News Nation Logo

मुहर्रम के मौके पर आज बंद रहेगा शेयर बाजार, शाम 5 बजे के बाद कमोडिटी में होगी ट्रेडिंग

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX), नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव एक्सचेंज (NCDEX) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में शाम 5 बजे तक कारोबार बंद रहेगा.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 19 Aug 2021, 07:29:54 AM
Stock Market Trading Holidays

Stock Market Trading Holidays (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • MCX, NCDEX और BSE में शाम 5 बजे तक कारोबार बंद रहेगा.
  • BSE और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पूर्व की ही तरह शुक्रवार को खुलेंगे

मुंबई:

Stock Market Trading Holidays: मुहर्रम (Muharram) के मौके पर आज यानी गुरुवार (19 अगस्त 2021) को घरेलू शेयर बाजार (Share Market) और कमोडिटी मार्केट (Commodity Market) बंद रहेंगे. फॉरेक्स (करेंसी) में भी कामकाज बंद रहेगा. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पूर्व की ही तरह शुक्रवार को खुलेंगे. हालांकि दोपहर के कारोबार में देश के सबसे बड़े कमोडिटी एक्सचेंज मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX), नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव एक्सचेंज (NCDEX) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में शाम 5 बजे तक कारोबार (Find NSE Holiday List 2021) बंद रहेगा.

यह भी पढ़ें: भारत की जीडीपी वित्तवर्ष 22 की पहली तिमाही में 20 फीसदी बढ़ने की उम्मीद : आईसीआरए

शाम 5 बजे के बाद MCX, NCDEX और BSE पर होगा कारोबार

शाम के सत्र में मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX), नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव एक्सचेंज (NCDEX) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में शाम 5 बजे के बाद कारोबार शुरू हो जाएगा. ट्रेडर्स शाम के बाद तीनों ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर कारोबार कर सकेंगे. शाम 5 बजे के बाद MCX, NCDEX और BSE पर सभी कॉन्ट्रै्क्ट में सौदे लिए जा सकेंगे. बता दें कि बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 162.78 प्वाइंट यानी 0.29 फीसदी की गिरावट के साथ 55,629.49 के स्तर पर बंद हुआ था. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (Nifty) 45.75 प्वाइंट यानी 0.28 फीसदी की कमजोरी के साथ 16,568.85 के स्तर पर बंद हुआ था.

यह भी पढ़ें: Cabinet Meeting Today: खाद्य तेल की कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने बनाई बड़ी योजना

इस्‍लाम धर्म के नए वर्ष की शुरुआत

मुहर्रम (Muharram) इस्‍लामी महीना है और इससे इस्‍लाम धर्म के नए वर्ष (Islamic Calender) की शुरुआत होती है. 10वें मुहर्रम को हजरत इमाम हुसैन की याद में मुस्लिम मातम मनाते हैं. ऐसा माना जाता है कि इस महीने की 10 तारीख को इमाम हुसैन की शहादत हुई थी, जिसकी वजह से इस दिन को रोज-ए-आशुरा (Roz-e-Ashura) भी कहा जाता है. इस्लाम में मुहर्रम का यह सबसे अहम दिन माना गया है. इस दिन जुलूस निकालकर हुसैन की शहादत को याद किया जाता है.

First Published : 19 Aug 2021, 07:29:29 AM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो