्त संस्थानों में इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए करीब 32 लाख सीटें थीं. मांग में कमी की वजह से सीटों में कमी आई है और जिसकी वजह से कॉलेजों को बंद तक करने की नौबत आ गई है. पिछले सात साल में अभी तक तकरीबन 400 इंजीनियरिंग कॉलेजों को बंद किया जा चुका है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2015-16 से हर साल कम से कम 50 इंजीनियरिंग कॉलेज बंद हो रहे हैं और इस साल भी AICTE को 63 इंजीनियरिंग कॉलेज को बंद करने के लिए मंजूरी मिली है.

नए आवेदनों की संख्या में भी गिरावट
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देश में नए इंजीनियरिंग कॉलेज स्थापित करने के लिए AICTE के पास मंजूरी के लिए आने वाले आवेदन भी 5 साल में सबसे कम हैं. आईआईटी-हैदराबाद के अध्यक्ष बीवीआर मोहन रेड्डी की अध्यक्षता वाली एक सरकारी समिति की सिफारिश पर AICTE ने 2019 में 2020-21 से शुरू होने वाले नए संस्थानों को 2 साल का मोरेटोरियम देने का ऐलान किया था. बता दें कि AICTE ने एकेडमिक ईयर 2021-22 के लिए 54 नए इंजीनियरिंग कॉलेजों को खोलने की मंजूरी दी है.

First Published : 28 Jul 2021, 12:21:05 PM

For all the Latest Education News, More News News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.