News Nation Logo

BREAKING

Banner

ट्राई ने Vodafone-Idea को उसके तरजीही प्लान पर कारण बताओ नोटिस जारी किया

ट्राई ने Vodafone-Idea से 31 अगस्त तक जवाब देने के लिए कहा है कि रेडएक्स टैरिफ प्लान के मौजूदा नियामक ढांचे का उल्लंघन करने के लिए उसके खिलाफ उचित कार्रवाई क्यों नहीं की जानी चाहिए.

Bhasha | Updated on: 26 Aug 2020, 01:54:44 PM
Vodafone-Idea

वोडाफोन आइडिया (Vodafone-Idea) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारतीय दूरसंचार नियामक प्रधिकरण (TRAI) ने निजी क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया (Vodafone-Idea) को उसके ‘तरजीही प्लान’ पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है. ट्राई ने कहा कि पेशकश में पारदर्शिता का अभाव है, ये गुमराह करने वाली है और नियामक सिद्धान्तों के अनुरूप नहीं है. इस नोटिस में नियामक ने वोडाफोन आइडिया से 31 अगस्त तक जवाब देने के लिए कहा है कि रेडएक्स टैरिफ प्लान के मौजूदा नियामक ढांचे का उल्लंघन करने के लिए उसके खिलाफ उचित कार्रवाई क्यों नहीं की जानी चाहिए.

यह भी पढ़ें: EMI पर ब्याज नहीं लेने की मांग पर फैसले में देरी के चलते मोदी सरकार की खिंचाई

भारती एयरटेल को नहीं जारी किया गया कारण बताओ नोटिस
एक सूत्र ने कहा कि भारती एयरटेल को कारण बताओ नोटिस जारी नहीं किया गया है. सूत्र ने कहा कि एयरटेल ने ट्राई के आदेश का पालन करने की बात कही है और स्वेच्छा से अपनी प्लैटिनम पेशकश को भी संशोधित किया. इसलिए ट्राई उस पर जांच को आगे नहीं बढ़ा रहा है. ट्राई ने वीआईएल को भेजे कारण बताओ नोटिस में कहा है कि अपेक्षाकृत अधिक डेटा स्पीड के साथ तरजीही 4जी नेटवर्क की पेशकश करना मौजूदा नियामक ढांचे के अनुरूप नहीं है. ट्राई ने कारण बताओ नोटिस में कहा है कि रेडएक्स टैरिफ पेशकश में पारदर्शिता की कमी है और ये भ्रामक है. सूत्र ने कहा कि वोडाफोन आइडिया कई मुद्दों पर ट्राई को संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया है. इनमें एक मुद्दा यह है कि कंपनी कैसे प्रीमियम प्लान लेने वाले ग्राहकों को प्राथमिकता वाली सेवा और स्पीड सुनिश्चित करेगी.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी का बड़ा बयान, महीनों से जो बात कह रहा था उसे RBI ने भी मान लिया

दूसरा मुद्दा यह है कि कैसे प्रायरिटी प्लान गैर-प्रीमियम ग्राहकों की सेवाओं पर प्रतिकूल असर नहीं डालेगा. इससे पहले वोडाफोन आइडिया ने अपने जवाब में कहा था कि नया टैरिफ प्लान, नई सेवा नहीं है ट्राई वोडाफोन आइडिया के प्रायरिटी प्लान रेडएक्स तथा भारती एयरटेल के प्लैटिनम प्लान की जांच कर रहा है. नियामक यह पता लगा रहा है कि प्रायरिटी प्लान के जरिये कुछ ग्राहकों को नेटवर्क में प्राथमिकता देने से कही बिना प्रीमियम सेवा वाले ग्राहकों की सेवाएं तो प्रभावित नहीं हो रही हैं और क्या इनके तहत नियमों का किसी तरह का उल्लंघन तो नहीं हो रहा है.

First Published : 26 Aug 2020, 01:52:44 PM

For all the Latest Business News, Telecom News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.