logo-image
लोकसभा चुनाव

NEET Paper Leak: EOU का बड़ा एक्शन, पटना में 9 स्टूडेंट्स को भेजा नोटिस, अबतक 19 गिरफ्तार

NEET Paper Leak: नेशन एलिजिबिलिटी टेस्ट यानी नीट एग्जाम में पेपर लीक मामले को लेकर अब तक 19 लोगों को हो चुकी गिरफ्तारी, पटना में स्टूडेंट्स ने किया चौंकाने वाला खुलासा.

Updated on: 15 Jun 2024, 10:45 AM

New Delhi:

NEET Paper Leak: मेडिकल फील्ड में करियर बनाने वालों के लिए सबसे महत्वपूर्ण मानी जाने वाली एंट्रेंस एग्जाम NEET को लेकर इन दिनों माहौल गर्माया हुआ है. पेपर लीक से लेकर स्टूडेंट्स के करियर तक कई तरह के सवाल इस परीक्षा को लेकर उठे हैं. मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है. इस बीच इस मामले में लगातार नए अपडेट भी सामने आ रहे हैं. इसी कड़ी में आर्थिक अपराध इकाई यानी EOU का बिहार में बड़ा एक्शन देखने को मिला है. दरअसल नीट एग्जाम में पेपर लीक को लेकर बिहार से कनेक्शन सामने आया है. इस कनेक्शन के चलते अब तक यहां से 14 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. यही नहीं शनिवार को भी इओयू ने 9 परीक्षार्थियों को नोटिस भेजा है. इन सभी परीक्षार्थियों से सबूत के साथ दफ्तर आने को कहा गया है. 

क्यों पटना से जुड़े नीट पेपर लीक के तार
दरअसल बिहार की राजधानी पटना में एक घटना से सबका ध्यान नीट पेपर लीक की तरफ खींचा. यहां सॉल्वर गिरोह ने एक प्राइवेट स्कूल में कुछ स्टूडेंट्स को प्रश्नपत्र को रटवाया था. इसी स्कूल से जले हुए प्रश्नपत्रों को यानी एग्जाम पेपर के टुकड़े भी मिले थे. इसके बाद पटना से नीट एग्जाम में पेपर लीक की बातें सामने आने लगीं. इस मामले में EOU की ओर से एक्शन लिया गया और अब तक सिर्फ बिहार से ही 14 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है. 

यह भी पढ़ें - गुजरात के अमरेली में 50 फीट गहरे बोरवेल में गिरी बच्ची की मौत, 17 घंटे चला रेस्क्यू ऑपरेशन

गुजरात के गोधरा से भी जुड़े पेपर लीक के तार अकेले
पेपर लीक के तार अकेले बिहार के पटना से नहीं जुड़े बल्कि इसका कनेक्शन गुजरात के गोधरा से भी मिला है. यहां के पंचमहल जिले में  कुछ लोगों को आरोप हैं कि उन्होंने 27 स्टूडेंट्स से 10 लाख रुपए की रिश्वत लेकर NEET-UG एग्जाम पास कराने में मदद की. इसके चलते अब तक गुजरात से भी 5 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. यानी इस मामले में अब तक 19 लोग अरेस्ट किए जा चुके हैं. 

गोधरा के एक स्कूल में हुई धांधली का खुलासा 9 मई को की गई एक एफआईआर के जरिए हुआ. दरअसल गोधरा के एक स्कूल में नीट-यूजी में 5 मई को हुई एग्जाम के दौरान सेंटर बनाया गया था. कलेक्टर को इससे जुड़ी एक शिकायत मिली कि एग्जाम में कुछ गड़बड़ी हुई है. जांच पड़ताल में पूरा मामला सामने आया था. 

बिहार में पूछताछ के दौरान बड़ा खुलासा
बिहार के पटना में पकड़े गए चार छात्रों से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है. इन छात्रों ने इस बात की पुष्टि की है कि एग्जाम से चार घंटे पहले ही इन्हें प्रश्न पत्र मिल गया था. इसका प्रिंट आउट भी लेने के बाद इसे एक निजी स्कूल में ले जाकर स्टूडेंट्स को रटाया गया था. EOU के एक अधिकारी की मानें तो NTA की ओर से उन्हें जरूरी एग्जाम पेपर नहीं भेजे गए हैं, यही वजह है कि स्कूल से मिले जले हुए प्रश्न पत्र का मिलान अब तक नहीं किया जा सका है. 

यह भी पढ़ें - Explainer: इटली के लिए क्यों खास है अपोलिया, जहां हो रहा है G7 समिट, देखते ही बनती है

सियासत भी गर्माई
नीट पेपर लीक मामले को लेकर सियासत भी गर्मा चुकी है. विपक्षी दल कांग्रेस ने इसको लेकर मोर्चा खोल दिया है. आगामी संसद सत्र में कांग्रेस ने इस मुद्दे को जोर शोर से उठाने की बात कही है. दरअसल कोर्ट में भी इस मामले को लेकर कई याचिकाएं दायर की जा चुकी हैं. कहीं एग्जाम रद्द करने तो कहीं दोबारा करने तो कहीं कुछ और मांगों के साथ याचिकाएं दायर की गई हैं. सुप्रीम कोर्ट और 7 हाई कोर्ट मिलाकर अब तक 41 याचिकाएं दाखिल की जा चुकी हैं. मामले कोर्ट में चल रहा है और 8 जुलाई को इस मामले में अगली सुनवाई होना है.