News Nation Logo
Banner

Coronavirus (Covid-19): कोरोना काल में 80 लाख लोगों ने प्रॉविडेंट फंड (Provident Fund) से निकाले 30 हजार करोड़ रुपये

Coronavirus (Covid-19): EPFO करीब 10 लाख करोड़ रुपये के फंड का प्रबंधन करता है और अभी मौजूदा समय में इसके सब्सक्राइबर्स की संख्या 6 करोड़ के आस-पास है.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 29 Jul 2020, 10:42:49 AM
EPFO

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

Coronavirus (Covid-19): कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Epidemic) की वजह से देश में आर्थिक संकट का सामना कर रहे कर्मचारियों ने चार महीने यानि अप्रैल से जुलाई के दौरान अपने प्रॉविडेंट फंड (Provident Fund) से 30 हजार करोड़ रुपये की निकासी की है. इन चार महीने में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के 80 लाख सब्सक्राइबर्स ने 30 हजार करोड़ रुपये निकाले हैं. गौरतलब है कि EPFO करीब 10 लाख करोड़ रुपये के फंड का प्रबंधन करता है और अभी मौजूदा समय में इसके सब्सक्राइबर्स की संख्या 6 करोड़ के आस-पास है.

यह भी पढ़ें: सोने-चांदी में गिरावट पर खरीदारी की सलाह दे रहे हैं जानकार, देखें आज की टॉप ट्रेडिंग कॉल्स 

30 लाख सब्सक्राइबर्स ने कोविड विंडो के जरिए निकाले 8 हजार करोड़ रुपये 

EPFO द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक 50 लाख सब्सक्राइबर्स ने जनरल नियम के तहत 22 हजार करोड़ रुपये निकाले हैं. वहीं 30 लाख सब्सक्राइबर्स ने कोविड विंडो के जरिए 8 हजार करोड़ रुपये निकाले हैं. बता दें कि कोरोना को देखते हुए EPFO ने EPF अकाउंट होल्डर्स को एक तयशुदा रकम निकालने का छूट दिया था. गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के इस संकट के दौर में ईपीएफ सदस्यों को उनके प्रॉविडेंट फंड अकाउंट से पैसा निकालने की छूट दी थी. देश में पहले लॉकडाउन के पहले चरण की घोषणा के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने EPFO के नियमों को आसान करने का ऐलान किया था, ताकि जरूरत के समय सब्सक्राइबर अपने अकाउंट से पैसे की निकासी कर सकें. गौरतलब है कि EPFO ने PF के ऊपर दिए जाने वाले ब्याज को मार्च 2020 में घटाकर 8.5 फीसदी कर दिया था, पहले यह ब्याज 8.65 फीसदी था.

यह भी पढ़ें: Petrol Rate Today: ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के रेट, चेक करें आज क्या हुआ बदलाव

ईपीएफओ ने अप्रैल-जून में 73.58 लाख सदस्यों की केवाईसी जानकारी अद्यतन की
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अप्रैल से जून के बीच अपने 73.58 लाख उपयोक्ताओं की ‘ग्राहक को जानो’ (केवाईसी) जानकारियां अद्यतन की हैं. श्रम और रोजगार मंत्रालय ने यह जानकारी दी है. इससे ईपीएफओ के इन लाखों सदस्यों को ऑनलाइन सेवाएं का लाभ उठाने में मदद मिलेगी. मंत्रालय ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि केवाईसी जानकारी अद्यतन करने से सदस्य ईपीएफओ के ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे. वह अपने अंतिम भुगतान या अग्रिम भुगतान के लिए आवेदन कर सकेंगे. इतना ही नहीं कोविड-19 संकट के दौरान पेश की गयी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत जारी अंशदान को भी निकालने का आवेदन कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें: ज्वैलर्स के लिए बड़ी खबर, अब अगले साल 1 जून से लागू होगा यह नियम

मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 संकट के हालातों को देखते हुए लोगों की ऑनलाइन सेवाओं तक पहुंच बनाना अहम हो गया है. इसलिए ईपीएफओ ने अप्रैल-जून 2020 के दौरान अपने 73.58 लाख सदस्यों की केवाईसी जानकारियां अद्यतन की हैं. इसमें 52.12 लाख लोगों की आधार संख्या, 17.48 लाख लोगों की सार्वभौमिक खाता संख्या चालू करने की जानकारी, 17.87 लाख लोगों की बैंक खातों की जानकारी अद्यतन करना शामिल है. इतना ही नहीं इसमें 9.73 लाख लोगों के नाम में सुधार, 4.18 लाख लोगों के जन्मतिथि में सुधार और 7.16 लाख लोगों के आधार संख्या में सुधार करना भी शामिल है. ईपीएफओ के कुल सदस्यों की संख्या करीब छह करोड़ है.

First Published : 29 Jul 2020, 10:38:45 AM

For all the Latest Business News, Personal Finance News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.