News Nation Logo

यूनिवर्सिटीज में अब दाखिले के समय होगा एप्टीट्यूड टेस्ट

छात्रों को आसमान छूती कटऑफ अंक आधारित एडमिशन व्यवस्था से छुटकारा दिलाने के लिए सरकार अगले साल से देश के सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज (यूजी) में दाखिले के लिए कॉमन एंट्रेंस्ट टेस्ट को लागू कर सकती है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 26 Dec 2020, 11:43:30 AM
Aptitude test

यूनिवर्सिटीज में अब दाखिले के समय होगा एप्टीट्यूड टेस्ट (Photo Credit: @Wikipedia)

नई दिल्ली:

छात्रों को आसमान छूती कटऑफ अंक आधारित एडमिशन व्यवस्था से छुटकारा दिलाने के लिए सरकार अगले साल से देश के सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज (यूजी) में दाखिले के लिए कॉमन एंट्रेंस्ट टेस्ट को लागू कर सकती है. सरकार ने इसकी तैयारी कर ली है.

सरकार ने एप्टीट्यूड टेस्ट का प्रारूप तैयार करने को लेकर एक कमेटी गठित की है. 7 सदस्यीय कमेटी एंट्रेंस टेस्ट का स्तर और पैटर्न तय करेगी जिसे शैक्षणिक सत्र 2021-22 से लागू किया जाएगा. फिलहाल कॉलेजों में एडमिशन के लिए 12वीं के कट ऑफ मार्क्स को आधार माना जाएगा.

यह भी पढ़ें : कोरोना की धीमी हुई रफ्तार, 24 घंटे में आए 22,273 नए केस, 251 की मौत

कंप्यूटर बेस्ड कॉमन एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) करेगी. सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के यूजी कोर्स में दाखिले के लिए यह टेस्ट अनिवार्य होगा. उच्च शिक्षा विभाग के सचिव अमित खरे ने कहा, इसे केंदीय विश्वविद्यालयों के लिए 2021-2022 सत्र से लागू किया जाना है.

यह भी पढ़ें : किसान सम्मान निधि से बिहार के 80 लाख किसानों को मिला लाभ

एग्जाम में एक जनरल टेस्ट होगा और एक विषय विशेष टेस्ट होगा. जनरल टेस्ट के जरिए अभ्यर्थी के एप्टीट्यूड की परख होगी जिसमें उससे वर्बल, क्वांटिटेटिव, लॉजिक व रीजनिंग से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे. सभी के लिए एप्टीट्यूड टेस्ट अनिवार्य होगा जबकि सब्जेक्ट टेस्ट में वह अपना विषय खुद चुन सकेंगे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 26 Dec 2020, 11:37:01 AM

For all the Latest Education News, Entrance Exams News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो