News Nation Logo
Banner

Commonwealth Scholarship की मदद से करें यूके में पढ़ाई, यहां जानें पूरी Details

अगर आप विदेश में पढ़ने की चाह रखते हैं तो ये खबर आपके लिए ही हैं. आज हम आपको कॉमनवेल्थ स्कॉलरशिप के बारे में बताएंगे, जिसकी मदद से आप विदेश में आसानी से पढ़ाई कर सकते हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 17 Nov 2020, 04:14:20 PM
Commonwealth Scholarship 2021

Commonwealth Scholarship 2021 (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

नई दिल्ली:

अगर आप विदेश में पढ़ने की चाह रखते हैं तो ये खबर आपके लिए ही हैं. आज हम आपको कॉमनवेल्थ स्कॉलरशिप के बारे में बताएंगे, जिसकी मदद से आप विदेश में आसानी से पढ़ाई कर सकते हैं. आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए ये सुनहरा मौका है, जब वो अपने सपनों को उड़ान दे सकते हैं. कॉमनवेल्थ स्कॉलरशिप कॉमनवेल्थ स्कॉलरशिप कमीशन (सीएससी) द्वारा दी जाती है. वहीं बता दें कि ये स्कॉलरशिप ऐसे छात्रों को दी जाती हैं, जो  यूके स्थित यूनिवर्सिटीज से मास्टर्स और पीएचडी करना चाहते हैं.

और पढ़ें: आज ही के दिन भारत की रीता फारिया ने मिस वर्ल्ड का खिताब जीता था, पढ़ें 17 नवंबर का इतिहास

इच्छुक छात्र ब्रिटिश काउंसिल की आधिकारिक साइट ( britishcouncil.in/study-uk/ ) पर जाकर अधिक जानकारी देख सकते हैं. कॉमनवेल्थ स्कॉलरशिप देने के लिए कोई निर्धारित संख्या नहीं हैं. लेकिन आवेदन पत्रों में से योग्यतम छात्रों को ये स्कॉलरशिप दी जाती है. बता दें कि छात्रों को इंजीनियरिंग एंड टेक्नॉलजी, एग्रीकल्चर, प्योर एंड अप्लाइड साइंस, सोशल साइंस और आर्ट्स से जुड़ी स्ट्रीम में मास्टर्स या पीएचडी करने के लिए यह स्कॉलरशिप दी जाती है.

कॉमनवेल्थ स्कॉलरशिप के लिए ये योग्यता है जरूरी- 

  • छात्रों की उम्र 40 साल से अधिक नहीं होना चाहिए.
  • छात्रों का कॉमनवेल्थ के सदस्य देशों का नागरिक होना जरूरी है.
  • जिन छात्रों को कॉमनवेल्थ देशों में सूचीबद्ध किसी भी विश्वविद्यालय से प्रवेश के लिए प्रस्ताव मिला है, वे भी आवेदन कर सकते हैं.
  • छात्रों की पूरी पढ़ाई इंग्लिश माध्यम से होनी चाहिए.
  • छाात्रों को यूनाइटेड किंगडम के एक विश्वविद्यालय में अध्ययन करने में सक्षम होना चाहिए.

मास्टर्स डिग्री के लिए-

मास्टर्स डिग्री के लिए स्टूडेंट्स को ग्रेजुएट लेवल पर सोशल साइंस और आर्ट्स ग्रुप में कम से कम 60% मार्क्स और इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी, साइंस और एग्रीकल्चर ग्रुप में कम से कम 65% मार्क्स हासिल किये होना चाहिए.

परास्नातक के लिए किसी विश्वविद्यालय में पोस्ट ग्रेजुएट के लिए नामांकन न हुआ हो और पीएचडी के लिए किसी विश्वविद्यालय में पीएचडी के लिए नामांकन न हुआ हो.

पीएचडी के लिए-

पीएचडी के लिए स्टूडेंट्स को पोस्टग्रेजुएट {पीजी} लेवल पर सोशल साइंस और आर्ट्स ग्रुप में कम से कम 60 फीसदी अंक और इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी, साइंस और एग्रीकल्चर ग्रुप में कम से कम 65 फीसदी मार्क्स हासिल किये होना चाहिए.

 

First Published : 17 Nov 2020, 02:03:26 PM

For all the Latest Education News, Higher Studies News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो