logo-image
लोकसभा चुनाव

Explainer: इटली के लिए क्यों खास है अपोलिया, जहां हो रहा है G7 समिट, देखते ही बनती है खूबसूरती!

G7 Summit 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय इटली के दौरे पर हैं. वे वहां G-7 समिट में शिरकत करने के लिए पहुंचे हैं. पीएम मोदी के दौरे और जी-7 समिट के चलते इटली का अपुलिया शहर सुर्खियों में है. आइए जानते हैं इटली के लिए क्यों खास है अपोलिया?

Updated on: 15 Jun 2024, 06:14 AM

New Delhi:

G7 Summit 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समय इटली के दौरे पर हैं. वे वहां G-7 समिट में शिरकत करने के लिए पहुंचे हैं. पीएम मोदी के दौरे और जी-7 समिट के चलते इटली का अपुलिया शहर सुर्खियों में है. जी7 समिट जैसे आयोजन अक्सर राजधानी में आयोजित किए जाते हैं. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि इटली की प्रधानमंत्री जॉर्जियो मेलोनी ने जी7 समिट का आयोजन देश की राजधानी रोम के वजाय अपुलिया रिजन में क्यों प्लान किया. आइए जानते हैं इटली के लिए क्यों खास है अपोलिया?

अपोलिया में वर्ल्ड लीडर्स का जमावड़ा

इटली के अपोलिया क्षेत्र में इस समय वर्ल्ड लीडर्स का जमावड़ा लगा हुआ है. वहां भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर ज़ेलेंस्की, वैटिकन सिटी के प्रमुख पोप फ्रांसिस, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो, यूरोपीय यूनियन की प्रेसिडेंट उर्सला वॉन डेर, जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज़ और जापान के प्रधानमंत्री फुमिओ किशिदा पहुंचे हुए हैं. ऐसे में दुनिया की नजरें अपोलिया क्षेत्र पर टिकी हुई हैं.

इटली के लिए क्यों खास है अपुलिया?

अपुलिया, जिसे इसके इतालवी नाम पुगलिया (Puglia) से भी जाना जाता है. यह रिजन समुद्री किनारों पर बसा हुआ है. यही वजह है कि इस क्षेत्र की खूबसरती देखते ही बनती है. अपुलिया देश दक्षिणी प्रायद्वीपीय भाग में स्थित है, जो पूर्व में एड्रियाटिक सागर, दक्षिण-पूर्व में ओट्रान्टो और आयोनियन सागर के जलडमरूमध्य और दक्षिण में टारंटो की खाड़ी से घिरा हुआ है. इस शहर में करीब 40 लाख लोग रहते हैं. इटली के इतिहास में अपुलिया रिजन का विशेष स्थान है.

यहां देखें- कितना खूबसूरत है अपुलिया?

अपुलिया रिजन की खूबसूरती ऐसी है, जिसे देखकर लोग दीवाने हो जाते हैं. यही कारण है कि इटली घूमने आने वाले टूरिस्ट्स यहां अपना नहीं भूलते हैं या यूं कहें कि अपुलिया पर्यटकों की घूमने की पहली लिस्ट में पहले स्थान पर रखता है. यहां के समुद्र बीच, म्यूजियम, ऐतिहासिक इमारतें, बाजार और प्राकृतिक खूबसूरती लोगों को खूब पसंद आती है. आपको यह जानकर हैरान होगी कि अपुलिया में 15 से ज्यादा ब्लू बीच हैं और यहां तीन यूनेस्को वर्ल्ड हैरिटेज साइट्स हैं. इसके अलावा यहां के गांव भी देखने लायक है. 

इटली की अर्थव्यवस्था में अपुलिया का विशेष योगदान है. यह क्षेत्र अपनी खेती की वजह से दुनिया में फेमस है. यहां बड़े पैमाने पर ऑलिव ऑयल और अंगूर की खेती होती है. पुगलिया इटली के ऑलिव ऑयल का लगभग 40 फीसदी उत्पादन करता है. यहां का ऑलिव ऑयल भी दुनियाभर में फेमस है. इसके अलावा यहां बड़े पैमाने पर अंगूर की खेती होती है. अपुलिया में अंगूर के बाग 106.715 हेक्टेयर (263.70 एकड़) में फैले हुए हैं. यही वजह है कि इटैलियन अंगूर उगाने वाले क्षेत्रों में अपुलिया पहले स्थान पर है. बाद में अंगूरों से वाइन बनाई जाती है जिसकी मांग दुनियाभर में है.

पुगलिया वाइन को लोग काफी पंसद करते हैं, जो ब्लैकबेरी, प्लम और ब्लैक चेरी से बनाई जाती है. इस डीप रेड या पर्पल कलर की वाइन की दुनिया में काफी डिमांड है. अपुलिया में मुख्यतौर से ड्यूरम गेहूं, टमाटर, अंगूर, बादाम और ऑलिव की खेती की जाती है. खेती और वाइन के अलावा अपुलिया में कई इंडस्ट्रीज् भी हैं. बिजनेस में भी अपुलिया रिजन का इटली की अर्थव्यवस्था में अहम स्थान है. शी फूड्स, एग्रीकल्चर, वाइन और टूरिज्म बिजनेस से अपुलिया इटली को काफी सपोर्ट करता है.