News Nation Logo
Banner

GST कलेक्शन ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़े, 1,15,174 करोड़ का कलेक्शन

जानकारी के मुताबिक जीएसटी लागू होने के बाद जीएसटी संग्रह में सबसे ज्यादा की बढ़ोतरी देखी गई है. इसके अलावा 1.15 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को भी पहली बार हासिल किया गया है.

Written By : बिजनेस डेस्क | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 01 Jan 2021, 02:46:23 PM
जीएसटी कलेक्शन (GST Collection)

जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) (Photo Credit: newsnation)

नई दिल्ली:

2020 का आखिरी महीना दिसंबर जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) के लिहाज से काफी शानदार रहा है. दिसंबर 2020 में 1,15,174 करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह हुआ है. जानकारी के मुताबिक जीएसटी लागू होने के बाद जीएसटी संग्रह में सबसे ज्यादा की बढ़ोतरी देखी गई है. इसके अलावा 1.15 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को भी पहली बार हासिल किया गया है. 

यह भी पढ़ें: FDI, फेमा के उल्लंघन के लिए Amazon, Flipkart के खिलाफ कार्रवाई करेगी ED

आपको बता दें कि सरकार का माल एवं सेवा कर (GST) संग्रह नवंबर में 1.04 लाख करोड़ रुपये रहा था. हालांकि, अक्टूबर की तुलना में जीएसटी राजस्व का आंकड़ा मामूली घटा है. अक्टूबर में यह 1.05 लाख करोड़ रुपये रहा था. चालू वित्त वर्ष में यह लगातार दूसरा महीना है जबकि जीएसटी संग्रह का आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा है. नवंबर में जीएसटी संग्रह पिछले साल के समान महीने से 1.4 प्रतिशत अधिक है. नवंबर, 2019 में जीएसटी संग्रह 1,03,491 करोड़ रुपये रहा था. 

यह भी पढ़ें: EPFO ने 8.5 फीसदी ब्याज अंशधारकों के खातों में डालना शुरू किया

नवंबर में संग्रह का आंकड़ा पिछले साल के समान महीने से 1.4 प्रतिशत अधिक
वित्त मंत्रालय ने कहा कि जीएसटी राजस्व में सुधार के हालिया रुख के अनुरूप नवंबर में संग्रह का आंकड़ा पिछले साल के समान महीने से 1.4 प्रतिशत अधिक रहा है. बयान में कहा गया है कि समीक्षाधीन महीने में वस्तुओं के आयात से राजस्व पिछले साल के समान महीने की तुलना में 4.9 प्रतिशत अधिक रहा. वहीं घरेलू लेनदेन से राजस्व पिछले साल के समान महीने से 0.5 प्रतिशत अधिक रहा है. नवंबर, 2020 में कुल जीएसटी राजस्व 1,04,963 करोड़ रुपये रहा है. इसमें केंद्रीय जीएसटी 19,189 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी 25,540 करोड़ रुपये और एकीकृत जीएसटी 51,992 करोड़ रुपये है (इसमें से 22,078 करोड़ रुपये वस्तुओं के आयात पर जुटाए गए हैं). इसमें उपकर का योगदान 8,242 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर जुटाए गए 809 करोड़ रुपये शामिल) का रहा है. (इनपुट भाषा)

First Published : 01 Jan 2021, 02:38:13 PM

For all the Latest Business News, Markets News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.