News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

Sulli Deal ऐप का मास्टरमाइंड गिरफ्तार, मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करना था मकसद

जुलाई 2021 में दिल्ली पुलिस ने सुल्ली डील मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी. डीसीपी केपी एस मल्होत्रा ने बताया कि ओंकारेश्वर ने ट्रेड महासभा नाम से जनवरी 2020 में @gangescion ट्विटर हैंडल से जॉइन किया था.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 09 Jan 2022, 12:02:11 PM
Sulli Deal app creator arrested

Sulli Deal app creator arrested (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • सुल्ली डील्स ऐप मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया
  • ऐप बनाने वाले आरोपी ओंकारेश्वर ठाकुर को मध्य प्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार
  • ओंकारेश्वर ठाकुर ने कबूल किया कि उसने गिटहब पर सुली डील ऐप बनाया था  

इंदौर:

Sulli Deals App : सुल्ली डील्स ऐप ()Sulli Deals App ( मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल ने पहली गिरफ्तारी की है. ऐप बनाने वाले आरोपी ओंकारेश्वर ठाकुर (Aumkareshwar Thakur) को मध्य प्रदेश के इंदौर (Indore) से गिरफ्तार कर लिया गया है. स्पेशल सेल की IFSO (इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक ऑपरेशंस) यूनिट ने बुल्ली बाई ऐप के निर्माता नीरज बिश्नोई से पूछताछ के आधार पर व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. 25 वर्षीय ओंकारेश्वर ठाकुर ने पुलिस के सामने कबूल किया कि उसने जुलाई 2021 में गिटहब पर सुली डील ऐप बनाया था. ऐप पर कई मुस्लिम महिलाओं की उनकी सहमति के बिना वर्चुअल नीलामी के लिए तस्वीरें अपलोड की गईं थीं. बीसीए डिग्री धारक ओंकारेश्वर ठाकुर ने खुलासा किया कि इस मामले में और भी लोग शामिल थे.

यह भी पढ़ें : Bulli Bai app case : आरोपी क्रिएटर नीरज बिश्नोई असम में गिरफ्तार

जुलाई 2021 में दिल्ली पुलिस ने सुल्ली डील मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी. डीसीपी केपी एस मल्होत्रा ने बताया कि ओंकारेश्वर ने ट्रेड महासभा नाम से जनवरी 2020 में @gangescion ट्विटर हैंडल से जॉइन किया था. इसी ग्रुप में इस पर चर्चा हुई थी कि मुस्लिम महिलाओं को ट्रोल करना चाहिए तो उसने गिटहब पर यह ऐप सुल्ली डील बनाया. जब ऐप पर हंगामा होने लगा तो अपने सोशल मीडिया के सभी फुटप्रिंट डिलीट कर पुलिस की पकड़ से बचने की कोशिश की. अब पुलिस टेक्निकल एवं फॉरेंसिक जांच के जरिये उससे संबंधित साक्ष्य तलाशने का प्रयास कर रही है.

इस तरह हुआ खुलासा

दरअसल, बुल्ली बाई ऐप के लिए अरेस्ट नीरज बिश्नोई सुल्ली डील ऐप के आरोपी के संपर्क में रहा था. उसने एक युवती की तस्वीर लगा उस पर बोली लगाने का ट्वीट किया था. इस बारे में पुलिस ने जब छानबीन की तो पता चला कि सुल्ली डील ऐप बनाने वाले के वह संपर्क में रहा है. उससे मिली जानकारी के आधार पर पुलिस टीम ने मध्यप्रदेश में छापा मार ओंकारेश्वर ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया. 

बुल्ली बाई ऐप के निर्माता 6 जनवरी को हुआ था गिरफ्तार

बुल्ली बाई ऐप के निर्माता नीरज बिश्नोई को दिल्ली पुलिस ने 6 जनवरी को गिरफ्तार किया था. सुल्ली डील्स की तरह ही बुल्ली बाई ऐप ने सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं को नीलामी के लिए सूचीबद्ध किया था. बुली बाई मामले की जांच से पता चला है कि नीरज बिश्नोई ट्विटर हैंडल @sullideals के निर्माता के संपर्क में थे, जिसका इस्तेमाल गिटहब पर सुली डील ऐप बनाने के लिए किया गया था. दिल्ली के किशनगढ़ पुलिस स्टेशन में दर्ज प्राथमिकी में उनके द्वारा इस्तेमाल किए गए एक ट्विटर अकाउंट की संलिप्तता से उनके दावे की पुष्टि हुई है. मुंबई पुलिस ने इससे पहले बुल्ली बाई ऐप मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनमें मुख्य आरोपी श्वेता सिंह (18), मयंक रावल (21) और विशाल कुमार झा (21) शामिल हैं.

First Published : 09 Jan 2022, 12:02:11 PM

For all the Latest Crime News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो