News Nation Logo

मोदी सरकार के इस कदम से आम आदमी को होगी बड़ी मदद: PHD Chamber

पीएचडी चैंबर के अध्यक्ष संजय अग्रवाल ने कहा कि 2 करोड़ रुपये से कम टर्नओवर वाले छोटे व्यवसायों के लिए वर्ष 2020-21 के लिए वार्षिक रिटर्न दाखिल करने को वैकल्पिक बनाने के सरकार के फैसले की बहुत सराहना की गई है.

IANS | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 29 May 2021, 02:51:09 PM
PHD Chamber Of Commerce And Industry

PHD Chamber Of Commerce And Industry (Photo Credit: IANS )

highlights

  • कोरोना महामारी के कारण छोटे और मध्यम व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित हुए: संजय अग्रवाल
  • वार्षिक रिटर्न दाखिल करने को वैकल्पिक बनाने के सरकार के फैसले की सराहना की गई

नई दिल्ली :

पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (PHD Chamber Of Commerce And Industry) ने एमनेस्टी स्कीम (Amnesty Scheme) के जरिए छोटे करदाताओं को राहत देने के सरकार की कोशिशों की सराहना की है, जिसके तहत वे अपने लंबित रिटर्न दाखिल कर सकते हैं और योजनाओं का फायदा उठा सकते हैं. पीएचडी चैंबर के अध्यक्ष संजय अग्रवाल ने कहा कि महामारी के कारण छोटे और मध्यम व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित हुए हैं और उन्हें कम विलंब शुल्क के साथ लंबित रिटर्न दाखिल करने की अनुमति देकर, उन्हें रिटर्न दाखिल करने और उनके अनुपालन बोझ को कम करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें: ऑनलाइन किराना मार्केट में Tata ने की एंट्री, इस कंपनी में खरीदी अधिकांश हिस्सेदारी

उन्होंने कहा कि 2 करोड़ रुपये से कम टर्नओवर वाले छोटे व्यवसायों के लिए वर्ष 2020-21 के लिए वार्षिक रिटर्न दाखिल करने को वैकल्पिक बनाने के सरकार के फैसले की बहुत सराहना की गई है. अग्रवाल ने कहा कि जीएसटी को युक्तिसंगत बनाने और लेट जीएसटी फीस में कमी से छोटे जीएसटी करदाताओं को फायदा होगा. पीएचडी चैंबर पिछले साल की तरह जीएसटी मुआवजा उपकर के लिए एक ही फामूर्ले को बनाए रखने के लिए सरकार के उपाय की सराहना करता है. अग्रवाल ने कहा कि सरकार को इस कदम के कारण 1.58 लाख करोड़ रुपये उधार लेने होंगे और इसे राज्यों को देना होगा. 

यह भी पढ़ें: कोरोना से निपटने के लिए इतने करोड़ रुपये खर्च करेगा HDFC Bank

अगस्त के आखिर तक आईजीएसटी से कुछ कोविड -19 राहत सामग्री को छूट देने का सरकार का कदम सही दिशा में एक कदम है और कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में मदद करेगा. अग्रवाल ने कहा, "ब्लैक फंगस से लड़ने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली महत्वपूर्ण दवाओं को छूट देने के जीएसटी परिषद के फैसले की भी काफी सराहना की जा रही है. अग्रवाल ने कहा पीएचडी चैंबर को उम्मीद है कि पीएचडी चैंबर द्वारा चेरिटेबल अस्पतालों को दान के लिए आयात किए जा रहे 10 ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों को भी 12 प्रतिशत सीवीडी से छूट दी जाएगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 29 May 2021, 02:51:09 PM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.