News Nation Logo

लोन की किश्त चुकाने से राहत मांगने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से किया इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि हम वित्तीय विशेषज्ञ नहीं है. सरकार को कोविड टीकाकरण और प्रवासी मजदूरों समेत कई मसलों पर अभी खर्च करना है. ऐसे में बेहतर होगा कि सरकार को ही तय करने दिया जाए कि वो इस पर क्या सोचती है.

Written By : अरविंद सिंह | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 11 Jun 2021, 03:59:18 PM
Supreme Court

Supreme Court (Photo Credit: NewsNation)

highlights

  • लोन किश्त चुकाने से 6 महीने की राहत मांगने वाली याचिका पर सुनवाई से इनकार
  • सरकार को टीकाकरण और प्रवासी मजदूरों समेत कई मसलों पर खर्च करना है: SC

नई दिल्ली :

Coronavirus (Covid-19): कोरोना वायरस महामारी के दौर में कर्ज लिए लोगों के द्वारा किश्त चुकाने से राहत मांगने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई से इनकार कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर में लॉकडाउन की वजह से लोगों को हुई आर्थिक दिक्कत के चलते बैंक लोन किश्त चुकाने से 6 महीने की राहत मांगने वाली याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि हम वित्तीय विशेषज्ञ नहीं है. सरकार को कोविड टीकाकरण और प्रवासी मजदूरों समेत कई मसलों पर अभी खर्च करना है. ऐसे में बेहतर होगा कि सरकार को ही तय करने दिया जाए कि वो इस पर क्या सोचती है.

यह भी पढ़ें: Closing Bell: रिकॉर्ड ऊंचाई पर बंद हुआ शेयर बाजार, निफ्टी 15,800 के करीब

डेथ सर्टिफिकेट में मौत की सही वजह दर्ज करने की मांग पर हुई सुनवाई 
वहीं दूसरी ओर कोरोना वायरस महामारी की वजह से जान गंवाने वाले परिवार वालों को 4 लाख का मुआवजा और डेथ सर्टिफिकेट में मौत की सही वजह दर्ज करने की मांग पर सुनवाई हुई. SG तुषार मेहता ने कहा कि इस मांग पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार जल्द ही इस पर फैसला लेगी. सुप्रीम कोर्ट 21 जून 2021 को इस मामले पर आगे की सुनवाई करेगा.

यह भी पढ़ें: 7th CPC: महंगाई भत्ते को लेकर आया नया अपडेट, मिल सकती है बड़ी खुशखबरी

कोविड-19 से रोजाना औसतन 2 हजार मौत

बता दें कि कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण की जानलेवा दूसरी लहर ने देश में जमकर तबाही मचाई. अगर आंकड़ों में इसे देखें तो दूसरी लहर में भारत (India) में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2 लाख के पार पहुंच चुकी है. इस तरह देखें तो 2020 में महामारी शुरू होने के बाद से हर 5 में 3 मौतें कोरोना संक्रमण से हुई हैं. दूसरी लहर की शुरुआत के बाद एक मार्च से अब तक देश में कोरोना ने रोजाना औसतन करीब 2000 लोगों की जान ली है. दूसरी लहर में होने वाली मौतें अबतक देश में हुई सभी कोविड मौतों का लगभग 57 फीसदी है. इस तरह देखें तो कोरोना की शुरुआत से फिलवक्त तक देश में 3,63,029 लोगों की मौत कोरोना संक्रमण से हुई.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 11 Jun 2021, 03:59:18 PM

For all the Latest Business News, Banking News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.