News Nation Logo

JEE (Advanced) 2021 परीक्षा 3 अक्टूबर को होगी, कोरोना नियमों का करना होगा पालन

आईआईटी में प्रवेश के लिए जेईई (एडवांस्ड) 2021 की परीक्षा (JEE (Advanced) 2021 examination ) 3 अक्टूबर 2021 को होगी

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 26 Jul 2021, 11:00:46 PM
Dharmendra Pradhan

harmendra Pradhan (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Union Education Minister Dharmendra Pradhan) ने सोमवार को ट्वीट कर बताया कि आईआईटी में प्रवेश के लिए जेईई (एडवांस्ड) 2021 की परीक्षा (JEE (Advanced) 2021 examination ) 3 अक्टूबर 2021 को होगी. परीक्षा सभी कोविड-प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आयोजित की जाएगी. वहीं, भारी बारिश और भूस्खलन के कारण महाराष्ट्र के जो छात्र जेईई परीक्षा के तीसरे सत्र में शामिल नहीं हो पा रहे हैं उन्हें इन परीक्षाओं में शामिल होने का एक और अवसर दिया जाएगा. इसकी घोषणा स्वयं केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने की है.

ये भी पढ़ें- HBD: माहिका शर्मा को जब एडल्ट फिल्म स्टार संग दोस्ती पड़ी थी भारी

इस दौरान 7 लाख 9529 छात्र यह परीक्षा देंगे

देशभर में मंगलवार से जेईई मेंस की परीक्षाओं का तीसरा सत्र शुरू हो चुका है. यह परीक्षाएं 20 जुलाई से प्रारंभ हुई थीं और 27 जुलाई तक चलेंगी. इस दौरान 7 लाख 9529 छात्र यह परीक्षा देंगे. शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक कोरोना को देखते हुए इस बार 334 शहरों में यह परीक्षाएं करवाई जा रही हैं जबकि पहले यह परीक्षाएं 232 शहरों में आयोजित की जानी थी. उधर भारी बारिश और भूस्खलन के कारण महाराष्ट्र के जो छात्र जेईई मेंस परीक्षा के तीसरे सत्र में शामिल नहीं हो पा रहे हैं उन्हें इन परीक्षाओं में शामिल होने का एक और अवसर दिया जाएगा. गौरतलब है कि महाराष्ट्र के कई इलाकों में अत्याधिक वर्षा होने से जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है. जिससे वहां आवाजाही बाधित हुई है. इसके अलावा महाराष्ट्र के ही कुछ जिलों में भूस्खलन के कारण भी इस तरह की स्थिति असामान्य बनी हुई है. शिक्षा मंत्रालय ने इन सभी प्रभावित क्षेत्रों के अभ्यर्थियों को राहत देने का निर्णय किया है.

ये भी पढ़ें- सिर पर पल्लू, हाथों में कंगन, दुल्हन बनीं नोरा फतेही, वीडियो वायरल

देश में 10,859 से अधिक व्यावसायिक स्कूल

वहीं कौशल आधारित शिक्षा पर जानकारी देते हुए केंद्रीय शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को संसद में बताया कि रोजगार योग्य और प्रतिस्पर्धी मानव संसाधन तैयार करने के लिए भारत सरकार व्यावसायिक और कौशल आधारित शिक्षा को प्राथमिकता दे रही है. फिलहाल देश में 10,859 से अधिक व्यावसायिक स्कूलों में 13 लाख से अधिक छात्र व्यावसायिक प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं.

First Published : 26 Jul 2021, 09:19:45 PM

For all the Latest Education News, Higher Studies News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.