News Nation Logo
Banner

मोदी सरकार ने प्याज एक्सपोर्ट को लेकर किया ये बड़ा फैसला, एक्सपोर्टर को पूरी करनी होंगी ये शर्तें

विदेश व्यापार महानिदेशालय की एक अधिसूचना में कहा गया है कि 31 मार्च 2021 तक बंगलोर रोज और कृष्णापुरम प्याज के 10,000 टन तक के निर्यात की अनुमति दी गयी है. प्याज के निर्यात पर 14 सितंबर 2020 को पूरी तरह पाबंदी लगा दी गयी थी ताकि घरेलू बाजार में इसकी अपूर्ति बढायी जा सके.

News Nation Bureau | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 09 Oct 2020, 03:01:02 PM
onion

प्याज निर्यात (Onion Export) (Photo Credit: ians )

नई दिल्ली:

केंद्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने प्याज के निर्यात (Onion Export) पर पाबंदी में ढील देते हुए ‘बंगलोर रोज’ और ‘कृष्णापुरम’ किस्म के प्याज के निर्यात की अनुमति दी है. हालांकि सरकार के द्वारा इस छूट के साथ कुछ शर्तें भी जोड़ी गयी हैं. प्याज के निर्यात पर 14 सितंबर 2020 को पूरी तरह पाबंदी लगा दी गयी थी ताकि घरेलू बाजार में इसकी अपूर्ति बढायी जा सके. विदेश व्यापार महानिदेशालय की एक अधिसूचना में कहा गया है कि 31 मार्च 2021 तक बंगलोर रोज और कृष्णापुरम प्याज के 10,000 टन तक के निर्यात की अनुमति दी गयी है. 

यह भी पढ़ें: RBI Policy: चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में जीडीपी में पॉजिटिव ग्रोथ का अनुमान

सिर्फ चेन्नई बंदरगाह से किया जा सकेगा एक्सपोर्ट
अधिसूचना के अनुसार इसका निर्यात केवल चेन्नई बंदरगाह से किया जा सकेगा. कर्नाटक के किसानों ने सरकार से 10,000 टन बंगलोर रोज किस्म के प्याज के निर्यात की छूट दिए जाने की अपील की थी क्यों कि यह प्याज भारतीय बाजार में नहीं खपता है। इसकी मांग मलेशिया, सिंगापुर, ताईवान और थाईलैंड जैसे दक्षिण पूर्व एशियायी देशों में ज्यादा है.

यह भी पढ़ें: RBI ने ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया, सस्ती EMI की उम्मीदों को लगा झटका

बंगलोर रोज प्याज के निर्यातकों को कर्नाटक सरकार के बागवानी आयुक्त से वस्तु और उसकी मात्रा प्रमाणन का प्रमाणपत्र लेना होगा. इसी प्रकार कृष्णापुरम प्याज के निर्यातकों को आंध्र प्रदेश सरकार से प्रमाणपत्र लेना होगा. बता दें कि इससे पहले भारत सरकार (Indian Government) ने बांग्लादेश (Bangladesh) को 25,000 टन प्याज के निर्यात (Onion Export) की विशेष अनुमति प्रदान की थी. एक सूत्र ने बताया था कि भारत सरकार ने विशेष विचार पर बांग्लादेश को 25,000 टन प्याज निर्यात करने का निर्णय लिया गया था. ऐसा भारत ने अपने सबसे करीबी मित्र बांग्लादेश को सहयोग प्रदान करने के खातिर किया था.

यह भी पढ़ें: RBI Credit Policy Oct 2020: खाद्यान्न उत्पादन में बन सकता है नया रिकॉर्ड

कुल उत्पादन का करीब 40 फीसदी खरीफ सीजन में पैदा होता है प्याज
महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, बिहार और गुजरात मुख्य प्याज उत्पादक देश हैं. देश के कुल प्याज पैदावार का 40 प्रतिशत खरीफ फसल के दौरान उत्पादित होता है. बाकी उत्पादन रबी के मौसम में होता है. हालांकि खरीफ फसल के उत्पाद का संग्रह नहीं किया जाता है. (इनपुट भाषा)

First Published : 09 Oct 2020, 03:00:24 PM

For all the Latest Business News, Commodity News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो