News Nation Logo
Banner

PM Kisan Scheme: प्रधानमंत्री किसान योजना की नवीं किस्त जारी, इतने करोड़ किसानों के खाते में ट्रांसफर हुए पैसे

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme-PM KISAN: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस मिशन के माध्यम से खाने के तेल से जुड़े इकोसिस्टम पर 11 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया जाएगा.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 09 Aug 2021, 01:50:25 PM
Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme-PM KISAN (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • बीते 6 साल में देश में दाल के उत्पादन में लगभग 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है
  • पीएम किसान  के तहत अब तक 1 लाख 60 करोड़ रुपए किसानों को दिए गए 

नई दिल्ली :  

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme-PM KISAN): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) प्रधानमंत्री किसान योजना (PM Kisan Scheme) के तहत नवीं किस्त को आज यानी 9 अगस्त 2021 वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जारी कर दिया है. प्रधानमंत्री ने 9.75 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसान परिवारों को 19,500 करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि का हस्तांतरण कर दिया है. कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि अब से कुछ दिन बाद ही 15 अगस्त आने वाला है. इस बार देश अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहा है. ये महत्वपूर्ण पड़ाव हमारे लिए गौरव का तो है ही, ये नए संकल्पों, नए लक्ष्यों का भी अवसर है. इस अवसर पर हमें तय करना है कि आने वाले 25 वर्षों में हम भारत को कहां देखना चाहते हैं. 

यह भी पढ़ें: Rolex Rings के शेयर ने लिस्टिंग के दिन दिया जोरदार रिटर्न, CarTrade और Nuvoco Vistas का IPO खुला

सरकार ने किसानों से MSP पर अब तक की सबसे बड़ी खरीद की
उन्होंने कि देश जब आज़ादी के 100 वर्ष पूरे करेगा, 2047 में तब भारत की स्थिति क्या होगी, ये तय करने में हमारी खेती, हमारे किसानों की बहुत बड़ी भूमिका है. ये समय भारत की कृषि को एक ऐसी दिशा देने का है, जो नई चुनौतियों का सामना कर सके और नए अवसरों का लाभ उठा सके. सरकार ने खरीफ हो या रबी सीज़न, किसानों से MSP पर अब तक की सबसे बड़ी खरीद की है. इससे, धान किसानों के खाते में लगभग 1 लाख 70 हज़ार करोड़ रुपये और गेहूं किसानों के खाते में लगभग 85 हज़ार करोड़ रुपये डायरेक्ट पहुंचे हैं. कुछ साल पहले जब देश में दालों की बहुत कमी हो गई थी, तो मैंने देश के किसानों से दाल उत्पादन बढ़ाने का आग्रह किया था. मेरे उस आग्रह को देश के किसानों ने स्वीकार किया. परिणाम ये हुआ कि बीते 6 साल में देश में दाल के उत्पादन में लगभग 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

उन्होंने कहा कि इस मिशन के माध्यम से खाने के तेल से जुड़े इकोसिस्टम पर 11 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया जाएगा. सरकार ये सुनिश्चित करेगी कि किसानों को उत्तम बीज से लेकर टेक्नॉलॉजी, हर सुविधा मिले. खाने के तेल में आत्मनिर्भरता के लिए अब राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन-ऑयल पाम यानि NMEO-OP का संकल्प लिया गया है. आज जब देश भारत छोड़ो आंदोलन को याद कर रहा है, तो इस ऐतिहासिक दिन ये संकल्प हमें नई ऊर्जा से भर देता है. आज भारत कृषि निर्यात के मामले में पहली बार दुनिया के टॉप-10 देशों में पहुंचा है। कोरोना काल में देश ने कृषि निर्यात के नए रिकॉर्ड बनाए हैं. आज जब भारत की पहचान एक बड़े कृषि निर्यातक देश की बन रही है तब हम खाद्य तेल की अपनी ज़रूरतों के लिए आयात पर निर्भर रहें, ये उचित नहीं है. अब देश की कृषि नीतियों में इन छोटे किसानों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है. इसी भावना के साथ बीते सालों में छोटे किसानों को सुविधा और सुरक्षा देने का एक गंभीर प्रयास किया जा रहा है. पीएम किसान सम्मान निधि के तहत अब तक 1 लाख 60 करोड़ रुपए किसानों को दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें: आज से मिल रहा है सस्ता सोना खरीदने का सुनहरा मौका, जानिए क्या होंगे फायदे

आठवीं किस्त 14 मई 2021 को की गई थी जारी 

बता दें कि प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि (PM-Kisan 9th Installment) के तहत किसानों को अब तक 2000 रुपये की 8 किस्‍त मिल चुकी हैं. प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि की 8वीं किस्त 14 मई 2021 को जारी की गई थी. गौरतलब है कि पीएम-किसान सम्मान निधि योजना के तहत लाभार्थी किसानों को एक वित्त वर्ष में 6,000 रुपये की राशि 2000 रुपये की तीन समान किस्तों में हर चार महीने में सीधे उनके बैंक खातों में ट्रांसफर की जाती है. पहली किस्त एक अप्रैल से 31 जुलाई, दूसरी किस्त एक अगस्त से 30 नवंबर और तीसरी किस्त एक दिसंबर से 31 मार्च के बीच जारी होती है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आठवीं किस्त मार्च-अप्रैल महीने में जारी हो सकती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने औपचारिक रूप से इस योजना का शुभारंभ 24 फरवरी, 2019 को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में आयोजित एक भव्य समारोह के साथ किया था. एक दिसंबर, 2018 से इस योजना का फायदा किसानों को मिल रहा है.

First Published : 09 Aug 2021, 01:48:09 PM

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.